scriptPatidar Movement Members accuse Hardik Patel of Corruption | हार्दिक पटेल पर बड़ा आरोप, विधानसभा चुनाव का एक टिकट देने के लिए ली 23 लाख रुपए की रिश्वत | Patrika News

हार्दिक पटेल पर बड़ा आरोप, विधानसभा चुनाव का एक टिकट देने के लिए ली 23 लाख रुपए की रिश्वत

बीते दिनों गुजरात कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले पाटीदार नेता हार्दिक पटेल पर उन्हीं के करीबी रहे भावेश सोमानी ने भ्रष्टाचार का एक बड़ा आरोप लगाया है। सोमानी का आरोप है कि हार्दिक पटेल ने विधानसभा का एक टिकट देने के लिए 23 लाख रुपए की रिश्वत ली।

नई दिल्ली

Published: May 27, 2022 10:24:59 am

बीते दिनों कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले गुजरात के पाटीदार आंदोलन के नेतृत्वकर्ता हार्दिक पटेल पर गंभीर आरोप लगा है। यह आरोप उनके आंदोलन के समय के साथियों ने ही लगाए है। आरोप है कि कि 2017 विधानसभा चुनाव के दौरान हार्दिक पटेल ने विधानसभा का एक टिकट देने के लिए 23 लाख रुपए की रिश्वत ली। बताते चले कि पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) के संयोजक हार्दिक पटेल के नेतृत्व में गुजरात में पाटीदार समाज के लिए बड़ा आदोलन हुआ था। इसी आंदोलन ने हार्दिक पटेल को नेता बनाया था।

hardik_patel_resigns_congress.jpg
Patidar Movement Members accuse Hardik Patel of Corruption

इसी साल के अंत तक होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले हार्दिक पटेल पर यह भ्रष्टाचार का यह गंभीर आरोप लगा है। यह आरोप भावनगर से हार्दिक पटेल के सहयोगी रहे भावेश सोमानी ने लगाया है। बता दें कि भावेश सोमानी वहीं व्यक्ति है, जिन्होंने तत्कालीन केंद्रीय राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया पर हार्दिक पटेल के निर्देश पर 'चप्पल' फेंकी थी।

पैसे लेने के आरोप पर हार्दिक पटेल ने साधी चुप्पी-

सोमानी ने कहा कि हार्दिक ने 2017 में गरियाधर विधानसभा क्षेत्र के चुनाव के लिए टिकट देने के लिए 23 लाख रुपये की रिश्वत ली थी। सोमानी ने आगे बताया कि 10 लाख रुपये उनके पिता भरतभाई को उनके अहमदाबाद के फ्लैट में दिए गए और बाकी का भुगतान अंगदिया सर्विसेज के माध्यम से दो किस्तों में किया गया। हालांकि इस मुद्दे पर हार्दिक पटेल ने चुप्पी साध ली है। जब मीडिया ने इस मसले पर उनकी प्रतिक्रिया मांगी तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

यह भी पढ़ेंः पाटीदार आंदोलन के साथियों ने हार्दिक पटेल के निर्णय को बताया गलत

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा आरोपों को निराधार नहीं कहा जा सकता-

वहीं दूसरी ओर हार्दिक पटेल पर लगे इस आरोप पर भावनगर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह गोहिल ने कहा कि इन आरोपों को निराधार नहीं कहा जा सकता है। गोहिल ने कहा कि मैं जानता हूं कि भावेश सोमानी भावनगर में हार्दिक पटेल के भरोसेमंद और विश्वासपात्र में से एक रहे हैं। मैंने उनके बारे में सुना है कि उन्होंने चुनाव के लिए भावनगर जिले में हार्दिक की जनसभा आयोजित करने के लिए पैसे की मांग की थी। गरियाधर कांग्रेस उम्मीदवार परेश खेनी पार्टी कार्यकर्ता होने के साथ-साथ पास कार्यकर्ता भी हैं।

यह भी पढ़ेंः मेवाणी ने कहा, जेल जाने के डर से हार्दिक कर रहे विचारधारा से समझौता

आंदोलन से राजनीति में आने पर लगते रहते हैं आरोप-

वहीं दूसरी ओर हार्दिक पटेल के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर पास संयोजक और अब भाजपा नेता वरुण पटेल ने कहा कि एक बार जब कोई पाटीदार नेता राजनीति में शामिल हो जाता है, तो ऐसे आरोप सामने आते रहेंगे। उन्होंने आगे कहा कि इसे निराधार या सच कहना मुश्किल है, लेकिन एक बात पक्की है, जहां धुंआ है, वहां आग तो होगी ही।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.