scriptTripal talaq bill tabled on rajya sabha | भारी हंगामे के बीच तीन तलाक बिल राज्यसभा में पेश, विपक्षी दलों ने एक सुर में किया विरोध | Patrika News

भारी हंगामे के बीच तीन तलाक बिल राज्यसभा में पेश, विपक्षी दलों ने एक सुर में किया विरोध

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में तीन तलाक का बिल रखा। इस दौरान जमकर हंगामा हुआ।

नई दिल्ली

Updated: January 03, 2018 04:34:47 pm

नई दिल्ली: लोकसभा में तीन तलाक बिल पास होने के बाद बुधवार को राज्यसभा में पेश किया गया । कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में तीन तलाक का बिल रखा। इस दौरान जमकर हंगामा हुआ। विपक्षी पार्टियों ने बिल को सिलेक्ट कमेटी के पास भेजने को लेकर जमकर हंगामा किया। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कुछ लोग जबरन विरोध के नाम पर इस बिल की राह में रोड़े अटका रहे हैं। तीन तलाक बिल में बदलाव को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि संशोधन के लिए पहले नोटिस क्यों नहीं दिया गया।
tripal talaq, tripal talaq in lok sabha, rajya sabha, modi government, congress, tmc, sp
जेटली ने साधा निशाना

जेटली ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि लोकसभा में समर्थन किया जाता है जबकि राज्यसभा में विरोध । ऐसा क्यों हो रहा है। जेटली ने कहा कि तीन तलाक को सुप्रीम कोर्ट ने भी असंवैधानिक माना है। सरकार बिल को सिलेक्ट कमेटी में भेजने के खिलाफ है।
कांग्रेस ने रखा संशोधन का प्रस्ताव

वहीं राज्यसभा में कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने संशोधन का प्रस्‍ताव रखते हुए बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने की मांग की। उन्‍होंने सेलेक्‍ट कमेटी के लिए उपसभापति को विपक्षी पार्टियों के नाम भी दिए। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी सबसे ज्यादा महिलाओं का सम्मान करती है। अगर सरकार को इतनी ही चिंता है तो महिला आरक्षण बिल क्यों नहीं लाती। उन्होंने कहा कि बिल में जो खामियां है उसे खत्म करनी चाहिए शर्मा ने कहा कि सरकार पहले संशोधनों को स्वीकार करे और फिर बिल को सेलेक्ट कमेटी को भेजे गौरतलब है कि सपा, वामदल, बीजेडी, एआईडीएमके, द्रमुक और तृणमूल कांग्रेस ने बिल के मौजूदा स्वरूप का विरोध करते हुए इसे सेलेक्ट कमेटी में भेजने की मांग की।

कई दल संशोधन पर अड़े
राज्यसभा में माकपा, भाकपा, एसपी, बीजेडी, एआईडीएमके और द्रमुक बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने की मांग की है। सपा रामगोपाल यादव ने कहा है कि वो बिल को लेकर राज्यसभा में संशोधन पेश करेगी और वो बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने के पक्ष में है। भाकपा नेता डी राजा ने कहा कि बिल में कई विवादित प्रावधान है। इसलिए बिल को सेलेक्ट में भेजा जाएं।
राज्यसभा का अंक गणित
245 सदस्यीय राज्यसभा में सत्तारूढ़ एनडीए के 88 सांसद (बीजेपी के 57 सांसद समेत) है। कांग्रेस के 57, सपा के 18, बीजेडी के 8 सांसद, एआईडीएमके के 13, तृणमूल कांग्रेस के 12 और एनसीपी के 5 सांसद हैं। ऐसी स्थिति में सरकार को भी विपक्ष के सांसदों के समर्थन की जरूरत होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पीएम मोदी आज ब्रह्मकुमारियों के 'आजादी का अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर' अभियान श्रृंखला का शुभारम्भ करेंगेओमिक्रोन वायरस के इलाज में कौन सी दवा है सही, जानिए WHO की गाइडलाइनIND vs SA: साउथ अफ्रीका ने 31 रनों से जीता पहला वनडे, ये है भारत की हार का सबसे बड़ा कारण‘बुल्ली बाई’ ऐप के बाद अब ‘क्लब हाउस’ चैट में मुस्लिम महिलाओं को बनाया निशाना, महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को भेजा नोटिसटोक्यो पैरालंपिक में Gold Medal लाने वाली अवनी लेखारा तक पहुंची खास XUV700, आनंद महिंद्रा ने कहा 'Thank You'यूपी पीसीएस मेंस परीक्षा टली, अब क्या यूपीटीईटी परीक्षा टलेगी?दो बाइकों की आमने-सामने भिड़ंत में दो युवकों की मौके पर मौत, खून से लथपथ शव देखकर राहगीरों ने दी पुलिस को सूचनाआयकर दायरा बढ़े, जीएसटी घटाएं-मेहता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.