प्रधानमंत्री मोदी ने लंदन से खेला लिंगायत कार्ड, थेरेसा मे और प्रिंस चार्ल्स से भी हुई अहम मुलाकात

पांच दिवसीय विदेश दौरे के दूसरे पड़ाव में लंदन पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे और प्रिंस चार्ल्स से मुलाकात की।

By:

Published: 18 Apr 2018, 08:53 PM IST

नई दिल्ली। पांच दिवसीय विदेश दौरे के दूसरे पड़ाव में लंदन पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे और प्रिंस चार्ल्स से मुलाकात की। उन्होंने प्रिंस चार्ल्स के साथ 'विज्ञान और नवोन्मेष के पांच हजार साल' विषय पर आयोजित के एक प्रदर्शनी में भी शिरकत की। इसके अलावा उन्होंने लंदन से ही कर्नाटक चुनाव का मास्टर स्ट्रोक भी लगाया है। उन्होंने 12वीं सदी के समाज सुधारक लिंगायत दार्शनिक बसवेश्वर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि भी दी। वहीं थेरेसा मे से मोदी ने उनके 10 डाउनिंग स्ट्रीट स्थित आवास पर मुलाकात की थी। दोनों समकक्षों के बीच कई महत्वपूर्ण द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत हुई।

मे को दोनों देशों के साथ काम करने की उम्मीद
कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग में शिरकत करने 10 डाउनिंग स्ट्रीट पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे से भी मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान मे ने उम्मीद जताई कि दोनों देश साथ मिलकर काम करेंगे। उन्होंने कहा, 'मुझे विश्वास है कि आज की बैठक के बाद हमारे संबंधों में नई ऊर्जा आएगी। मुझे खुशी है कि यूके अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन का हिस्सा होगा, मेरा मानना है कि यह ना सिर्फ जलवायु परिवर्तन के खिलाफ हमारी लड़ाई है, बल्कि भविष्य की पीढ़ियों के लिए हमारी जिम्मेदारी भी है।'

लंदन में रखा कर्नाटक चुनाव का ध्यान
भले ही प्रधानमंत्री मोदी लंदन में हैं लेकिन वहां भी उन्होंने कर्नाटक चुनाव को ध्यान में रखा है। प्रधानमंत्री ने बुधवार को लंदन में जिन बसवेश्वर को श्रद्धांजलि दी है वे लिंगायत समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। आपको बता दें कि लिंगायत समुदाय कर्नाटक की राजनीति में निर्णायक माना जाता है। कर्नाटक की कुल जनसंख्या में करीब 17 फीसदी लोग इसी समुदाय के हैं। बसवेश्वर 12वीं सदी के समाज सुधारक और दार्शनिक थे। आपको बता दें कि कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनाव की वोटिंग होनी है। भारतीय जनता पार्टी दक्षिण भारत में मौजूद कांग्रेस के राज वाले इस दुर्ग को फतह कर अपने साम्राज्य में एक और बड़ा राज्य जोड़ना चाहती है।

व्यापार-निवेश समेत कई द्विपक्षीय मसलों पर हुई चर्चा
भारत के विदेश सचिव ने कहा- 'दोनों नेताओं के बीच आर्थिक अपराधों पर भी चर्चा हुई। इसके साथ ही अन्य राजनयिक मसलों और द्विपक्षीय मुद्दों पर भी चर्चा हुई। दोनों ने समसामायिक अंतरराष्ट्रीय बहुपक्षीय मुद्दों पर भी विचार साझा किए। इनमें पेशेवरों के पलायन और छात्रों के मुद्दे भी शामिल थे। प्रधानमंत्री ने व्यापार, निवेश, अंतरराष्ट्रीय मुद्दों और आपसी हितों पर भी चर्चा की। प्रधानमंत्री मोदी ने थेरेसा मे के साथ फ्रांसिस क्रिक शोध संस्थान का भी दौरा किया।

लंदन में माल्या-मोदी का मुद्दा भी उठा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत से भागे घोटालेबाज कारोबारी विजय माल्या और पूर्व आइपीएल चेयरपर्सन ललित मोदी का भी मुद्दा उठाया है। आपको बता दें कि माल्या पर एसबीआइ को नौ हजार करोड़ रुपए का चूना लगाने का आरोप है। माल्या के खिलाफ भारत और लंदन दोनों जगह की अदालतों में मुकदमे चल रहे हैं।

आतंक के खिलाफ हाथ मिलाने पर बनी सहमति
विदेश मंत्रालय के मुताबिक, थेरेसा मे और प्रधानमंत्री मोदी के बीच आतंकी और अतिवादी संगठनों पर लगाम लगाने को लेकर सहमति बनी है। दोनों ने एक सुर में कहा है कि ऐसे संगठनों को निर्दोष लोगों पर हमले के लिए नए लोगों को जोड़ने और वारदातों को अंजाम देने से रोकना होगा। इसके लिए उन्हें मिल रही वित्तीय मदद पर रोक लगाना बेहद जरूरी है। दोनों ने कहा कि लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिज्बुल मुजाहिदीन, हक्कानी नेटवर्क, अलकायदा, आइएसआइएस और उनके सहयोगी संगठनों के खिलाफ आपसी सहयोग मजबूत करने पर सहमति बनी है।

रासायनिक हथियारों पर भी हुई चर्चा
दोनों नेताओं के बीच सीरिया में हो रहे रासायनिक हमलों को लेकर भी चर्चा हुई। डाउनिंग स्ट्रीट के प्रवक्ता के मुताबिक, किसी भी संगठन या पार्टी की ओर से किसी भी परिस्थिति में रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को लेकर चिंता जाहिर की गई। भारत के विदेश सचिव ने कहा, 'प्रधानमंत्री मोदी और प्रधानमंत्री थेरेसा मे के बीच संयुक्त बयान में एक सहमति जरूर बनी है, लेकिन यह कोई बड़ी चर्चा नहीं थी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि रासायनिक हथियारों का कहीं भी इस्तेमाल स्वीकार्य नहीं है।'

Prime Minister Narendra Modi
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned