Kapil Sibal ने पूछा Sachin Pilot से सवाल, क्या आप मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं

  • सचिन पायलट पर साधा कपिल सिब्बल ( Kapil Sibal ) ने सीधा निशाना।
  • कांग्रेस ( Congress ) पार्टी को जनता के बीच तमाशा नहीं बना सकते सचिन।
  • राजस्थान सियासी संकट ( rajasthan political crisis ) को लेकर सचिन ( Sachin Pilot ) से पार्टी का हर कार्यकर्ता नाराज।

 

नई दिल्ली। सिर्फ 20-25 विधायकों के समर्थन से आप किसी राज्य के मुख्यमंत्री नहीं हो सकते हैं, यह कहना है वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ( Kapil Sibal ) का। कपिल सिब्बल ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में राजस्थान के सियासी संकट ( rajasthan political crisis ) को लेकर सचिन पायलट ( Sachin Pilot ) पर सीधा निशाना साधा।

Patrika Exclusive: राजस्थान में सियासी संकट दूर करने के लिए कांग्रेस चल सकती है 'इक्का'

इस दौरान सिब्बल ने सचिन पायलट से कहा, "आप जनता के सामने पार्टी का तमाशा नहीं बना सकते हैं।" सिब्बल ने सचिन पायलट द्वारा पॉर्टी से बगावत किए जाने पर जमकर ताने कसे। सिब्बल ने ये भी कहा, "मैं सचिन से पूछना चाहता हूं, क्या आप मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं? हमें बताएं? विरोध क्यों? अगर आप कहते हैं कि आप भारतीय जनता पार्टी में शामिल नहीं हो रहे हैं, तो आप हरियाणा में क्यों बैठे हैं? आप कांग्रेस की बैठकों में क्यों नहीं आए?"

पायलट के खिलाफ कांग्रेस ( Congress ) की सुप्रीम कोर्ट की लड़ाई में राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष का प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता सिब्बल ने कहा, "क्या सचिन अपनी पार्टी बनाना चाहते हैं? सिब्बल ने आगे कहा, "आप जनता के सामने पार्टी का तमाशा नहीं बना सकते हैं। मुझे यकीन है कि यह आपका इरादा भी नहीं है।"

बता दें कि सचिन पायलट ने 18 अन्य विधायकों के समर्थन के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत की। कांग्रेस को विपक्ष की तुलना में काफी कम सीटों से बढ़त मिली हुई है। कांग्रेस के पास राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा में 101 के बहुमत के निशान से केवल दो ही विधायक अधिक हैं। टीम पायलट में 19 विधायक हैं और भाजपा के पास 72 हैं। छोटे दलों और स्वतंत्र सदस्यों को शामिल करते हुए, विपक्ष के पास इस समय कुल 97 विधायक हैं।

Patrika Exclusive: राजस्थान में 'राज' करने के लिए भाजपा ने बनाई 'खामोश रणनीति'

कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा है कि वह राजस्थान उच्च न्यायालय के फैसले के बाद वह सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) का दरवाजा खटखटाएगी। राजस्थान हाईकोर्ट ( Rajasthan High Court ) ने अपने फैसले में आदेश दिया है कि फिलहाल सचिन पायलट और पार्टी के बाकी नेताओं के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा सकती।

इससे पहले गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में जब कपिल सिब्बल ने राजस्थान विधानसभा के स्पीकर का बचाव करते हुए तर्क दिए, तब सर्वोच्च न्यायालय ने हाईकोर्ट को आदेश जारी करने से रोक लगाने पर इनकार करते हुए कहा कि लोकतंत्र में "असंतोष की आवाज" को दबाया नहीं जा सकता है।

Congress
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned