मांगों पर बनी सहमति

Rakesh kumar Verma

Publish: Oct, 13 2017 06:05:24 (IST)

Pratapgarh, Rajasthan, India
मांगों पर बनी सहमति

गाड़ी लोहारों का धरना समाप्त

अरनोद यहां उपखंड कार्यालय के बाहर गत दिनों से चूपना के गाड़ी लोहारों का दिया जा रहा धरना शुक्रवार को समाप्त हो गया।
प्रशासन ने मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया।
यहां पांच दिनों से धरने पर बैठे चूपना के गाडिय़ा लोहारों का धरना खत्म हुआ। भूमि आवंटन, पट्टा और प्रधानमंत्री आवास, बीपीएल में नाम जुड़वाने आदि मांगों को उपखंड अधिकारी कुलराज मीणा ने एक माह में पूरा करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि भूमि आवंटन की पत्रावली जिला प्रशासन को भेज दी गई है।
बीपीएल के फार्म भरवा दिए गए है। प्रधानमंत्री आवास स्विकृत कर दिए जाएंगे। सरपंच व सचिव के लीखित में आश्वासन देने पर चूपना के गाडिया लौहारों का धरना समाप्त हुआ। इस अवसर पर उपखंड अधिकारी कुलराज मीणा, विकास अधिकारी फिरोज खान, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अरूण सिंह चूंडावत, विजय शर्मा, सरपंच राजेश कटारा, संदीप भावसार आदि ने धरना समाप्त करवाया।

---------------------------------------------------------

विभिन्न योजनाओं में ऑनलाइन आवेदन शुरू
प्रतापगढ़
मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति, (6 0प्रतिशत) मेधावी स्कूटी योजना (75 प्रतिशत) एवं देवनारायण छात्रा स्कूटी (6 0 प्रतिशत) वितरण योजना सत्र 2017-18 के ओवदन ऑनलाईन शुरू हो गए है।
संबंधित छात्र 9 नवम्बर तक उक्त छात्रवृत्ति योजनओं के आवेदन ऑनलाईन कर सकते है। ऑनलाईन आवेदन के लिए विभागीय वेबसाईट पर आवेदन कर सकते है। विद्यार्थी ऑनलाईन आवेदन करते समय पासपोर्ट साईज फोटो, महाविद्यालय परिचय पत्र, फीस की रसीद, आधार कार्ड, जाति, आय, मूल निवास प्रमाण पत्र, भामाशाह कार्ड, अंकतालिकाएंं (10वीं,12वीं व अंतिम परीक्षा की अंकतालिका) आदि लेकर ई-मित्र से आवेदन कर सकते है।
साथ ही जनजाति छात्र/छात्राओं के लिए मकान किराया, प्रतिभावान छात्रवृत्ति एवं छात्राओं के लिये उच्च शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता छात्रवृत्ति योजना के आवेदन पत्र 20 अक्टूबर तक ऑनलाईन करवा सकते है।
------------

बिजली कटौती से किसान चिंतित
बरखेड़ी
निकटवर्ती गांव चकुन्डा में बिजली कटौती को लेकर ग्रामीणों में रोष है। वहीं किसान भी चिंतित है।
ग्रामीणों ने बताया कि एक घंटा लाइट दिन में आती है। जिसे किसान करें तो क्या करें, आए दिन यही समस्या आती है।निगम के अधिकारियों को अगवत कराने पर कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिलता है।
जबकि किसानों को खेत में ही इंतजार करना पड़ रहा है।
रोहित गहलोत, बापूलाल आंजना, किशनलाल आंजना, महेश राठौर, राकेश राठौर, हरिराम डांगी, मुकेश आंजना, शंकर आंजना, मुकेश राठौर का कहना है कि लाइट दिन में एक घंटा आती है। मात्र 3 फेस इसमें सिचाई करे तो कैसे करें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned