गांधी परिवार के खिलाफ कार्रवाई पर बोले Sharad Pawar, यह है राजग सरकार का अहंकार

  • शरद पवार ( ncp chief sharad pawar ) ने 'सामना' समूह के कार्यकारी संपादक संजय राउत को दिया साक्षात्कार।
  • गांधी परिवार के बलिदान और जवाहरलाल नेहरू के देश के लिए किए गए काम ( Nehru-Gandhi family ) याद दिलाए।
  • ऑपरेशन कमल ( BJP Operation Lotus ) के जरिये राज्य सरकारों को गिराने में लिए केंद्र की सत्ता का दुरुपयोग कर रही भाजपा ( Bhartiya Janata Party )।

मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) सुप्रीमो शरद ( ncp chief sharad pawar ) पवार ने भारतीय जनता पार्टी ( Bhartiya Janata Party ) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने सोमवार को कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियका गांधी वाड्रा ( Priyanka Gandhi ) से दिल्ली में सरकारी आवास खाली कराना राजग सरकार का सत्ता के अहंकार का एक प्रदर्शन है।

एनसीपी अध्यक्ष पवार ने कहा, "हमें याद रखना चाहिए कि नेहरू-गांधी परिवार ( Nehru-Gandhi family ) ने अपना जीवन देश के लिए समर्पित किया है। भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में जवाहरलाल नेहरू ने अपार योगदान दिया और इसे लोकतंत्र का रास्ता दिखाया। उनकी बेटी इंदिरा गांधी और पोते राजीव गांधी ने देश के लिए अपनी जिंदगी कुर्बान कीं। प्रियंका उसी परिवार से हैं।"

पवार ( NCP supremo ) ने आगे कहा, "राजीव गांधी की मौत के बाद भी उनकी पत्नी सोनिया गांधी ने पार्टी को खड़ा किया। यद्यपि राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप किसी को परेशान करने के लिए सत्ता का दुरुपयोग कर सकते हैं। यह कोई समझदारी वाला और अच्छा कदम नहीं है।"

पीएम मोदी से मिले NCP प्रमुख, शरद पवार हो सकते हैं देश के अगले राष्ट्रपति!

राकांपा अध्यक्ष ने कहा कि देश में तुच्छ राजनीति हो रही है। उन्होंने याद दिलाया कि जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे और उस दौरान वह जब भी मुख्यमंत्रियों का कोई सम्मेलन बुलाते थे, भाजपा अपनी पार्टी के मुख्यमंत्रियों की अलग बैठकें करती थी।

पवार ने याद किया, "उन बैठकों में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री सिंह के खिलाफ बहुत कठोर भाषा का इस्तेमाल करते थे। वह अभूतपूर्व था- किसी राज्य का मुख्यमंत्री देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ इस तरह का कोई प्रतिशोधात्मक रवैया कैसे अपना सकता है।"

पूर्व केंद्रीय मंत्री ( Sharad Pawar ) ने कहा कि आज भाजपा केद्र की सत्ता में है, लेकिन सिंह ने अपनी आलोचनाओं को कभी दिल पर नहीं लिया। यहां तक कि जब मुख्यमंत्री मोदी ने प्रधानमंत्री सिंह की आलोचना की तब भी मनमोहन सिंह ने गुजरात के साथ कोई नाराजगी नहीं दिखाई।

भाजपा को झटका देने की तैयारी में शिवसेना!, शरद पवार से मिले संजय राउत

अपने अनुभव को बयान करते हुए पवार ने कहा कि जब वह केंद्रीय कृषि मंत्री थे, तब कुछ कांग्रेस नेता नाराजगी जाहिर करते थे कि मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) ने प्रधानमंत्री की इतनी आलोचना की, फिर भी "हम आउट ऑफ वे जाकर गुजरात की मदद कर रहे हैं", लेकिन मनमोहन सिंह यह कहते हुए उनके (पवार) साथ रहे कि "गुजरात भारत का हिस्सा है और हरेक भारतीय और हरेक राज्य की हिफाजत हमारा कर्तव्य है।"

पवार ने आगे कहा, "आज स्थिति बदल गई है। आज हम देखते हैं - इस राज्य सरकार को गिरा दो। अब हम इसे राजस्थान में देख रहे हैं। भाजपा के कुछ नेता महाराष्ट्र के लिए भी ऐसी बातें करते रहते हैं। भाजपा का ऑपरेशन कमल ( BJP Operation Lotus ) जनादेश द्वारा निर्वाचित सरकारों को गिराने, अस्थिर करने के लिए केंद्र की सत्ता का दुरुपयोग करना है।"

उन्होंने भरोसा जाहिर किया कि हालांकि ऑपरेशन कमल महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी सरकार को प्रभावित नहीं कर पाएगा। पवार की यह प्रतिक्रिया 'सामना' ( samna new paper ) और 'दोपहर का सामना' समूह के कार्यकारी संपादक संजय राउत को दिए साक्षात्कार के तीसरे और अंतिम हिस्से में आई है। उन्होंने सचेत भी किया कि यद्यपि मुख्यमंत्री के रूप में ठाकरे अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन एमवीए सरकार के बेहतर कामकाज के लिए तीनों गठबंधन सहयोगियों -शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस- के बीच संवाद बढ़ाने की आवश्यकता है।

Prime Minister Narendra Modi
Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned