मुश्किलों में फंस सकते हैं नीतीश कुमार, विधायक पद समाप्त करने वाली याचिका पर सुनवाई आज

नीतीश पर चुनावी दस्तावेजों में उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज होने की जानकारी नहीं देने के आरोप लगे हैं।

By: Mohit sharma

Published: 11 Sep 2017, 01:24 PM IST

नई दिल्ली। बिहार के सीएम नीतीश कुमार को लेकर सुप्रीम कोर्ट का सोमवार को बड़ा फैसला आ सकता है। सुप्रीम कोर्ट उस याचिका पर सुनवाई करेगा, जिसमें नीतीश पर चुनावी दस्तावेजों में उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज होने की जानकारी नहीं देने के आरोप लगे हैं। मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता अध्यक्षता वाली बेंच इस पर मामले में सुनवाई करेगी।

अयोग्य करार देने की मांग

बता दें कि दिल्ली के एक अधिवक्ता एमएल शर्मा ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ आपराधिक मामले की याचिका दायर की है। याचिका में अधिवक्ता ने मांग की है कि नीतीश कुमार को बिहार के सीएम और विधायक पद से अयोग्य घोषित कर देना चाहिए। उनका आरोप है कि नीतीश ने 2004 और 2012 में चुनावी दस्तावेज जमा कराते समय आपराधिक जानकारी छुपाई। 

इसके साथ ही उन्होंने 17 साल बाद इस मामले में पुलिस से क्लोजर रिपोर्ट भी दाखिल करवा ली। यही नहीं अधिवक्ता की ओर से सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ जांच का आदेश देने की मांग भी याचिका में की गई है। वहीं अधिवक्ता ने याचिका के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट से एक नई व्यवस्था लागू करने की मांग भी कही है। इस व्यवस्था के तहत अधिवक्ता ने कहा कि कोर्ट ऐसा आदेश जारी करे जिसके अंतर्गत किसी व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर या आपराधिक मामला दर्ज है तो वह किसी भी संवैधानिक पद पर ना बैठ पाए।

 कोर्ट से जांच की मांग

अधिवक्ता की ओर से याचिका में यह भी दावा किया गया कि नीतीश ने अपने कार्यकाल की संवैधानिक ताकत के ही कारण 1991 के बाद से ही गैर जमानती अपराध में जमानत तक लेना जरूरी नहीं समझा। इसके साथ ही उन्होंने 17 साल बाद इस मामले में पुलिस से क्लोजर रिपोर्ट भी दाखिल करवा ली। यही नहीं अधिवक्ता की ओर से सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ जांच का आदेश देने की मांग भी याचिका में की गई है। वहीं अधिवक्ता ने याचिका के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट से एक नई व्यवस्था लागू करने की मांग भी कही है। इस व्यवस्था के तहत अधिवक्ता ने कहा कि कोर्ट ऐसा आदेश जारी करे जिसके अंतर्गत किसी व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर या आपराधिक मामला दर्ज है तो वह किसी भी संवैधानिक पद पर ना बैठ पाए।

 

 

 

 

 

 

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned