Rajasthan Crisis : अशोक गहलोत का PM मोदी और BJP पर हमला, कहा - जो गलती करेगा उसे कीमत चुकानी होगी

  • पीएम और बीजेपी वाले चुनी हुई सरकारों को गिराने का इरादा छोड़ दें।
  • अगर लोगतंत्र मजबूत नहीं होता तो आज मोदी देश के पीएम नहीं होते।

By: Dhirendra

Updated: 27 Jul 2020, 05:17 PM IST

नई दिल्ली। राजस्थान में सियासी संकट ( Rajasthan Political Crisis ) लंबा खिंचता जा रहा है। अब यह मसला कानूनी दांव-पेंच में भी उलझ गया है। इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ( CM Ashok Gehlot) ने भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) और पीएम मोदी ( pm modi ) पर हमला बोला है।

राजस्थान कांग्रेस ( Rajasthan Congress ) द्वारा चलाए जा रहे अभियान 'स्पीक अप फॉर डेमोक्रेसी' के तहत गहलोत ने देश के मौजूदा हालात पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ( PM Modi ) और उनकी पार्टी ( BJP ) को चुनी हुई सरकारों को गिराने का इरादा छोड़ देना चाहिए, तब जाकर लोकतंत्र मजबूत होगा। नहीं तो आने वाला इतिहास किसी को माफ नहीं करेगा। गहलोत ने कहा कि जो 'गलती करेगा उसे उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी।'

Coronavirus : दिल्ली में कारगर पहल के बाद जुलाई में 44% तक मौत में आई कमी, जानिए 5 बड़ी वजह

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज पूरा इस बात को लेकर चिंतित है कि डेमोक्रेसी खतरे में है। #SpeakUpForDemocracy प्रोग्राम जो का अपना संदेश है। उसको एक तरफ आम जनता को भी समझना पड़ेगा और दूसरी तरफ जो हुकूमत कर रहे लोगों को भी समझना पड़ेगा।

देश की आजादी के बाद कई पीएम आए और कई चले गए। सबने लोकतंत्र ( Democracy ) को मजबूत किया। लेकिन आज जिस प्रकार से देश में चुनी हुई सरकारें गिराईं जा रही है वो अच्छे संकते नहीं हैं। पहले कर्नाटक, फिर मध्य प्रदेश और मध्य प्रदेश में क्या हुआ वह भी सबको मालूम है।

हमारी सरकार विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए इजाजत मांग रही है। लेकिन राज्यपाल का जवाब अभी तक नहीं आया है। आशा करता हूं राज्यपाल कलराज मिश्र जल्द हमें आदेश देंगे और हम विधानसभा सत्र बुलाएंगे।

उन्होंने कहा कि मुझे यह सोचकर दुख होता है कि लोग कोरोना के खिलाफ जंग के समय में भी राजनीति करते हैं। ऐसी गतिविधि डेमोक्रेसी के खिलाफ है। सीएम अशोक गहलोत ( CM Ashok Gehlot ) ने कहा कि पूरा देश चिंतित और विचलित है। मैं उम्मीद करता हूं कि वे लोग इस बात को समझेंगे।

Maratha Reservation : SC ने नई नियुक्तियों पर लगाई रोक, अब 1 सितंबर को आएगा अंतिम फैसला

उन्होंने कहा कि अगर देश में लोकतंत्र मजबूत नहीं होता और पाकिस्तान जैसे हालात होते तो शायद नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं बन पाते। उनको सोचना पड़ेगा, उनकी पार्टी को सोचना पड़ेगा कि चुनी हुई सरकारों को गिराने का इरादा छोड़ें। तब जाकर लोकतंत्र मजबूत होगा।

pm modi PM Narendra Modi Coronavirus Pandemic
Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned