खुदी सडक़ों पर फूटा गुस्सा

खुदी सडक़ों पर फूटा गुस्सा

Rakesh kumar Verma | Publish: Nov, 14 2017 06:35:55 PM (IST) Pratapgarh, Rajasthan, India

-एडीएम को की शिकायत

-सहायक अभियंता और कंपनी प्रतिनिधि को बताई समस्या
-पुनर्गठित शहरी पेयजल योजना का मामला
प्रतापगढ़.
शहर में पुनर्गठित शहरी पेयजल योजना अंतर्गत शहर की वैद्यराजजी की गली, भाटपुरा गली, कोतवाल साहब की गली सहित अन्य कई गलियों में पाइप लाइन डालने के लिए खुदाई के बाद लम्बे समय से सडक़ों पर फैली मिट्टी को नहीं हटाने से आक्रोशित लोगों को गुस्सा मंगलवार को फूट पड़ा। नरेंद्र मोदी विचार मंच के जिला अध्यक्ष गजेंद्र चंडालिया ने अतिरिक्त जिला कलक्टर से इसकी शिकायत करते हुए बताया की सडक़ पर खुदे गड्ढों और जगह-जगह लगे मिट्टी के ढेर से लोग परेशान और दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। जलदाय विभाग पुनर्गठित शहरी पेयजल योजना के सहायक अभियंता एवं पाइप लाइन डालने वाली कंपली के प्रतिनिधि को मौके पर बुलाकर हालात की जानकारी से अवगत कराया गया। उनसे जब कहा गया की विभाग और सम्बंधित निर्माण कम्पनी की ओर से निर्धारित मापदंडों की पालना नहीं हो रही है। खुदाई वाली जगहों पर सूचना बोर्ड नहीं लगाए जा रहे वहीं जहां पाइप लाइन डल गई है वहां भी सडक़ समतलीकरण का कार्य नहीं किया जा रहा है, तो वे कोई जवाब नहीं दे पाए। उन्होंने कार्य में भ्रष्टाचार की जांच की भी मांग की।

---------------------------------------------------------------------------

विधिक जागरूकता दिवस मनाया
-विधिक चेतना रैली का आयोजन
प्रतापगढ़.
राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार प्रतापगढ न्यायक्षेत्र में बालकों के लिए विधिक जागरूकता दिवस के विशेष कैम्पेन के तहत रैली का आयोजन किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव विक्रम सांखला ने बताया कि नगरपरिषद प्रांगण से भारत स्काउट एवं गाईड्स की ओर से विधिक चेतना रैली का आयोजन किया गया। रैली को जिला एवं सेशन न्यायाधीश एवं अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राजेन्द्र सिंह ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। रैली में शामिल स्काउट गाइड व छात्राएं बाल विवाह संबंधी बेनर्स एवं पोस्टर थामें नगरपरिषद प्रांगण से रवाना होकर किला परिसर स्थित बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रतापगढ़ पहुंचे। रैली के समापन स्थल विद्यालय प्रांगण पर बालकों की जागरूकता के लिए शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम संचालक सुरेन्द्र सुमन ने बिटिया रानी है घर की शान शीर्षक आधारित कविता पाठ के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। विद्यालय प्रिंसिपल विमला शर्मा ने शिक्षा के महत्व के बारे में बताया। जिला शिक्षा अधिकारी हेमन्त कुमार उपाध्याय ने बालकों कों जीवन में सफलता पाने के लिए नियमित विद्यालय में उपस्थिति, घर पर नियमित पढ़ाई और हर विषय पर आपस में चर्चा-परिचर्चा करने के तीन सूत्र बताए। वर्तमान शिक्षा पद्धति के बारे में बताया कि आज की परीक्षाओं में पूछे सवाल केवल किताबी ज्ञान पर ही आधारित न होकर बालकों की समझ पर भी आधारित होते हैं, इसलिये हमें प्रत्येक टॉपिक पर आपसी वार्ता कर अपनी जिज्ञासाओं को शान्त करते हुए उसकी समझ होनी चाहिए। बालकों को जीवन में शिक्षा का महत्व बताते हुए प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव विक्रम सांखला ने बताया कि जीवन में केवल परीक्षा पास करने के लिये किसी भी विषय को रटने भर से सफलता नहीं मिल सकती। रटने की आदत से केवल परीक्षा में पास हो सकते हैं किन्तु जीवन में अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं किया जा सकता। जीवन में निश्चित सफलता प्राप्त करने के लिये हर विषय को समझना जरूरी है। कार्यक्रम के समापन पर पूर्णकालिक सचिव ने बाल विवाह नहीं करने व नहीं करवाने तथा बाल विवाह का विरोध करने की शपथ दिलाई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned