तेलंगानाः दोबारा सत्ता में आने के लिए नंबर 6 के जरिये राव चल सकते हैं दांव, विधानसभा भंग की तैयारी

तेलंगानाः दोबारा सत्ता में आने के लिए नंबर 6 के जरिये राव चल सकते हैं दांव, विधानसभा भंग की तैयारी

Dhiraj Kumar Sharma | Publish: Sep, 06 2018 09:51:35 AM (IST) राजनीति

ज्योतिष में खासा विश्वास रखने वाले मुख्यमंत्री 6 अंक को बेहद शुभ मानते हैं चंद्रशेखर राव, इसलिए उन्होंने इस अहम फैसले के लिए 6 सितंबर के दिन को चुना है।

नई दिल्ली। राज्य की सत्ता में दोबारा काबिज होने की चाहत के साथ तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव नया दांव चलने के मूड में हैं। केसीआर ने अप्रत्याशित रूप से गुरुवार की सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है। खास बात यह है कि इस बैठक में विधानसभा को भंग करने पर फैसला लिया जा सकता है ताकि इस साल ही यह चुनाव कराया जा सके। लेकिन इन सबके बीच जो बात गौर करने वाली है वो ये आज ही उनके विधानसभा भंग करने के फैसले पर जोर क्यों दिया जा रहा है।

दरअसल अब तक केसीआर अपने सभी बड़े फैसले 6 अंक को ध्यान में रखकर करते हैं। यानी 6 उनका लकी नंबर है। नई दिल्ली। राज्य की सत्ता में दोबारा काबिज होने की चाहत के साथ तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव नया दांव चलने के मूड में हैं। केसीआर ने अप्रत्याशित रूप से गुरुवार की सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है। खास बात यह है कि इस बैठक में विधानसभा को भंग करने पर फैसला लिया जा सकता है ताकि इस साल ही यह चुनाव कराया जा सके। लेकिन इन सबके बीच जो बात गौर करने वाली है वो ये आज ही उनके विधानसभा भंग करने के फैसले पर जोर क्यों दिया जा रहा है। दरअसल अब तक केसीआर अपने सभी बड़े फैसले 6 अंक को ध्यान में रखकर करते हैं। यानी 6 उनका लकी नंबर है।

मौसम विभाग का अलर्टः यूपी, उत्तराखंड समेत 10 राज्यों में मेरबान रहेगा मानसून

नंबर 6 और राव का संयोगदरअसल चंद्रशेखर राव ज्योतिष में खासा विश्वास रखते हैं और अंक ज्योतिष के मुताबिक नंबर 6 उनके लिए लकी है। यही वजह है कि उनकी ओर से 6 सितंबर को बुलाई बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। हालांकि इससे पहले रविवार को भी रैली के दौरान उम्मीद जताई जा रही थी कि राव विधानसभा भंग करने की घोषणा कर सकते हैं, लेकिन उस दिन ऐसा हो न सका। इसके पीछे भी कारण बताए गए कि 6 तारीख न होने के चलते या 6 का सही संयोग न बनने के कारण भी इस फैसले को टाला गया होगा।

बैठक के समय में भी 6 का संयोगमिली जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने पहले तो विधानसभा भंग की तारीख 6 सितंबर चुनी, इसके बाद इसके लिए बुलाई बैठक का समय भी 6 बजकर 45 मिनट तय गया। यानी इसका जोड़ भी (6+4+5=15)1+5=6 ही होता है। यानी बैठक बुलाने के समय में भी 6 अंक का खास तौर पर ध्यान रखा गया। बताया तो ये भी जा रहा है कि ये बैठक दोपहर 3.30 बजे तक चलेगी यानी इसका जोड़ भी 6 ही रहेगा।

राजधानी में नर्सरी की बच्ची के साथ यौन शोषण, शरीर पर निकले लाल निशानों से हुआ खुलासा

इसलिए विधानसभा भंग करना चाहते हैं केसीआरचंद्रशेखर राव के विधानसभा भंग करने के पीछे वैसे तो कई कारण हैं। लेकिन अहम कारणों पर नजर दौड़ाई जाए तो उन्हें लगता है कि इस वक्त विपक्ष के पास उनके मुकाबले मुख्यमंत्री पद का सशक्त दावेदार नहीं है और वे इस समय विधानसभा भंग होती है तो विरोधियों को तैयारी के लिए ज्यादा समय नहीं मिलेगा। यही नहीं अप्रैल तक इंतजार करते हैं तो इससे उन्हें आम चुनाव में भाजपा और कांग्रेस की लोकप्रियता का खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned