नए न्यायलय परिसर में हुए विवाद का मामला: जनप्रतिनिधि समस्या का समाधान निकालें: जिला न्यायाधीश

नए न्यायलय परिसर में हुए विवाद का मामला: जनप्रतिनिधि समस्या का समाधान निकालें:  जिला न्यायाधीश
नए न्यायलय परिसर में हुए विवाद का मामला:जनप्रतिनिधि समस्या का समाधान निकालें: जिला न्यायाधीश

Hitesh Upadhyay | Updated: 23 Sep 2019, 07:07:19 PM (IST) Pratapgarh, Pratapgarh, Rajasthan, India

बातचीत के जरिए निकालेंगे हल : विधायक

 

प्रतापगढ़.मिनी सचिवालय में नए न्यायालय परिसर का दरवाजा निकालने के मामले में वकीलों और पुलिस प्रशासन में हुए विवाद के बाद सोमवार को अभिभाषक संघ ने बैठक आहूत की। इस बैठक में जिला एवं सेशन न्यायाधीश राजेंद्र कुमार शर्मा और विधायक रामलाल मीणा भी मौजूद थे। इस मौके पर न्यायाधीश शर्मा ने कहा कि जनप्रतिनिधि का यह कर्तव्य है कि वह जो भी समस्या है तुरंत उसका समाधान निकालें एवं अगर समस्या का समाधान बातचीत के जरिए निकाला जाता है तो वह अति उत्तम है। न्यायाधीश ने कहा कि कानून का राज स्थापित होना चाहिए। विधायक ने भी कहा कि यह स्थानीय समस्या है। इसका हल बातचीत के जरिए ही निकलना चाहिए। इस बीच अधिवक्ताओं ने कहा कि जब तक अभद्र व्यवहार के दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती। आंदोलन जारी रहेगा।
बैठक में विधायक ने कहा कि 19 सितंबर को जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा नवीन न्यायालय भवन के प्रवेश द्वार को लेकर जो घटनाक्रम हुआ है, उसके संदर्भ में उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अवगत करा दिया है। सरकार शीघ्र ही इसका हल निकाल लेगी। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि यह स्थानीय विषय है और इसे बातचीत के जरिए इस विषय को हल करेंगे।
विधायक रामलाल मीणा ने कहा कि प्रतापगढ़ के न्यायालय का भवन भव्य बनना चाहिए। इसका मुख्य द्वार भव्य बने इसमें हम सब का सहयोग जरूरी है इसके साथ ही जिला कलेक्टर का मुख्य द्वार भी भव्य बने इसके लिए फंड की कमी नहीं आएगी
विधायक रामलाल मीणा ने अभिभाषक संघ प्रतापगढ़ को आश्वस्त किया कि नवीन न्यायालय भवन के प्रवेश द्वार के निर्माण का समाधान शीघ्र ही निकाल लिया जाएगा और इसमें किसी भी पक्ष को आपत्ति नहीं रहेगी

जब तक थानाप्रभारी पर कार्रवाई नहीं होगी, तब तक बहिष्कार जारी रहेगा
अभिभाषक संघ के अध्यक्ष सीपी सिंह एवं सचिव रमेश चंद्र शर्मा ने कहा कि जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा नवीन न्यायालय भवन के प्रवेश द्वार के निर्माण कार्य को रुकवा दिया था एवं मौके से जेसीबी जप्त की गई थी एवं ड्राइवर को 5 घंटे तक अवैध रूप से बिठा कर रखा एवं अधिवक्ताओं के लिए अशोभनीय शब्द का प्रयोग कार्यवाहक थाना प्रभारी रमेश कविया ने किया। जिनके विरुद्ध राज्य सरकार आवश्यक कार्यवाही किए जाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि जब तक पुलिस व जिला प्रशासन कठोर दंडात्मक कार्रवाई नहीं करेंगे। तब तक हड़ताल अनिश्चितकालीन जारी रहेगी।
अभिभाषक संघ की ओर से विधायक मीणा का स्वागत अभिभाषक संघ के अध्यक्ष सीपी सिंह एवं वरिष्ठ अधिवक्ता गुणवंत शर्मा, सुनील मेहता एवं राजेंद्र खींची ने विधायक का माल्यार्पण कर स्वागत किया। कांग्रेस नेता सुरेंद्र चंडालिया का भी स्वागत किया गया।
बैठक में अभिभाषक संघ के हड़ताल के समर्थन में अभिभाषक संघ छोटी सादड़ी के अध्यक्ष चंद्रशेखर शर्मा, धरियावद अभिभाषक संघ के अध्यक्ष मोहम्मद रफीक एवं अरनोद अभिभाषक संघ के अध्यक्ष नरेंद्र कुमार शर्मा एवं पीपलखूंट के अधिवक्ताओं ने भी आंदोलन को समर्थन दिया।

उदयपुर के संभाग के अधिवक्ताओं ने दिया ज्ञापन: मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सभी अभिभाषक संस्थान की ओर से दिया गया। इसमें अभिभाषक संस्थान चित्तौडगढ़़ के अध्यक्ष जसवंत सिंह राठौड़, उदयपुर अभिभाषक संघ के अध्यक्ष भरत वैष्णव एवं निंबाहेड़ा राजसमंद एवं बांसवाड़ा जिले के अभिभाषक संघ के द्वारा भी ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम पेश किया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned