केरल में गो हत्याः राहुल ने बताया निर्दयी व अस्वीकार्य, 4 निलंबित

केरल में गो हत्याः राहुल ने बताया निर्दयी व अस्वीकार्य, 4 निलंबित
rahul gandhi

केंद्र सरकार की ओर से बाजार में हत्या के लिए जानवरों के खरीद-फरोख्त पर रोक लगाने के फैसले के विरोध में कथित केरल यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा की गई खुलेआम गो हत्या को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने निंदा की है। 

नई दिल्ली. केंद्र सरकार की ओर से बाजार में हत्या के लिए जानवारों के खरीद-फरोख्त पर रोक लगाने के फैसले के विरोध में कथित केरल यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा की गई खुलेआम गो हत्या को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने निंदा की है। राहुल ने ट्वीट कर कहा है कि कथित केरल यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने केन्द्र सरकार के फैसले के खिलाफ जो कुछ रविवार को किया, वह बिना सोचे समझे किया गया निर्दयी और अस्वीकार्य कार्य है। ऐसी घटनाओं का न तो मैं और न ही कांग्रेस पार्टी समर्थन करती है। मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं। राहुल गांधी का यह ट्वीट रविवार की रात आरोपियों के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज होने के कुछ घंटे बाद उनके ऑफिसियल ट्वीटर हैंडल से आया। इसके साथ ही पार्टी के चार कार्यकर्ताओं को निलंबति कर दिया है।
आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज
दरअसल,  केंद्र सरकार की ओर से बाजार में हत्या के लिए जानवारों के खरीद-फरोख्त पर रोक लगाने के फैसले के विरोध करते हुए कुछ लोग रविवार को खुलेआम एक बैल की हत्या कर उसका मांस निकालते देखे गए। इस घटना के बाद केरल भाजपा युवा मोर्चा ने आरोपियों के खिलाफ पुलिस में नामजद एफआईआर दर्ज करवा दी है। इस मामले में पुलिस ने कन्नुर मंडल के कांग्रेस अध्यक्ष राजील मकुत्ती समेत कुछ कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज की है।  इसके साथ ही इस हरकत से केरल ही नहीं देश की राजनीति भी गरमा गई है। 

ट्रक में लेकर आए थे बैल
बताया जाता है कि कथित केरल कांग्रेस के कार्यकर्ता केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के के दौरान एक बैल को ट्रक में लेकर आए। उसके बाद खुलेआम उसकी हत्या की और फिर स्थानीय लोगों के बीच उसके मीट को मुफ्त में बांट दिया। हालांकि, बाद में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने ऐसी किसी भी घटना में शामिल होने से इनकार किया। वहीं, पार्टी कार्यकर्ताओं की इस हरकत से कांग्रेस के केन्द्रीय नेताओं व पार्टी आलाकमान ने खुद को अलग कर लिया है।  
      
कांग्रेस ने वीडियो से किया किनारा
वहीं, कांग्रेस वीडियो आने के बाद इस पूरे मामले से पल्ला झाड़ लिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि जो लोग ऐसा कर रहे हैं वो हमारी पार्टी से जुड़े हुए नहीं हैं। सिंघवी ने कहा है, अगर किसी ने किसी कानून का उल्लंघन किया है तो उसको कानून के अनुसार कार्रवाई होनी चाहिए। कांग्रेस कभी उसका समर्थन नहीं करेगी लेकिन ये प्रमाणित होना भी जरूरी है कि जिसका वीडियो चल रहा है वो कांग्रेस से हैं भी की नहीं। 

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष ने किया वीडियो वायरल
केरल बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष कुममानम राजशेखरन ने बैल काटने वाले वीडियो को शेयर किया। अपने ट्विटर पर राजशेखरन ने लिखा कि ये क्रूरता का चरम है। वीडियो पोस्ट करते हुए राजशेखरन ने आरोप लगाया है कि राज्य में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सरेआम एक गाय की हत्या की है। वीडियो में कुछ लोग सरेआम एक बैल काटते हुए और पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारा लगाते हुए दिख रहे हैं। इस वीडियो में यह भी दिख रहा है कि कुछ लोगों के हाथ में यूथ कांग्रेस का झंडा भी है।

बीफ पार्टी का भी हुआ आयोजन
इससे पहले एलडीएफ और कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ विपक्ष के कई युवा समूहों ने केंद्र सरकार के हालिया निर्णय के विरोध में राजधानी तिरुवनंतपुरम में विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के सामने बीफ पार्टी की है। 

सोशल मीडिया पर वीडियो की आलोचना
सोशल मीडिया पर वीडियो की आलोचना भी की जा रही है। केरल बीजेपी के सदस्य और पूर्व क्रिकेटर एस श्रीशांत ने भी इस वीडियो पर अपना गुस्सा जताया है। वहीं दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर पाल बग्गा ने वीडियो को ट्वीट करते हुए कहा है कि कांग्रेस ने केवल यह गाय नहीं काटी है बल्कि देश के सौ करोड़ हिंदुओं की भावनाओं को भड़काने का काम किया है।

सीएम विजयन ने पीएम मोदी लिखा पत्र
इस पूरे मसले पर राज्य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. पीएम को लिखे पत्र में केरल के मुख्यमंत्री ने कहा है कि मैं आपसे इस मामले में हस्तक्षेप करने की गुजारिश करता हूं। जानवरों की खरीद-बिक्री पर जो नए प्रतिबंध लगाए गए हैं उन्हें हटाने की मांग करता हूं। ताकि देश के लाखों पशुपालकों, किसानों की आजीविका को सुरक्षित किया जा सके और संविधान के मूलभूत सिद्धांतों की रक्षा भी की जा सके।

50 हजार से ज्यादा लोग पशु व्यापार से जुड़े
गौरतलब है कि केरल में 50 हजार से ज्यादा लोग पशु व्यापार से जुड़े हुए हैं। राज्य में 60 फीसदी मीट की खपत होती है। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned