क्या वेटिकन सिटी में मंदिर बनाने देंगे ईसाई: विहिप

क्या वेटिकन सिटी में मंदिर बनाने देंगे ईसाई: विहिप

Shakti Singh | Publish: Mar, 17 2015 09:51:00 AM (IST) राजनीति

'1857 क्रांति साम्प्रदायिक लड़ाई थी और यदि धर्म परिवर्तन नहीं छोड़ा तो इसे फिर से छेड़ा जाएगा'

नई दिल्ली। हरियाणा के हिसार में चर्च पर हमले और तोड़फोड़ का विश्व हिन्दू परिषद्(विहिप) ने आक्रामक रूख में बचाव किया है और 1857 की क्रांति को भी साम्प्रदायिक युद्ध बताया। विहिप ने कहाकि क्या ईसाई समुदाय वेटिकन सिटी में हनुमान मंदिर बनाने की अनुमति देगा। विहिप के संयुक्त महासचिव सुरेन्द्र जैन ने कहाकि, उस गांव में और आसपास कोई ईसाई नहीं रह रहा था तो वहां पर चर्च क्यों बनाया जा रहा था। अगर ईसाई हमें वेटिकन में हनुमान मंदिर बनाने देते हैं तो हम उन्हें भारत में कहीं भी चर्च बनाने के लिए जगह दे देंगे। हम इसके लिए पैसे भी देंगे।

जैन ने कहाकि1857 की क्रांति धर्म के लिए साम्प्रदायिक लड़ाई थी और यदि ईसाइयों ने धर्म परिवर्तन नहीं छोड़ा तो इसे फिर से छेड़ा जाएगा। उन्होंने पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में बुजुर्ग नन से गैंगरेप के मामले पर सवाल उठाया और कहाकि यह चर्च की साजिश है। उन्होंने कहाकि, नन का यौन शोषण करना ईसाई कल्चर है न कि हिंदुओं का। ननों से दुष्कर्म को लेकर पोप इतने चिंतित है कि वे समलैंगिक रिश्तों को बढ़ावा दे रहे हैं।

उन्होने चर्च का इस्तेमाल धर्मातरण के लिए किया जाता है। यह वही देश है जहां धर्म के लिए 1857 की लड़ाई लड़ी गई थी। धर्मातरण के खिलाफ आवाज उठाएंगे। हिसार वाले मामले में भी लोगों ने विरोध किया था लेकिन जब उनकी बात पर ध्यान नहीं दिया गया तो उन्होंने वह किया जो उन्हें ठीक लगा। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned