कांठल में बर्ड फ्लू की दस्तक


प्रतापगढ़.
जिले के नानणा गांव ६ जनवरी को मृत मिले पांच कौओं की मौत बर्ड फ्लू से होने की पुष्टि के बाद पशु पालन विभाग और वन विभाग सतर्क हो गया है। विभागों की गठित की गई टीमें जलाशयों पर पहरा दे रही है। वहीं पक्षियों की गतिविधियों पर भी पूरी तरह से नजर रखी जा रही है। इसके साथ ही जिले में पॉल्ट्री फार्म संचालकों को विशेष सतर्कता के निर्देश जारी किए गए है।

By: Devishankar Suthar

Published: 12 Jan 2021, 08:41 AM IST


-नानणा में मृत कौओं की मौत बर्ड फ्लू से होने की पुष्टि
-पशुपालन और वन विभाग का तालाबों पर पहरा
-पशु पालन विभाग और वन विभाग सतर्क
-पॉल्ट्री फार्म और प्रवासी पक्षियों के लिए विशेष गाइड लाइन जारी
-
प्रतापगढ़.
जिले के नानणा गांव ६ जनवरी को मृत मिले पांच कौओं की मौत बर्ड फ्लू से होने की पुष्टि के बाद पशु पालन विभाग और वन विभाग सतर्क हो गया है। विभागों की गठित की गई टीमें जलाशयों पर पहरा दे रही है। वहीं पक्षियों की गतिविधियों पर भी पूरी तरह से नजर रखी जा रही है। इसके साथ ही जिले में पॉल्ट्री फार्म संचालकों को विशेष सतर्कता के निर्देश जारी किए गए है। गौरतलब है कि जिले में अब तक जिले में ३४ सैंपल लिए गए है। इनमें से नानणा गांव में लिए दो कौवों की मौत बर्ड फ्लू से होने की रिपोर्ट मिली है। जबकि बाद में लिए गए ३२ सैंपल की रिपोर्ट प्रतापगढ़ में पशुपालन विभाग को नहीं मिली है।
वन विभाग की ओर से इन जलाशयों पर पहरा
प्रतापगढ़ जिले में बर्ड फ्लू की दस्तक के साथ ही वन विभाग सतर्क हो गया है। जिले में करीब डेढ़ दर्जन जलाशयों में प्रवासी पक्षियों का डेरा है। ऐसे में वन विभाग की ओर से इन जलाशयों पर पहरा दिया जा रहा है। यहां विशेष सतर्कता के लिए टीमों का गठन किया गया है। जो यहां निगरानी रखे हुए है। इनमें से गौतमेश्वर तालाब, तेजल, लालपुरा, देवगढ़, नारसिंह माता तालाब, जाखम, गादोला, शौलिया, हथुनिया, घोंटारसी, केसरियावद, खूंता, निनोर, रायपुर, बड़ी साखथली, कनाड़, चाचाखेड़ी, मेल, रंभावली, भंवरसेमला बांध आदि प्रमुख है। क्षेत्रीय वन अधिकारी दारासिंह राणावत और फोरेस्टर भूपेन्द्रसिंह राणावत ने बताया कि इन जलाशयों पर विशेष निगरानी रखी जा रही है।

जिले में ३४ सैंपल की यह है स्थिति
जिले में एमपी सीमा से सटे नानणा गांव में पांच कौओं की मौत हुई थी। इस दौरान पशु पालन और वन विभाग की टीमें मौके पर पहुंची। जहां से दौ कौओं के सैंपल लिए गए थे। जो जांच के लिए भोपाल लैब में भिजवाए गए थे। जहां से रिपोर्ट मिली है। पशुपालन विभाग के नोडल अधिकारी डॉ. जयप्रकाश परतानी ने बताया कि इसमें बर्ड फ्लू से दोनों की मौत सामने होना सामने आया है। इस पर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए है। वहीं गत दिनों पशुपालन विभाग की टीमों ने गादोला तालाब और घोंटारसी तालाब से १०-१० प्रवासी पक्षियों के बीट के सैंपल लिए। इसके साथ ही बसाड़ गांव में तीन पॉल्ट्री फार्म से सैंपल लिए गए। जिसमें २० सैंपल मुर्गियों के बीट के लिए गए थे। जबकि तीन सैंपल सीरम के लिए गए थे। इन सैंपल को राज्य रोग निदान केन्द्र जयपुर लैब में भिजवाया गया है। इनकी रिपोर्ट का इंतजार है।
-=-=-बाहर से नहीं मंगाए कुक्कुट
जिले के आसपास के प्रदेशों और जिलों में बर्ड फ्लू फैल चुका है। वहीं प्रतापगढ़ में भी बर्ड फ्लू ने दस्तक दी है। ऐसे में पशुपालन विभाग की ओर से इसके लिए विशेष दिशा-निर्देश जारी किए गए है। जिसमें जिले के पॉल्ट्री फार्म संचालकों को सावचेती बरतने के निर्देश दिए गए है। इसके तहत बाहर से कुक्कुट और चूजे नहीं मंगवाने के लिए निर्देश दिए गए है। इसके साथ ही अन्य पक्षियों के सम्पर्क से बचने के लिए कहा गया है।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned