बहन के अस्पतालों पर IT दबिश से बिफरे योगेंद्र यादव, कहा- मोदी सरकार मेरे परिवार को बना रही निशाना

बहन के अस्पतालों पर IT दबिश से बिफरे योगेंद्र यादव, कहा- मोदी सरकार मेरे परिवार को बना रही निशाना

prashant jha | Publish: Jul, 11 2018 09:08:28 PM (IST) | Updated: Jul, 12 2018 10:43:39 AM (IST) राजनीति

योगेंद्र यादव ने कहा कि मेरी बहनों के अस्पताल पर छापा मारा गया है। कृपया मेरी, मेरे घर की तलाशी करें, मेरे परिजनों को क्यों परेशान किया जा रहा है?

नई दिल्ली: स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव की बहन के अस्पतालों पर आयकर विभार ने दबिश दी है। आयकर विभाग के अधिकारियों ने एक साथ उनकी बहन के दोनों अस्पतालों पर छापेमारी कार्रवाई की। इसके बाद योगेंद्रे यादव ने पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। बुधवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य(एमएसपी) पर प्रदर्शन शुरू करने की वजह से उनके परिवार को निशाना बनाया जा रहा है। अपने सिलसिलेवार ट्वीट में यादव ने कहा कि हरियाणा के रेवाड़ी में उनकी बहन के परिवार द्वारा चलाए जा रहे दो अस्पतालों पर आयकर विभाग के अधिकारियों ने छापा मारा। इसके दो दिन पहले ही एमएसपी समेत अन्य मुद्दों पर योगेंद्र यादव की रेवाड़ी में नौ दिवसीय स्वराज पदयात्रा पूरी हुई थी।

सरकार मेरे घर की तलाशी ले

उन्होंने कहा, "मोदी सरकार अब मुझपर हमला कर रही है। रेवाड़ी में मेरी नौ दिवसीय पदयात्रा पूरी होने और एमएसपी व शराब ठेका के खिलाफ प्रदर्शन शुरू करने के दो दिन बाद, रेवाड़ी में मेरी बहनों के अस्पताल सह नर्सिग होम पर छापा मारा गया है।"उन्होंने कहा, "कृपया मेरी, मेरे घर की तलाशी करें, मेरे परिजनों को क्यों परेशान किया जा रहा है?" एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि दिल्ली के 100 से ज्यादा अधिकारियों ने 11 बजे पूर्वाह्न् अस्पताल पर छापा मारा और उनकी बहनों, सालों और भतीजे समेत सभी डॉक्टरों को चैंबर में 'बंद' कर दिया गया। यादव ने शाम में एक बार फिर ट्वीट किया कि छापा लगातार जारी है और उनके परिवार के खिलाफ 'कोई योजना' बनाई जा रही है।

सोशल मीडिया पर दबिश की चर्चा

योगेंद्र यादव ने कहा कि अभी तक मेरी बहनों से कोई संपर्क नहीं हुआ है। दोनों अस्पतालों में किसी को जाने या बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। आईटी सर्च जारी है, और इसके पूरी रात जारी रहने की संभावना है। ऐसा लगता है किसी प्रकार की योजना बनाने के लिए वे समय ले रहे हैं।"सोशल मीडिया पर योगेंद्र यादव के प्रति कई कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और विपक्षी नेताओं ने अपना समर्थन जताया।

Ad Block is Banned