पश्चिम बंगाल में चरम पर पहुंचा सियासी घमासान, अब तृणमूल के 14 सांसदों पर टिकी भाजपा की नजर

HIGHLIGHTS

  • West Bengal Politics: सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया जा रहा है कि भाजपा तृणमूल कांग्रेस के 14 सांसदों को पार्टी में शामिल कराने को लेकर रणनीति बना रही है।
  • जिन सांसदों पर भाजपा की नजर टिकी है उनमें देव, शताब्दी राय, अपरूपा पोद्दार, प्रसून बनर्जी, शिशिर अधिकारी, दिब्येंदु अधिकारी, मिमी चक्रवर्ती और नुसरत जहां के नाम प्रमुख हैं।

By: Anil Kumar

Updated: 20 Feb 2021, 11:12 PM IST

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने में अब कुछ महीने शेष बचे हैं, उससे पहले सियासी घमासान चरम पर पहुंच गया है। तृममूल कांग्रेस में लगातार टूट हो रही है और सांसद, विधायक व अन्य नेता पार्टी छोड़कर भाजपा का दामन थाम रहे हैं, तो वहीं भाजपा तृणमूल को बेदखल कर सत्ता में काबिज होने के लिए हर मुमिकिन कोशिश में जुट गई है।

Video: बंगाल में पांचवी परिवर्तन यात्रा को हरी झंडी दिखाएं अमित शाह, लाव लश्कर के साथ ऐसे पहुंचे कोलकाता

अब इसी कड़ी में भाजपा की नजर तृणमूल कांग्रेस के 14 सांसदों पर टिक गई है। सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया जा रहा है कि भाजपा तृणमूल कांग्रेस के 14 सांसदों को पार्टी में शामिल कराने को लेकर रणनीति बना रही है। जिन सांसदों पर भाजपा की नजर टिकी है उनमें देव, शताब्दी राय, अपरूपा पोद्दार, प्रसून बनर्जी, शिशिर अधिकारी, दिब्येंदु अधिकारी, मिमी चक्रवर्ती और नुसरत जहां के नाम प्रमुख हैं।

अमित शाह बोले - पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सरकार बनी तो TMC के गुंडों को जेल में डालेंगे

भाजपा का दावा है कि विधानसभा चुनाव के बाद बहुत से तृणमूल सांसद पार्टी में शामिल हो जाएंगे। हालांकि, तृणमूल कांग्रेस भाजपा के दावों को सिरे से खारिज कर रही है और इससे इनकार किया है कि कोई भी सांसद भाजपा में शामिल होगा।

तृणमूल ने भाजपा के दावे को किया खारिज

तृणमूल कांग्रेस के सांसद अपरूपा पोद्दार ने भाजपा के दावे को खारिज करते हुए कहा कि मैं ममता दीदी की छोटी बहन हूं। कोई समस्या होने पर सीधे उनसे कहती हूं। उन्होंने कहा कि राजनीति में कदम रखते समय अच्छा-बुरा सबकुछ सोचकर आई थी, इसलिए भाजपा के सामने आत्मसमर्पण नहीं करूंगी।

इसके अलावा देव ने भी भाजपा में शामिल होने की खबरों को अफवाह करार दिया है। उन्होंने कहा कि मैं पार्टी बदलूंगा तो सबको दिखेगा। मैं अपने जीवन को सीधा-साधा रखना पसंद करता हूं। मैं लोगों की सेवा करने राजनीति में आया हूं। नुसरत जहां ने भी भाजपा में शामिल होने की खबरों को अफवाह करार दिया है।

इसके अलावा तृणमूल सांसद सौगत राय व माला राय ने भी कहा है कि भाजपा की तरफ से कोई पेशकश नहीं की गई है। माला राय ने कहा है कि वे ममता दीदी के साथ हैं। आपको बता दें कि कई विधायक और सांसद तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं, जिसमें सांसद सुनील मंडल शामिल हैं। वर्तमान में तृणमूल कांग्रेस के 21 सांसद बचे हैं। तृणमूल कांग्रेस लोकसभा में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned