पारसोला व मूंगाणा में अतिक्रमण पर होगी कार्रवाई

पारसोला व मूंगाणा में अतिक्रमण पर होगी कार्रवाई

Rakesh kumar Verma | Publish: Jan, 13 2018 08:24:37 PM (IST) | Updated: Jan, 13 2018 08:24:38 PM (IST) Pratapgarh, Rajasthan, India

सीएलजी की बैठक

पारसोला यहां थाना परिसर में शनिवार को सीएलजी की बैठक का आयोजन किया गया।
जिसमें पारसोला और मूंगाणा में अतिक्रमण पर रोष जताया। अतिक्रमण के खिलाफ शीघ्र ही कार्रवाई के लिए सहमति जताई गई। बैठक में पारसोला थाना क्षेत्र के मूंगाणा, बोरिया, भरकुण्डी व देवला, लोहागढ़ के जनप्रतिनिधियो व सीएलजी सदस्यों ने भाग लिया। बैठक मे धरियावद उप प्रधान धमेन्द्र जैन, पारसोला सरपंच अम्बादेवी मीणा, देवला सरपंच नारायणलाल मीणा, मूंगाणा उपसरपंच पृथ्वीलाल लबाना आदि उपस्थित थे। बैठक में थानाधिकारी अभयसिंह राणावत ने क्षेत्र में पुलिस-प्रशासन की सक्रिय गतिविधियों के बारे में बताया। कस्बें में रात्रि गश्त, अवैध रूप से नशीला पदार्थ के सेवन पर पूर्णतया रोक, समय-समय पर वाहनों की जांच आदि करने पर सहयोग की अपील की।
पारसोला के विजेन्द्र बेहड़ा, ओमप्रकाश जैन, मनोहर पचोरी, जयंतीलाल मकनावत ने कस्बे में व्याप्त बेतरतीब अवैध पार्किंग व अतिक्रमण को हटवाने एवं रात्रि गश्त को ओर पुख्ता करने की मांग की। मूंगाणा से सुनील झेकणावत, देवेन्द्र पंचाल, मनोहर शर्मा ने रामदेवजी चौराया पर अतिक्रमण हटवाने एवं कस्बे मे हुई चोरियों का पर्दाफाश करने की मांग की। देवला चौकी पर नियमित स्टाफ लगाने की मांग की। थाना क्षेत्र के सभी लोगों ने क्षेत्र मे जगह-जगह पर बरसों से अवैध अतिक्रमण को हटवाने की मांग की। थानाधिकारी ने बताया कि ग्राम पंचायत प्रस्ताव लेकर हटवाए, पुलिस जाप्ता मौके पर मौजूद रहेगा।
================================
बसेरा में कवि सम्मेलन भोर तक चला
उत्कृष्ट प्रतिभाओं बौर समाजसेवियों का सम्मान
मोखमपुरा/असावता
निकटवर्ती बसेरा में वीर सावरकर युवा कौशल विकास परिषद समिति की ओर से अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।
जिसमें ख्यातनाम कवियों ने अपनी शिरकत की। आयोजक समिति ने 70 प्रतिशत से अधिक लाने वाले बच्चों को स्वामी विवेकानंद तस्वीर भेंट कर के उन्हें सम्मानित किया। इसके साथ ही गांव के समाजसेवी को भी सम्मानित किया गया। प्रकाश कुमावत ने बताया कार्यक्रम की अध्यक्षता लच्छीराम निनामा ने की।
मुख्य अतिथि सरपंच गोपाल थे।
विशिष्ट अतिथि राजेंद्र कुमावत, राजेश कुमावत, डॉ रमेश, महेश बैरागी, दयाराम कुमावत, धूलचंद कुमावत, पुरषोत्तम कुमावत, दीपक सैनी, श्याम बैरागी, पुष्कर लोहार, घनश्याम कुमावत, सुनील लोहार, राजीव भट्ट, राजू सोलंकी राजू मीणा थे।
सर्वप्रथम मां शारदे की वंदना सुमित्रा सरल ने की।
निंबोद के विनोद ने मालवी में अपनी कविता से लोगों को लोटपोट किया।
अमलावद के धनपाल धमाका ने अपनी पैरोडी के माध्यम से देश में हो रहे भ्रष्टाचार खूब व्यंग्य कसे।
चित्तौडगढ़़ से आई कवियत्री सुरभी जैन ने अपनी श्रंगार के गीतों लोगों का मन मोह लिया। पलसोड़ा नीमच के गोपाल धुरंधर ने कविताओं के माध्यम से पूरे पंडाल में तालियां बटोरी।
नामली की सुमित्रा सरल ने अपने गीत गजल प्रस्तुत की। सुमित्रा सरल और विजय विद्रोही ने नोकझोंक की।
नेपाल काठमांडू के लाफ्टर लक्ष्मण नेपाली ने लोगों को हंसाया। हरिओम हरपल, मांगीलाल ने अपने नए अंदाज मैं कई राजनीतिक व्यवस्था पर टीका टिप्पणी की। विजय विद्रोही मंच संचालक किया।
वीर सावरकर सेवा समिति के अध्यक्ष ईश्वर कुमावत और उनकी टीम ने आभार व्यक्त किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned