केंद्र सरकार ने पेश किया 75 दिन का रिपोर्ट कार्ड, पीएम मोदी बोले- कश्मीर से बड़ा कोई फैसला नहीं हो सकता

केंद्र सरकार ने पेश किया 75 दिन का रिपोर्ट कार्ड, पीएम मोदी बोले- कश्मीर से बड़ा कोई फैसला नहीं हो सकता

Prashant Kumar Jha | Publish: Aug, 13 2019 10:39:29 PM (IST) | Updated: Aug, 14 2019 04:18:57 PM (IST) राजनीति

पीएम मोदी ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि अब तक जो कुछ भी संभव हुआ वो स्पष्ट नीति, दृढय इच्छाशक्ति और सही दिशा' का परिणाम है।

 

नई दिल्ली। मोदी सरकार ( MODI GOVERNMENT) ने अपने दूसरे कार्यकाल के 75 दिन पूरे कर लिए हैं। 75 दिन पूरे होने पर पीएम मोदी ( PM Modi ) ने सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया है। सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार स्पष्ट नीति और सही दिशा में चल रही है। जिसकी वजह से इतने दिनों में बहुत काम हुआ है। पीएम मोदी ने आईएनएस न्यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कहा कि इन दिनों में काफी कुछ हासिल किया गया है। पीएम ने अपने इंटरव्यू में कश्मीर, किसान, रोजगार, तीन तलाक और भ्रष्टाचार, चंद्रयान समेत कई मुद्दों का भी जिक्र किया।

370 हटने के बाद पीएम मोदी का पहला इंटरव्यू

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने पहली बार इंटरव्यू दिया है। उन्होंने कहा कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 और धारा 35 ए को जिस तरीके से हटाया गया है उससे न केवल पाकिस्तान घबराया हुआ है, बल्कि वह भौचक्का रह गया है। बता दें कि इससे पहले पीएम मोदी ने 8 अगस्त को इसी मुद्दे पर राष्ट्र को संबोधित किया था।

ये भी पढ़ें: #संसदकेस्टार: आतंकवाद पर कसेगी लगाम या बढ़ जाएगा दुरुपयोग?

 

दरअसल अभी तक कोई भी सरकार अपना रिपोर्ट कार्ड 100 पूरे होने पर पेश करती थी। लेकिन पहली बार प्रधानमंत्री मोदी ने 75 दिनों में रिपोर्ट कार्ड पेश किया है।

आईएएनएस ने पीएम मोदी से पहला सवाल यह किया कि आखिर आपका दूसरा कार्यकाल पहले कार्यकाल से किस तरह से अलग है?

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 'हमने अपनी सरकार बनने के चंद दिनों के भीतर ही एक रोडमैप तैयार कर लिया था। हमने जो हासिल किया है, वह 'स्पष्ट नीति, सही दिशा' का परिणाम है। हमारी सरकार के पहले 75 दिनों में ही बहुत सारे काम हुए हैं। बच्चों की सुरक्षा से लेकर चंद्रयान-2, भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई से लेकर तीन तलाक जैसी कुरीतियों से मुक्ति दिलाना, कश्मीर से लेकर किसान तक हमने वह सब कुछ कर दिखाया है, जो एक स्पष्ट और बहुमत वाली दृढ़संकल्पित सरकार कर सकती है।

जलसंकट के लिए जल शक्ति मंत्रालय बनाया- पीएम

पीएम मोदी ने अपने इंटरव्यू में कहा कि हमने जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए समग्र और व्यापक दृष्टिकोण अपनाते हुए जलशक्ति मंत्रालय का गठन किया । साथ ही जल आपूर्ति जैसे अहम मुद्दों को सुलझाने की शुरुआत की।

तेज गति से काम करने वाली सरकार की छवि बनने के कारण इस बार पहले से ज्यादा अधिक बहुमत के साथ सत्ता में लौटी है? क्या आपकी सरकार इस बात को लेकर गंभीर है कि जिस जनता ने इतना बड़ा बहुमत दिया है उसे अगले पांच साल में क्या अलग दिखेगा?

प्रधानमंत्री ने स्वीकार किया कि सत्ता में जिस तरीके से वापसी हुई है, वह पहले कार्यकाल में काम करने का परिणाम है। पहले कार्यकाल में किए गए सुधारों की वजह से देश आज इस गति से आगे बढ़ने के लिए तैयार है, इसमें जनता की आकांक्षाएं जुड़ी हुई हैं। यह सिर्फ सरकार के कारण नहीं, बल्कि संसद में मजबूती की वजह से भी संभव हुआ है'

17वीं लोकसभा के प्रथम सत्र ने इतिहास रचा- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने आईएएनएस से साक्षात्कार में कहा कि 17वीं लोकसभा के प्रथम सत्र ने इतिहास रच दिया । यह 1952 से लेकर अब तक का सबसे लाभदायक सत्र रहा है। मेरी नजर में यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं है, बल्कि बेहतरी का एक ऐतिहासिक मोड़ है, जिसने संसद को जनता की जरूरतों के प्रति अधिक जवाबदेह बनाया है।

पीएम ने कहा कि 'कई ऐतिहासिक कदम उठाए गए हैं। जिसमें किसानों और व्यापारियों के लिए पेंशन योजना, श्रम सुधार, मेडिकल सेक्टर का रिफॉर्म, दिवाला एवं दिवालियापन संहिता में महत्वपूर्ण संशोधन की शुरुआत शामिल है। उन्होंने कहा कि इस सरकार में फैसले लेने के लिए कोई समय नहीं लिया, बल्कि कार्यान्वयन और साहसी निर्णय लेना संभव हुआ है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कश्मीर से बड़ा कोई फैसला नहीं हो सकता।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned