scriptBhagwat also teaches the way to live with spirituality | pratapgarh religion-आध्यात्म के साथ जीने की राह भी सिखाती है भागवत | Patrika News

pratapgarh religion-आध्यात्म के साथ जीने की राह भी सिखाती है भागवत

कुलथाना. निकटवर्ती बिलेसरी गांव में आयोजित भागवत कथा की पूर्णाहुति शुक्रवार को हुई। जिसमें कई ग्रामीणों ने धर्मलाभ लिया। यहां गत सात दिनों से कथा वाचक अपर्णा नागदा मेनारिया ने कथा का वाचन किया।

प्रतापगढ़

Updated: January 15, 2022 08:10:21 am

pratapgarh religion-निकटवर्ती बिलेसरी गांव में आयोजित भागवत कथा की पूर्णाहुति शुक्रवार को हुई। जिसमें कई ग्रामीणों ने धर्मलाभ लिया। यहां गत सात दिनों से कथा वाचक अपर्णा नागदा मेनारिया ने कथा का वाचन किया। यहां पूर्णाहुति पर कथा में बताया कि कथा कभी समाप्त नहीं होती, कथा का विश्राम होता है। आज यहां तो कल कहीं और शुरू होगी।
परमेश्वरसिंह ने बताया कि कथा में उन्होंने बतायाकि भागवत का अर्थ है भक्ति, ज्ञान वैराग्य और तारण। भागवत न सिर्फ आध्यात्म सिखाती है, बल्कि भागवत से जीवन जीने की राह भी मिलती है। भागवत का आध्यात्मिक अर्थ भा से भक्ति, ग से ज्ञान, व का मतलब वैराग्य और त से तत्व है। गृहस्थ गृहस्थ जीवन में भी रहकर वैराग्य धारण कर सकते हैं। कैसे कर सकते हैं, ये कला भागवत में है। जन्म लिया, पढऩे के बाद कमाया, खाया और जीवन का अंत हो जाता है। कई बार मालूम ही नहीं लगता कि जीवन का उद्देश्य क्या है। भागवत यही कला सिखाती है। त्याग, तपस्या, मोक्ष के साथ जीवन जीने की सही राह भागवत की बताती है। सद्गुणों और सतकर्म को हमने जीवन में कितना उतार लिया है। ये मंथन करने का विषय रहता है। कैसे उतार सकते हैं, ये कला भी भागवत सिखाती है। ज्ञान के साथ वैराग्य की भी उत्पत्ति होती है। इसके बाद वैराग्य मजबूत होने पर धीरे-धीरे परमात्मा की प्राप्ति होती है। अगर कलयुग में भगवान को रिझा लिया जाए तो किसी के सामने झुकने की जरूरत नहीं होती है।
यदि मन में प्रकाश होता है, तो व्यक्ति के चेहरे पर कभी मायूसी नहीं आती है। जो व्यक्ति भगवान के भजन करता है, तो भगवान सदा के लिए उसके हो जाते है। सुदामा चरित्र की कथा का वर्णन भी किया गया। कुलथाना के प्रकाशदास वैरागी ने बताया कि इस मौके बिलेसरी के साथ कई गांवों से श्रद्धालुओं ने भाग लिया।
=-=-
शिवना नदी पर स्टॉप डेम के लिए १० लाख की स्वीकृति
कुलथाना.
निकटवर्ती बिलेसरी के पास शिवना नदी पर स्टॉप डेम के लिए 10 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। यह स्वीकृति विधायक रामलाल मीणा ने दी है।
यहां विधायक दौरे पर यह स्वीकृति जारी की है। कुलथाना उप सरपंच दिग्विजयसिंह ने बताया कि इस मौके पर ब्लॉक अध्यक्ष कमल गुर्जर, अरनोद प्रधान समरथ मीणा, सरपंच चंदा मीणा आदि उपस्थित थे।
pratapgarh religion-आध्यात्म के साथ जीने की राह भी सिखाती है भागवत
pratapgarh religion-आध्यात्म के साथ जीने की राह भी सिखाती है भागवत

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारराजस्थान में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी,विवाह समारोह में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमतिश्रीलंकाई नौसेना जहाज की भारतीय मछुआरों के नौका से टक्कर, सात मछुआरे बाल बाल बचेटीआई-लेडी कॉन्स्टेबल की लव स्टोरी से विभाग में हड़कंप, दो बच्चों का पिता है टीआई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.