जम्मू कश्मीर : स्थानीय नेता की मौत पर सियासी बवाल, पीडीपी-कांग्रेस ने अपना मानने से किया इनकार, तो उमर अब्दुला ने बताया अपना

बुधवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने स्थानीय नेता गुलाम नबी पटेल की गोली मारकर हत्या कर दी।

By: Anil Kumar

Published: 25 Apr 2018, 08:54 PM IST

नई दिल्ली । जम्मू कश्मीर में दो हत्याओं को लेकर सियासत गर्म हो गई है। एक स्थानीय नेता की हत्या के बाद घाटी में सियासी गलियारों में हलचल मच गई है। इन सबके बीच सियासी दलों ने स्थानीय नेता को अपना मानने से ही इनकार कर दिया है जबकि एक दल अपना नाम देने के लिए आगे आया है। बता दें कि बुधवार को पुलवामा में आतंकियों ने गुलाम नबी पटेल की गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना के बाद सभी राजनीतिक दलों ने अपने हाथ खड़े कर दिए। एनआई न्यूज एजेंसी ने बताया है कि गुलाम नबी पटेल पीडीपी के नेता हैं लेकिन पीडीपी ने अपना मानने से इनकार कर दिया। पीडीपी ने कहा है कि गुलाम नबी पटेल कांग्रेस के नेता हैं, जबकि कांग्रेस ने भी मृत नेता को अपने पार्टी में शामिल होने से ही इनकार कर दिया है। हालांकि इन सबके बीच नेशनल कॉन्फ्रेंस ने गुलाम नबी पटेल को श्रद्धांजलि देते हुए अपनी पार्टी का सदस्य बताया है।

महबूबा मुफ्ती ने जताया शोक

आपको बता दें कि गुलाम नबी पटेल की हत्या के बाद खबर सामने आई थी कि वे पीडीपी के नेता हैं, लेकिन कुछ ही देर में पीडीपी ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए बताया कि गुलाम नबी पटेल पार्टी से नहीं जुड़े थे। दूसरी तरफ कांग्रेस ने भी पल्ला झाड़ते हुए कहा कि मृतक नेता कभी भी पार्टी से नहीं जुड़ा है। हलांकि मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने स्थानीय नेता के मौत पर दुख प्रकट किया। बता दें कि पीडीपी और कांग्रेस के पल्ला झाडने के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुला ने हत्या पर शोक जताते हुए कहा कि गुलाम नबी पटेल की हत्या बेहद ही दुखद है। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ है। उन्होंने कहा कि यह बेहद ही निराशाजनक और दुखद है कि पीडीपी और कांग्रेस उन्हें अपनाने से इनकार कर रही है। यदि गुलाम नबी उन दोनों पार्टियों के नहीं हैं तो फिर उन्हें नेशनल कान्फ्रेंस का सदस्य कह लीजिए। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि गुलाम नबी की शहादत इस बात को प्रमाणित करता है कि पीडीपी और कांग्रेस अपनी सदस्यों और पार्टी वर्करों के प्रति कितना संवेदनशील है।

जम्मू कश्मीर: कांग्रेस नेता गुलाम नबी पटेल को आतंकियों ने गोलियों से भूना, सीएम बोलीं- तबाह हुआ परिवार

कैसे हुआ यह हादसा

गौरतलब है कि गुलाम नबी पटेल पुलवामा के डांगेरपोरा शादीमार्ग के रहने वाले हैं। आतंकियों ने पटेल पर जानलेवा हमला राजपोरा चौक पर किया। हमले के तुरंत बाद उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया हालांकि वहां से उन्हें श्रीनगर रेफर कर दिया गया। इसी दरमियान रास्ते में ही गुलाम नबी पटेल ने दम तोड़ दिया। बता दें कि हमले के बाद पुलिस ने आतंकियों की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पुलवामा के राजपुरा चौक में आतंकवादियों ने पटेल के वाहन को घेरकर गोलीबारी कर उन्हें और उनके सुरक्षा कर्मियों को घायल कर दिया। मले में उनके दो सुरक्षा कर्मी घायल हो गए हैं। हमले के बाद आतंकी उनकी सर्विस राइफल भी लेकर भाग गए।

Congress leader
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned