केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले को भरी सभा में युवक ने जड़ा थप्पड़, समर्थकों ने कर डाली पिटाई

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले को भरी सभा में युवक ने जड़ा थप्पड़, समर्थकों ने कर डाली पिटाई

Dhiraj Kumar Sharma | Publish: Dec, 09 2018 08:13:15 AM (IST) राजनीति

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले को भरी सभा में युवक ने जड़ा थप्पड़, समर्थकों ने कर डाली पिटाई

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में राजनीति उस वक्त गर्मा गई जब एक केंद्रीय मंत्री को भरी सभा में एक युवक ने थप्पड़ ही जड़ दिया। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले के साथ मारपीट की घटना सामने आई है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के पास एक कार्यक्रम के बीच में एक युवक ने केंद्रीय मंत्री को तमाचा रसीद कर दिया। खास बात यह है कि ये घटना पुलिस की मौजूदगी में हुई है।


घटना ठाणे के अंबरनाथ की बताई जा रही है। जबकि थप्पड़ मारने वाले शख्स का नाम प्रवीण गोसावी है। हलांकि थप्पड़ मारने के तुरंत बाद अठावले समर्थकों ने उस युवक को पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई कर डाली। प्रवीण को मुंबई पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। फिलहाल, उसे नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है।


ये है पूरा मामला
केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले अंबरनाथ में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गए थे। इस कार्यक्रम के दौरान स्टेज से उतरते वक्त एक व्यक्ति ने उनके कान के पास जोरदार थप्पड़ मार दिया। थप्पड़ मारने के बाद वह भागने लगा तो समर्थकों ने उसे पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई कर डाली। पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

 


मराठा आरक्षण हो सकती है वजह
आपको बता दें, मराठा आरक्षण पर रामदास अठावले ने कहा था कि मराठा समाज को दिया गया आरक्षण कोर्ट में नहीं टिक सकेगा। वह चाहते है कि मराठा समाज को आरक्षण दिया जाए, लेकिन राज्य सरकार ने जिस तरह से आरक्षण दिया है, वह कानूनी नहीं है। अठावले पर हुआ हमला उनके इस बयान से जोड़कर देखा जा रहा है।
इससे पहले रामदास अठावले ने मराठा आरक्षण को लेकर देवेंद्र फडणवीस सरकार को निशाने पर लिया था।

उन्होंने कहा था कि मराठा आरक्षण कोर्ट में नहीं टिक पाएगा। माना जा रहा है कि उनके इस बयान के बाद ही उनपर हमला किया गया है। आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर एक शख्स ने सचिवालय के भीतर ही मिर्च पाउडर फेंककर हमला कर दिया था।

Ad Block is Banned