राजद सुप्रीमो लालू यादव ने दिया भाजपा को सत्ता से हटाने का फार्मूला

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने मंगलवार को राजद के एक ऑनलाइन प्रशिक्षण शिविर में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कई बातें बताईं। इस दौरान उन्होंने केंद्र की सत्ताधारी भाजपा सरकार को भी हटाने का फार्मूला बताया।

पटना। राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद ने कहा है कि राजद सेल्फ मेड पार्टी है और इसके गठन के लिए किसी की कृपा की जरूरत नहीं थी। राजद प्रमुख ने बिना किसी का नाम लिए यह भी कहा कि पहले लोगों को आसानी से टिकट मिलता नहीं था और दिल्ली में बैठे आलाकमान से ही सब तय होता था। फिर भी हमने पेड़ के नीचे बैठकर टिकट बांटे। इस दौरान लालू ने विपक्षी दलों को सत्ताधारी भाजपा को हटाने का फॉर्मूला भी बताया।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने मंगलवार को यह बात राजद के प्रशिक्षण शिविर में पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कही। उन्होंने आगे कहा कि संगठन को तेज और धारदार बनाना हम सभी कार्यकर्ताओं की ही जिम्मेदारी है।

डरना मना है

इतना ही नहीं लालू ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि ज्वलंत मुद्दों पर आंदोलन करें क्योंकि अन्याय के खिलाफ सत्याग्रह करना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग जेल जाने से भी डरते हैं। जब इतना डरेंगे तब आंदोलन और सत्याग्रह कैसे कर सकेंगे? लोग तो मुकदमा होने से डर जाते हैं। कई तो इस बात से ही परेशान हो जाते हैं कि कहीं उन पर पुलिस केस न दर्ज हो जाए।

सरकार को घेरो

लालू ने कहा कि ऐसी बातों से किसी को डरना नहीं चाहिए, बल्कि देश में फैली समस्याओं को लेकर लोगों की आवाज बनना चाहिए और आगे बढ़कर सरकार को घेरने का काम करना चाहिए।

सेल्फ मेड पार्टी

अपनी पार्टी के बारे में उन्होंने कहा कि राजद सेल्फ मेड पार्टी है और इसका गठन किसी की कृपा से नहीं हुआ है। इस पार्टी को बिहार के लोगों ने अपने पैरों पर खड़े होकर मजबूत बनाया है और लोगों के प्यार से ही ये पार्टी राष्ट्रीय स्तर तक पहुंची है।

जातीय जनगणना जरूरी

जातीय जनगणना कराने की मांग पर हुए उन्होंने कहा कि इसका होना बहुत जरूरी है। यह कोई साधारण या आम मांग नहीं है। जातीय जनगणना ना होने के चलते समाज के अंतिम पायदान पर बैठा व्यक्ति, समाज पीछे छूटता जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि वह जातीय जनगणना करा कर ही दम लेंगे।

क्यों भाजपा कर रही है शासन

इस दौरान लालू ने महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी को भी घेरा। लालू ने कांग्रेस और अन्य राजनीतिक दलों के सफल गठबंधन बनाने में असमर्थता पर अफसोस जताया और इस अक्षमता के लिए एक कार्यशील सरकार बना पाने में उनकी विफलता को भी जिम्मेदार ठहराया। लालू ने कहा, "कांग्रेस और अन्य राजनीतिक दल एक साथ आने में असमर्थ हैं। हम बार-बार एक राजनीतिक विकल्प बनाने की कोशिश करते हैं लेकिन कुछ कारणों से विफल हो जाते हैं, इसलिए वे (भाजपा) देश पर शासन कर रहे हैं।"

भाजपा को हटाने का तरीका

लालू ने दावा किया कि यदि सभी विपक्षी दल एक साथ रैली करते हैं तो सत्तारूढ़ भाजपा को हराया जा सकता है। बिहार के बारे में उन्होंने कहा, "अगर विपक्षी दल एक साथ आते हैं, तो भाजपा सत्ता खो देगी।"

टिकट पर चुुटकी

प्रसाद ने कहा कि चुनाव नजदीक आता है तब टिकट लेने वालों की भीड़ जुट जाती है। पहले लोगों को आसानी से टिकट नहीं मिल पाता था। दिल्ली से आलाकामान तय करता था। लेकिन हमनें अपने हाथों से पेड़ के नीचे बैठकर लोगों को टिकट दिया है।

लालू की यह टिप्पणी उसके पूर्व सहयोगी कांग्रेस द्वारा कथित तौर पर राजद को ठुकराने और 30 अक्टूबर को तारापुर और कुशेश्वर अस्थान विधानसभा सीटों पर दोनों उपचुनावों के लिए उम्मीदवार उतारने का फैसला करने के बाद आई है, जबकि राजद किसी एक सीट से चुनाव लड़ना चाहती है।

पूर्व राजद सुप्रीमो, जिन्हें चारा घोटाले के कारण 1997 में बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में पद छोड़ना पड़ा था, इस साल अप्रैल में दुमका कोषागार मामले में झारखंड उच्च न्यायालय द्वारा जमानत दिए जाने के बाद इलाज के लिए दिल्ली में ह

BJP Congress
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned