पानी में कोलिफॉर्म बैक्टेरिया ने दो सौ लोगों को पहुंचाया था अस्पताल

पानी में कोलिफॉर्म बैक्टेरिया ने दो सौ लोगों को पहुंचाया था अस्पताल

Rakesh kumar Verma | Publish: Jul, 17 2019 08:49:46 PM (IST) Pratapgarh, Pratapgarh, Rajasthan, India

वीरावली में नलकूप के पानी पीने से लोगों की तबीयत बिगडऩे का मामला (Coliform bacteria) (Health)

जांच रिपोर्ट में हुआ खुलासा
प्रतापगढ़. जिले के वीरावली गांव में गत दिनों दूषित पानी पीने से दो सौ अधिक लोगों की तबीयत बिगड़ गई थी। पानी की जांच में पाया गया कि इस पानी में कोलिफॉर्म बैक्टेरिया थे। जिस कारण गांव में एक साथ दो सौ से अधिक लोगों की तबीयत बिगड़ गई थी।हालांकि इस नलकूप के पानी पर प्रशासन ने रोक लगा दी है। लेकिन इसके पास ही एक कुएं में दूषित पानी भरा हुआ है। जिसका पानी जमीन में उतरकर नलकूप में मिला था।इसे देखते हुए इस कुएं का शुद्धिकरण भी किया गया है। लेकिन कुएं के पास के जलस्रोतों में भी इस प्रकार के बैक्टेरिया होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। इसके लिए ग्रामीणों ने अन्य जलस्रोतों के शुद्धिकरण की भी मांग उठाई है।
यह मिली है रिपोर्ट
वीरावली गांव में 11 जून को बीमार होने के बाद पानी के नमूने लिए गए थे।इस पानी की जांच के लिए जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की प्रयोगशाला में भिजवाए गए थे।जहां पानी में कोलिफॉर्म नामक बैक्टेरिया पाए गए है।जो 43 एमपीएन प्रतिशत तक थे। इस पानी को विभाग ने पीने के लिए असुरक्षित रिपोर्ट दी थी।
यह है कोलिफॉर्म बैक्टेरिया
पानी में कोलिफॉर्म बैक्टेरिया कई विषैले जीवाणुओं को फैलने में अहम भूमिका निभाता है।इसकी उपस्थिति में कई प्रकार के घातक बैक्टेरिया पनपते है। जिससे कई प्रकार की जलजनित बीमारियां होती है।वीरावली गांव में जहां नलकूप का पानी पीने के काम में लिया जा रहा था।उसी नलकूप के पास एक कुआं है, जिसमें पूरे गांव का दूषित पानी एकत्रित होता है।ऐसे में इस कुएं में कईविषैले जीवाणु पनपते है।
इक्का-दुक्का अब भी बीमार
गांव में अभी भी उल्टी-दस्त पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है।यहां इसी मोहल्ले से इक्का-दुक्का मरीज रोजाना अरनोद और प्रतापगढ़ जिला चिकित्सालय में पहुंच रहे है।ऐसे में स्थिति अब तक पूर्ण रूप से नियंत्रण में नहीं कही जा सकती है।

Health: पानी पीने से कैसे बिगड़ गई 100 लोगों की तबीयत

पानी में थे बैक्टेरिया, स्थिति नियंत्रण
वीरावली गांव में जिस नलकूप से पानी पीने के काम में लिया जा रहा था।उस पानी की जांच कराईगई।जिसमें कोलिफॉर्म नामक बैक्टेरिया काफी अधिक पा गए है।जिससे यहां गांव में उल्टी-दस्त की शिकायत हुई थी।यहां पानी का शुद्धिकरण कराया गया है। फिर भी इस पानी के उपयोग पर रोक लगाई गई है। यहां स्थिति अब नियंत्रण में है।
डॉ. वीके जैन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, प्रतापगढ़

कोलिफॉर्म बैक्टेरिया की उपस्थित ही घातक
पानी में कोलिफॉर्म नामक बैक्टेरिया की उपस्थिति काफी घातक होती है।इसकी उपस्थिति में कई विषैले प्रकार के बैक्टेरिया काफी तेजी से पनपते है।जिससे कईप्रकार की बीमारियां फैलती है। ऐसे में इस बैक्टेरिया पर नियंत्रण आवश्यक है।
डॉ. ओ पी दायमा
पैथोलोजिस्ट, जिला चिकित्सालय प्रतापगढ़

वीरावली में २० और लोगों को उल्टी-दस्त की शिकायत

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned