फोकट में तेल मिलने वाले विवादित बयान पर अठावले ने मांगी माफी, किसी की भावना आहत करना मकसद नहीं

फोकट में तेल मिलने वाले विवादित बयान पर अठावले ने मांगी माफी, किसी की भावना आहत करना मकसद नहीं

prashant jha | Publish: Sep, 16 2018 08:04:28 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 08:04:29 PM (IST) राजनीति

रामदास अठावले ने कहा कि किसी की भावना आहत करना या मजाक उड़ाना मेरा मकसद नहीं है। अगर मेरे बयान पर मैं अपने बयान पर माफी मांगता हूं।

नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल के बढ़े दामों पर विवादित बयान देने के बाद केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने सफाई देते हुए माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि किसी की भावना आहत करना या मजाक उड़ाना मेरा मकसद नहीं है। अगर मेरे बयान पर मैं अपने बयान पर माफी मांगता हूं। उन्होंने कहा, 'मैं एक आम आदमी हूं, मैं भले ही मंत्री बन गया हूं। लेकिन जनता को क्या समस्याएं होती हैं, मैं इसको अच्छी तरह से जानता हूं मैं सरकार का हिस्सा हूं और मैंने मांग की है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम होनी चाहिएं।'

तेल की कीमत बढ़ने से फर्क नहीं पड़ता-अठावले

अठावले ने कहा, 'पत्रकारों ने मुझसे सवाल किया था कि तेल के दाम बढ़ रहे हैं, आपको इससे कोई समस्या है? जवाब में मैंने कहा था कि मुझे कोई समस्या नहीं है क्योंकि मैं मंत्री हूं और हमें सरकारी वाहन मिलते हैं। लेकिन जनता को परेशानी का सामना करना पड़ता है, इसलिए तेल के दाम में कमी आनी चाहिए। मोदी सरकार में समाज कल्याण एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने शनिवार को जयपुर में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर विवादित बयान दिया था। अठावले के बयान के बाद विवाद खड़ा हो गया था। दरअसल अठावले ने कहा था कि वह मंत्री हैं और उन्हें मुफ्त में पेट्रोल डीजल मिलता है, इसलिए उन्हें महंगे तेल से कोई परेशानी नहीं होती है। इस बयान पर विवाद होने के बाद अठावले ने सफाई दी।

तेल के बढ़े दामों पर विपक्ष हमलावर

गौरतलब है कि तेल के बढ़े दामों पर विपक्ष लगातार मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। 10 सितंबर को कांग्रेस ने तेल की बढ़ी कीमतों को लेकर भारत बंद किया था। इस दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने तेल के बढ़े दामों को लेकर सरकार की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया था। वहीं केंद्र सरकार तेल के दामों को कम करने के लिए दखल देने से साफ इनकार कर रही है। पेट्रोलियम मंत्री प्रधान ने साफ कह दिया कि तेल की बढ़ी कीमतों पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है।

Ad Block is Banned