सुब्रह्मण्‍यम स्‍वामी का बड़ा बयान, कांग्रेस पार्टी केवल इतालवी महिलाओं के बारे में सोचती है

सुब्रह्मण्‍यम स्‍वामी का बड़ा बयान, कांग्रेस पार्टी केवल इतालवी महिलाओं के बारे में सोचती है

Dhirendra Kumar Mishra | Updated: 01 Jan 2019, 01:38:25 PM (IST) राजनीति

कांग्रेस महिला विरोधी है। खासकर मुस्लिम महिलाओं के हितों का उसे जरा सा भी ख्‍याल नहीं है। अगर ऐसा होता तो कांग्रेस पार्टी ट्रिपल तलाक बिल का विरोध नहीं करती।

नई दिल्‍ली। भाजपा के वरिष्‍ठ नेता व राज्‍यसभा सांसद सुब्रह्मण्‍यम स्‍वामी ने ट्रिपल तलाक पर बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वो केवल इतालवी महिलाओं के हित के बारे में सोचती है। भारतीय मुस्लिम महिलाओं की उसे चिंता नहीं है। भारतीय महिलाओं को कांग्रेस पहले की तरह सभी अधिकारों से वंचित बनाए रखना चाहती है। उन्‍होंने कहा कि इस मामले में कांग्रेस की पूर्व अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और वर्तमान अध्‍यक्ष राहुल गांधी का रवैया एक जैसा है। स्‍वामी का आरोप है कि कांग्रेस महिला विरोधी है। खासकर मुस्लिम महिलाओं के हितों का उसे जरा सा भी ख्‍याल नहीं है। अगर ऐसा होता तो कांग्रेस पार्टी ट्रिपल तलाक बिल का विरोध नहीं करती।

ट्रिपल तलाक बिल में हो जरूरी संशोधन
दूसरी ओर आरजेडी नेता व राज्‍यसभा सांसद मनोज झा ने ट्रिपल तलाक मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि आरजेडी ट्रिपल तलाक बिल का उनकी पार्टी विरोधी नहीं है। लेकिन सरकार को इस बिल को पास कराने से पहले मानवीय व तकनीक पहलुओं पर विचार करने के लिए इसे सलेक्‍ट कमेटी के पास भेजने की जरूरत है। पार्टी की सोच यह है कि सरकार ट्रिपल तलाक से जुड़ी सभी पहलुओं को गंभीरता से विचार कर ले। ताकि बिल का खामियाजा मुस्लिम महिलाओं व पुरुषों को भुगतने के लिए भविष्‍य में विवश न होना पड़े। बता दें कि ट्रिपल तलाक बिल लोकसभा में पास हो चुका है। सोमवार को राज्‍यसभा में इसे पेश किया जाना था लेकिन कांग्रेस के विरोध की वजह से उसे राज्‍यसभा में पेश तक नहीं किया सका।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned