scriptBhamashah arrived to help the children in Junakhala | जूनाखला में बच्चों की सहायता के लिए पहुंचे भामाशाह | Patrika News

जूनाखला में बच्चों की सहायता के लिए पहुंचे भामाशाह


प्रतापगढ़. सालमगढ़. क्षेत्र के जूनाखला गांव में अनाथ 5 बच्चों की खबर मीडिया में आने के बाद भामाशाह और प्रशासन असहाय की मदद के लिए आगे आए। विकास अधिकारी दलोट लक्ष्मीलाल ने जूनाखला पहुंचकर पांचों बच्चों की आर्थिक सहायता की। पालनहार व अन्य सरकारी सहायता के लिए कार्रवाई की गई।

प्रतापगढ़

Published: July 18, 2021 08:24:45 am


प्रतापगढ़. सालमगढ़. क्षेत्र के जूनाखला गांव में अनाथ 5 बच्चों की खबर मीडिया में आने के बाद भामाशाह और प्रशासन असहाय की मदद के लिए आगे आए। विकास अधिकारी दलोट लक्ष्मीलाल ने जूनाखला पहुंचकर पांचों बच्चों की आर्थिक सहायता की। पालनहार व अन्य सरकारी सहायता के लिए कार्रवाई की गई। इसके साथ ही उपखंड अधिकारी के निर्देश पर समाज कल्याण विभाग की ओर से कन्हैयालाल मीणा व सूचना विभाग की ओर से सूचना सहायक हरीश मीणा भी जूना खला पहुंचे। पीडि़त परिवार के बच्चों के आधार कार्ड जन आधार कार्ड व पालनहार संबंधी समस्याओं की जानकारी ली। उन्हें जल्द निस्तारण करने के लिए संबंधित ई-मित्र से संपर्क भी किया। इसके अलावा तहसीलदार सुंदरलाल कटारा की ओर से भी बच्चों को सहायता दी गई।
==== =

मॉडल स्कूल में ऑनलाइन कक्षाएं शुरू
अरनोद. कस्बे के नागदेड़ा रोड पर स्थित स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल में कोरोना महामारी को देखते हुए ऑनलाइन क्लासेज शुरू की गई है।
ऑनलाइन क्लासेज संचालक प्रवीणकुमार जैन ने बताया कि कोरोना महामारी को देखते हुए ऑनलाइन क्लासेज शुरू की गई है। जिसमें 80 प्रतिशत बच्चों ने ऑनलाइन पढ़ाई करना शुरू कर दी है। प्रधानाचार्य धर्मेन्द्र वीरवाल ने बताया कि जिसमें चार क्लासरूम बनाएं गए है। सी वन, सी टू, सी थ्री, सी फॉर बनाए गए है। जिसमें अलग-अलग डिवाइस लगे हुए हैं। बेस्ड ऑफ कंप्यूटर है। स्मार्ट बोर्ड है, इससे बच्चों ने ऑनलाइन क्लासेज में पढऩे को लेकर अच्छी रूचि दिखाई है। जिससे घर बैठे पढ़ाई कर सकते हैं।
=:===:=
वैक्सीन को लेकर ग्रामीणों में उत्साह
दलोट. क्षेत्र में कोरोना वैक्सीन के प्रति लोगों में अब जागरूकता आ रही है। वैक्सीन को लेकर अब कोरोना को लेकर महिलाओं में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। वैक्सीनेशन अभियान के शुरुआती दौर में ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के मन में डर व भय का माहौल था। लोगों के मन में वैक्सीन के प्रति कई भ्रांतियां भी थी। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्र के लोग वैक्सीन लगवाने से डर रहे थे। लेकिन धीरे-धीरे अब ग्रामीण में वैक्सीन का जो डर था, वह अब खत्म हो रहा है।
वैक्सीन लगवाने के लिए टोकन नंबर के लिए सुबह 7 बजे से ही दलोट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंच रहे हैं। वेक्सीन लगवाने में महिलाएं भी पीछे नहीं है। निकटवर्ती चन्देरा, पड़ाव, पारखण्डा गांव से आई महिलाओं ने बताया कि पहले उनको कोरोना का टीका लगवाने से डर लग रहा था। हमारे गांव की महिलाओं ने कोरोना का टीका लगवाया। इसलिए दलोट चिकित्सालय पर कोरोना ल टीका लगवाने के लिए आए।
वहीं दलोट प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा प्रभारी डॉ. पवन मालव ने बताया कि कोरोना वैक्सीन के प्रति लोगों में जागरूकता आ रही है। उन्होंने बताया कि पीएससी पर शनिवार को दो सौ लोगों को वैक्सीन लगाई गई। वैक्सीनेशन कार्यक्रम में एलएसी सुषमा, एएनएम कस्तूरी मीणा, मैनाकुमारी, प्रभुलाल बामणिया, कंप्यूटर ऑपरेटर सत्यनायण आंजना अपना सहयोग दे रहे हैं।
-=-=-=---
जूनाखला में बच्चों की सहायता के लिए पहुंचे भामाशाह
जूनाखला में बच्चों की सहायता के लिए पहुंचे भामाशाह

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.