scriptBirds tied for birds, resolved to fill water | Birds tied for birds पक्षियों के लिए बांधे परिंडे , पानी भरने का लिया संकल्प | Patrika News

Birds tied for birds पक्षियों के लिए बांधे परिंडे , पानी भरने का लिया संकल्प

Birds tied for birds पक्षियों के लिए बांधे परिंडे , पानी भरने का लिया संकल्प

प्रतापगढ़

Published: May 04, 2022 01:57:18 pm


प्रतापगढ़. राजस्थान पत्रिका के पक्षीमित्र अभियान के तहत शहर और गांवों में परिंडे बांधे जा रहे है। इनमें रोजाना पानी भरने का संकल्प लिया जा रहा है। इन दिनों भीषण गर्मी बढ़ती जा रही है। ऐसे में बेजुबान पक्षी पानी पीने के लिए भटक रहे हैं। ऐसे मे पक्षियों के लिए दाना पानी ेक लिए जगह-जगह परिण्डे लगाए जा रहे है। ताकि इन पक्षियों को पीने का पानी आसानी से उपलब्ध हो सके। जिला विकास जन संघर्ष समिति की ओर से अभियान के तहत सुधीर हड़पावत एवं अर्पित सालगिया के सहयोग से सुभाष चौक और न्यायगरो की गली में परिण्डे बांधे गए। साथ ही परिण्डे वितरण किए गए हैं। जिला विकास जन संघर्ष समिति के महामंत्री राजेन्द्र खत्री ने बताया कि पक्षियों के लिए परिण्डे लगाने के इस पुनीत कार्य मे भारतङ्क्षसह, मोतीबाई जाट, पुष्पेन्द्र ङ्क्षसह, सुनील टिण्डोला ने परिण्डे लगाने मे सहयोग प्रदान किया। परिण्डे लगाने वाले सभी को इन परिण्डों मे प्रतिदिन पानी भरने का संकल्प दिलाया गया।
दलोट. गर्मी में पानी को अमृत के समान माना जाता है। इस गर्मी में पशु पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए लोगों को प्रयास करना चाहिए। इसी प्रयास में कस्बे के निजी चिकित्साल के डॉ. प्रहलाद कुमावत ने करीब ढाई सौ पङ्क्षरडे खरीद कर लोगों को बांट दिए। लोगो को पक्षियों के लिए दाना पानी रखने के लिए प्रेरित किया। डॉ. कुमावत ने बताया कि गर्मियों में कई पङ्क्षरदों व पशुओं की मौत पानी की कमी के कारण हो जाती है। लोगों का थोड़ा सा प्रयास घरों के आस पास उडऩे वाले पङ्क्षरदों की प्यास बुझाकर उनकी ङ्क्षजदगी बचा सकता है। लोग पक्षियों से प्रेम करें और उनका विशेष ख्याल रखें। आने वाले सप्ताह में और अधिक गर्मी पडऩे की संभावना है। गर्मी में मनुष्य के साथ-साथ सभी प्राणियों को पानी की आवश्यकता होती है। मनुष्य तो पानी का संग्रहण कर रख लेता है। लेकिन पङ्क्षरदे व पशुओं को तपती गर्मी में यहां-वहां पानी के लिए भटकना पड़ता है।
चिकित्सा शिविर लगाया
प्रतापगढ़. संविदा होम्योपैथिक चिकित्सकों की ओर से मंगलवार को आम छाप पैट्रोल पम्प के सामने संजीवनी होम्योपैथिक सेंटर पर निशुल्क चिकित्सा शिविर लगाया गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जन्मदिवस के मौके पर आयोजित इस शिविर में बड़ी संख्या में लोगों ने निशुल्क होम्योपेथिक चिकित्सा का लाभ लिया। शिविर में संविदा होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ विश्वनाथ ङ्क्षसह की टीम ने चिकित्सा सेवा दी। डॉ ङ्क्षसन्ह ने बताया कि राज्य में करीब 6 वर्षों से 571 होम्योपैथिक चिकित्सक संविदा पर कार्यरत है, जो नियमितिकरण की मांग को लेकर पिछले 84 दिनों से जयपुर में होम्योपैथिक निदेशालय के बाहर धरने पर बैठे हैं। ये विभाग द्वारा सरकार को भेजे गए 656 नये होम्योपैथिक डॉक्टरों के पदों को सृजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी देने की मांग कर रहे है। जयपुर में धरने स्थल पर अब तक 2 बार रक्तदान शिविर का आयोजन, 2 बार निशुल्क चिकित्सा शिविर, सद्बुद्धि यज्ञ आदि कई कार्यक्रम किये जा चुके हैं, साथ ही दो बार विधानसभा का घेराव भी किया जा चुका है। संविदा होम्योपैथिक चिकित्सकों की मांगों के समर्थन में राज्य के 161 विधायक मुख्यमंत्री गहलोत को पत्र लिख चुके है।
Birds tied for birds पक्षियों के लिए बांधे परिंडे , पानी भरने का लिया संकल्प
Birds tied for birds पक्षियों के लिए बांधे परिंडे , पानी भरने का लिया संकल्प

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थाकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मMenstrual Hygiene Day 2022: दुनिया के वो देश जिन्होंने पेड पीरियड लीव को दी मंजूरी'साउथ फिल्मों ने मुझे बुरी हिंदी फिल्मों से बचाया' ये क्या बोल गए सोनू सूदभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हेमंत सरकार पर बड़ा हमला, कहा - 'जब तक सत्ता से बाहर नहीं करेंगे, तब तक चैन से नहीं सोएंगे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.