राज्यसभा में बजट पर चर्चा: सिब्बल बोले- 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी नहीं गरीब की आमदनी बढ़ाना ज्यादा जरूरी

राज्यसभा में बजट पर चर्चा: सिब्बल बोले- 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी नहीं गरीब की आमदनी बढ़ाना ज्यादा जरूरी

Shiwani Singh | Updated: 11 Jul 2019, 09:11:03 PM (IST) राजनीति

  • गुरुवार को हुई Budget 2019 in Rajya Sabha में चर्चा
  • Nirmala Sitharaman बजट पर चर्चा का देंगी जवाब
  • Kapil Sibal ने बजट को लेकर Modi Govt पर बोला हमला

नई दिल्ली। राज्यसभा में गुरुवार को भी आम बजट पर चर्चा ( Budget 2019 in Rajya Sabha ) हो रही है। बीती बुधवार को राज्यसभा में बजट पर चर्चा शुरू हुई थी लेकिन हंगामे की वजह से पूरी नहीं हो पाई थी । जिसके बाद आज चर्चा पर सहमती बनी थी। वहीं, आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ( Finance Minister Nirmala Sitharaman ) बजट पर चर्चा का जवाब देंगी।

इसके अलावा उच्चसदन में कुपोषण मुद्दे पर भी चर्चा हो सकती है। वहीं, इसके अलावा लोकसभा में केंद्रीय विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक जैसे बिल पर चर्चा हो सकती है।

यह भी पढ़ें-आंध्र प्रदेश: TDP के पूर्व विधायक प्रभाकर रेड्डी का बड़ा दावा, तेलुगू देशम का BJP में होगा विलय

किसने क्या कहा

बजट चर्चा में बोलते हुए कांग्रेस सांसद कपिल सिब्बल ( Kapil Sibal ) कहा कि मोदी सरकार के बजट में कोई विजन नहीं। बेरोजगारी पर मोदी सरकार का कहना है कि सरकार और निजी क्षेत्र में निवेश नहीं हो रहा और ना ही उत्पादन हो रहा है। इस वजह से नौकरियां भी नहीं मिल रही हैं।

सिब्बल ने कहा कि पिछले 45 साल में आज बेरोजगारी दर सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा आज मुद्दा 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी का नहीं बल्कि मुद्दा प्रति व्यक्ति आय का है। जिस देश में 80 करोड़ लोग 10 हजार रुपये से भी कम कमाते हैं वह इकोनॉमी 5 ट्रिलियन हो भी जाए तो लानत की बात है। गरीब की आमदनी बढ़ानी ज्यादा जरूरी है।

 

बजट पर चर्चा के दौरान पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबर ( P Chidambaram ) ने कहा कि मोदी सरकार ने 5 ट्रिलियन इकोनॉमी का लक्ष्य रखा है लेकिन मैं इससे बेहतर लक्ष्य बताने जा रहा हूं। चिदंबर ने कहा कि 1991 में भारत की अर्थव्यवस्था 325 बिलियन डॉलर थी जो 2003-04 में दोगुनी होकर 680 बिलियन डॉलर हो गई थी। इसके बाद सिर्फ 4 साल में ये दोगुना होकर 1.22 ट्रिलियन डॉलर हो गई।

पूर्व वित्तमंत्री ने बताया 2017 में 2.48 ट्रिलियन डॉलर हो गई, ये भी 5 ट्रिलियन डॉलर होगी। अगर अर्थव्यवस्था 12 फीसदी से बढ़ेगी तो 6 साल में दोगुनी हो ही जाएगी. उन्होंने कहा कि हर 6-7 साल में अर्थव्यवस्था दोगुनी होती है।

बजट पर चर्चा ( Budget 2019 in Rajya Sabha ) के दौरान राज्यसभा में बोलते हुए चिदंबरम ने कहा कि एनडीए के पहली बार सत्ता में आने के बाद लगातार अर्थव्यवस्था गिर रही है। कृषि क्षेत्र में भी गिरावट आई है। जिसका नतीजा है की हर साल 10 हजार किसान आत्महत्या कर रहे हैं। उन्होंने बताया, महाराष्ट्र में 800 किसान आत्महत्या कर चुके हैं। चिदंबरम ने कहा कि यूपीए सरकार के जाने के बाद निर्यात लगातार 4 साल तक गिरा है और सिर्फ 2018 में निर्यात थोड़ा सा बढ़ सका है।

यह भी पढ़ें-राहुल गांधी ने लोकसभा में उठाया किसानों की बदहाली का मुद्दा, राजनाथ ने कहा- इसके लिए

मोदी कार्यकाल में बेरोजगाी लगातार बढ़ रही है। खास कर बीटेक करने वाले लाखों छात्रों को नौकरियां नहीं मिल रही हैं। मोदी सरकार प्रचंड बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में आई है। हम ऐसे संख्याबल की चाहत रखते थे लेकिन हमे नहीं मिल सका। लेकिन सरकार को तो ऐसे जनादेश के बाद बजट में साहसी फैसले लेने चाहिए थे।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ( adhir ranjan chowdhury ) ने लोकसभा में रेल मंत्री पीयूष गोयल पर हमला बोला। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हमारे रेल मंत्री बड़े दिलवाले हैं। उनका कहना है कि वह रेल पर 50 लाख करोड़ खर्च करेंगे। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि आज रेलवेे की हालत ऐसी है कि रात में सोने की छत नहीं है और तंबू की फरमाइश की जा रही है।

राजनाथ का जवाब

लोकसभा में किसानों पर राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) के सवालों का जवाब देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस पर हमला बोला। राजनाथ सिंह ने कहा कि किसानों की दयनीय स्थिति के लिए कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकार जिम्मेदार है। उन्‍होंने कहा कि किसानों की ऐसी स्थिति 5 सालों में नहीं हुई। 70 सालों तक कांग्रेस ने सरकार चलाई है। कांग्रेस राज में सबसे ज्‍यादा किसानों ने खुदकुशी की।

राहुल ने उठाया किसानों का मुद्दा

केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने गुरुवार को लोकसभा में किसानों का मुद्दा उठाया। उन्होंने मोदी सरकार को घेरने हुए कहा कि देश भर के किसान कई समस्याओं का सामना कर रहे हैं। लेकिन केंद्र सरकार को इसकी चिंता नहीं है। किसानों के साथ भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार अमीरों के लाखों करोड़ों के कर्ज माफ कर रही है, लेकिन किसानों के लिए कुछ नहीं किया जा रहा है।

राहुल ने वायनाड में कर्ज में डूबे एक किसान के खुदकुशी का मसला उठाते हुए कहा कि वहां पर बैंकों से कर्ज लेने वाले 8,000 किसानों को नोटिस भेजा गया है। उनकी संपत्तियां जब्त की जा रही हैं। राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 5 सालों में भाजपा सरकार ने अमीरों के 5.5 लाख करोड़ रुपए का कर्ज को माफ कर दिया लेकिन किसानों के लिए कुछ नहीं किया।

कांग्रेस का वर्कआउट

कर्नाटक ( Karnataka ) और गोवा के मुद्दे पर सरकार की तरफ से जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि इस पार्टी की जो हालत है उन्हें खुद अपने भीतर झांकना चाहिए। उन्होंने कहा कि कर्नाटक संकट के लिए बीजेपी जिम्मेदार कैसे हो गई। वहीं, सरकार के जवाब से नाराज कांग्रेस ने सदन से वॉक आउट कर दिया।

उठा कर्नाटक का मुद्दा

राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति ने कहा कि हम दो दिन हंगामे की वजह से गवां चुके हैं। सदन में आज बजट पर चर्चा ( Budget 2019 in Rajya Sabha ) होनी है। वहीं, कार्यवाही के दौरान कांग्रेस सांसद ने कर्नाटक और गोवा में सियासी संकट का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी कर्नाटक में हमारी चुनी हुई सरकार गिरा रही है। यही काम गोवा के अंदर भी किया जा रहा है। वहां पहले से ही उनकी सरकार है। उन्होंने कहा कि बीजेपी विधायकों को अगवा कर रही है और उनकी खरीद-फरोख्त कर रही है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned