हार्दिक पटेल के साथ नहीं दिखेंगे कमांडो, केंद्र ने छीनी वाई प्लस सुरक्षा

वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा के तहत पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथ अबतक हर वक्त सीआईएसएफ के आठ जवान तैनात रहते थे।

By: Chandra Prakash

Published: 25 Apr 2018, 06:44 PM IST

नई दिल्ली। पाटीदार आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल को दी गई वीआईपी श्रेणी की वाई प्लस सुरक्षा अब वापस ले ली गई है। हार्दिक के मौजूदा सुरक्षा मूल्यांकन के बाद गृह मंत्रालय ने इसका फैसला लिया है। पिछले साल इंटेलीजेंस रिपोर्ट के आधार पर केंद्र सरकार ने नवंबर,2017 में हार्दिक पटेल को यह सुरक्षा प्रदान की थी। वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा के तहत हार्दिक पटेल के साथ हर वक्त सीआईएसएफ के आठ जवान तैनात रहते हैं।

2017 में दी गई थी वाई प्लस सुरक्षा
एक अंग्रेजी अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि केंद्र ने मंगलवार को ही इस संबंध में फैसला लिया और इसकी जानकारी केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) को भी दे दी है। रिपोर्ट के मुताबिक गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि पाटीदार नेता को अब जान का खतरा नहीं है। नवंबर, 2017 में इंटेलीजेंस ब्यूरो को जानकारी मिली थी कि हार्दिक पर बड़ा हमला हो सकता है, जिसके बाद उन्हें यह सुरक्षा दी गई।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता गुलाम नबी पटेल को आतंकियों ने गोलियों से भूना, सीएम बोली- तबाह हुआ परिवार

हार्दिक बोले- मुझे नहीं मालूम
वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा वापस लेने के संबंध में हार्दिक ने कहा कि उन्हें केंद्र सरकार के ऐसे किसी भी फैसले की जानकारी नहीं है। बता दें कि इससे पहले हार्दिक ने किसी भी तरह की सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया था। उन्होंने कहा था कि पुलिस उनकी जासूसी करना चाहती है। इसलिए जान का हवाला देकर सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है।

बड़ा आंदोलन कर चुके हैं हार्दिक

बता दें कि हार्दिक पटेल लंबे समय कर गुजरात में पाटीदार समुदाय के लिए आरक्षण के लिए एक बड़ा आंदोलन शुरू चला चुके हैं। बीते गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने भी हार्दिक पटेल की मांग का समर्थन किया था, जिसके बाद हार्दिक ने राज्य में बीजेपी के खिलाफ चुनाव प्रचार किया था।

Show More
Chandra Prakash Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned