शैक्षिक भ्रमण दल रवाना

rajesh dixit

Publish: Oct, 13 2017 10:53:15 (IST)

Pratapgarh, Rajasthan, India
शैक्षिक भ्रमण दल रवाना

शैक्षिक भ्रमण दल को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया


शैक्षिक भ्रमण दल रवाना
प्रतापगढ़.
अतिरिक्त जिला कलक्टर हेमेन्द्र नागर ने राजकीय विद्यालयों में कक्षा 7 व 8 में अध्ययनरत विद्यार्थियों के शैक्षिक भ्रमण दल को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। शैक्षिक भ्रमण दल चित्तौडगढ़, उदयपुर , राजसंमद, सिरोही एवं बांसवाड़ा जिलों के ऐतिहासिक व दर्शनीय स्थलों का भ्रमण करेगा। भ्रमण दल में जिले के प्रारम्भिक व माध्यमिक शिक्षा विभाग के राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत बालक भाग ले रहे हैं। भ्रमण दल में प्रभारी के रूप में आनन्दीलाल ठाकुर अतिरिक्त ब्लॉक प्रा.शि.अ अरनोद है। जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक शिक्षा मावजी खॉट ने यह जानकारी दी।
दिव्यांगों का होगा प्रमाणीकरण
प्रतापगढ़.
जिला प्रशासन, जिला परिषद एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की अेार से पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजनान्तर्गत दिव्यांगजनों के जिले के चयनित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अरनोद, बारावरदा, छोटीसादडी, धरियावद, पीपलखुंट, थडा और मूंगाणा पर प्रतिदिन दोपहर १२ से दोपहर 2 बजे तक दिव्यांगों का प्रमाणीकरण कार्य किया जाएगा। इसके अतिरिक्त कुछ दिवसों पर चयनित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर बहु:निशक्ता वाले दिव्यांगों के प्रमाणीकरण का कार्य विशेषज्ञ चिकित्सकों की ओर से किया जाएगा।
हुआ गृह प्रवेश व शिलान्यास
धरियावद.क्षेत्र के गोपालपुरा में प्रधानमंत्री आवास योजना में एक आवास का गृह प्रवेश एवं शिलान्यास का आयोजन हुआ। प्रधान रूपलाल मीणा ने गुरूवार को योजना की शुरूआत की। इस दौरान उनके साथ मंडल अध्यक्ष चन्द्रपालसिंह राणावत सहित कई जनप्रतिनिधिगण मौजूद थें। इस दौरान प्रधान मीणा ने अटल सेवा केन्द्र पर उपस्थित ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजना का फायदा उठाने तथा आवास योजना से जुडी जानकारी दी।
विद्यालय में हुए प्रवचन
छोटीसादड़ी. जीवन में आनंद प्राप्ति के लिए विनय विवेक और शुद्ध विचार अति आवश्यक है। धर्म का मूल भी विनय है तो विद्या भी विनय से सुशोभित होती है। विवेक व्यक्ति को बुरे कार्य से रोकता है तो सन्मार्ग में जुडऩे की प्रेरणा प्रदान करता है। शुद्ध विचार हमारे जीवन तंत्र को सदाचार युक्त बनाने में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करते हैं। उक्त प्रवचन ओकर माध्यमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं को मुनि ऋ षभ रत्नविजय ने कहे। मुनि ने इस अवसर पर बालकों को व्यसनमुक्त का संकल्प दिलाया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned