हिंदुओं को रिझाने में जुटी ममता सरकार, ग्रामीण इलाकों के हर घर में बांटेगी गाय

Kapil Tiwari

Publish: Nov, 15 2017 04:09:10 (IST)

Political
हिंदुओं को रिझाने में जुटी ममता सरकार, ग्रामीण इलाकों के हर घर में बांटेगी गाय

जिन इलाकों में सरकार ने गाय बांटने का ऐलान किया है, इन इलाकों में अगले साल पंचायत चुनाव होने हैं। सरकार के मंत्री ने कहा कि दूध उत्पादन के लिया फैसला

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने एक ऐलान किया है। ऐलान ये है कि राज्य में दूध के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए सभी ग्रामीण इलाकों में गायों का वितरण किया जाएगा। सरकार की तरफ से जानकारी दी गई है कि ये काम अगले कुछ दिनों में शुरू कर दिया जाएगा और ग्रामीण इलाकों में रहने वाले हर परिवार को सरकार की तरफ से एक गाय दी जाएगी। राज्य के पशु संसाधन विकास विभाग के मंत्री स्वपन देबनाथ ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में ये जानकारी दी कि हम राज्य में घटते दूध के उत्पादन को लेकर काफी चिंतित हैं, इसलिए हमारी सरकार ने फैसला किया है कि सभी ग्रामीण इलाकों में गाय का वितरण किया जाएगा, ताकि दूध का उत्पादन ज्यादा हो।

चुनाव के मद्देनजर हिंदूओ को रिझाने का प्रयास!
ममता सरकार का ये कदम तुरंत सियासी मुद्दा बन गया है। दरअसल, सरकार के इस कदम को हिंदू वोटरों को रिझाने की दिशा में उठाया गया कदम माना जा रहा है। आपको बता दें कि राज्य में अगले साल पंचायत चुनाव होने हैं, ऐसे में सरकार की तरफ से उठाया गया ये कदम सियासी फायदों के लिए भी माना जा रहा है। राज्य की ममता सरकार हमेशा से ही मुस्लिम तुष्टिकरण को लेकर सुर्खियों में रहती है। ऐसे में सरकार ने हिंदूओ को नया तोहफा देने का ये ऐलान किया है।

दिसंबर में बांटेंगे 2000 गाय
वहीं जब इस बारे में मंत्री स्वापन देबनाथ से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमारी सरकार इस योजना को ग्रामीण क्षेत्रों के परिवारों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए लेकर आई है, और इससे राज्य में दूध उत्पादन में भी बढोतरी होगी। मंत्री ने कहा कि सरकार के द्वारा उठाया गया ये कदम चिकन और बत्तख बांटने की योजना का ही एक हिस्सा है। स्वपन देबनाथ ने बताया कि हम इस योजना की शुरूआत इसी साल दिसंबर से कर सकते हैं और पहले फेज में हम करीब 2000 गाय ग्रामीण इलाकों में बांटेंगे।

ममता सरकार में 16 फीसदी बढ़ी दूध की बिक्री
स्वपन देबनाथ ने कहा कि सरकार के इस कदम को राजनीति से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। उन्होंने बताया कि प्रदेश में तृणमूल सरकार के कार्यकाल में दूध उत्पादन में 16 फीसदी की जबरदस्त बढ़ोतरी हुई है, जबकि पूर्व की लेफ्ट सरकार पर नजर डालें तो यह बिल्कुल नहीं थी। हालांकि इस फैसले को हिंदु वोट के लिए किए जाने से उन्होंने इनकार किया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned