जले हुए ट्रांसफॉर्मर निर्धारित समय में बदलें-कलक्टर

-आवश्यक सेवाओं की समीक्षा बैठक आयोजित

By: Rakesh Verma

Published: 14 Nov 2017, 10:38 AM IST

प्रतापगढ़. किसानों को राज्य सरकार के निर्देशानुसार पर्याप्त एवं गुणवत्तायुक्त बिजली मिलनी चाहिए। जले हुए ट्रांसफॉर्मर निर्धारित समय में बदले जाएं, ताकि किसानों का सिंचाई कार्य बाधित नहीं हो तथा वे निर्विघ्न रूप से अपनी फसल ले सकें। जिला कलक्टर नेहा गिरि ने सोमवार को मिनी सचिवालय में आवश्यक सेवाओं की समीक्षा बैठक में यह बात कही। उन्होंने जिले में विद्युत कनेक्शन, विद्युत आपूर्ति आदि को लेकर अधीक्षण अभियंता से फीडबैक लिया और कहा कि राजस्व घाटा कम करने के लिए समुचित प्रयास करें। लोगों को बिजली की बचत के लिए प्रेरित करें। उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना अन्तर्गत कनेक्शनों में प्रगति लाने के निर्देश भी अधीक्षण अभियंता को दिए। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाओं की समीक्षा की और कहा कि आमजन को स्वास्थ्य योजनाओं का समुचित लाभ मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए समुचित उपाय किए जाएं तथा लोगों को जागरुक किया जाए। उन्होंने स्वास्थ्य केंद्रों, अस्पतालों में चल रहे निर्माण कार्यों की जानकारी ली और कहा निर्माण कार्यों में गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने विशेष योग्यजनों के लिए लगाए जा रहे शिविरों की प्रगति में भी तेजी लाने के निर्देश दिए। कलक्टर ने पेयजल विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे प्रतापगढ़ शहर व ग्रामीण इलाकों में पेयजल आपूर्ति व्यवस्था बनाए रखें तथा प्रतापगढ़ शहर में जो खोदी गई पाईप लाईन को जल्दी से जल्दी ठीक कराएं। खुदी हुई सडक़ों के कारण आमजन एवं वाहन चालकों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ता है तथा कई बार ये गड्ढे दुर्घटना का कारण बन जाते हैं। उन्होंने पुरानी सिविल लाईन व नई सिविल लाईन कॉलोनी में कनेक्शनों की वस्तु स्थिति जानीं व हॉस्टलों में कनेक्शन के संबंध में अधिकारियों से फीडबैक लिया। उन्होंने डीपीआर के अनुसार 554 गांवों की स्कीम के अन्तर्गत कामों का रेण्डमली फोलोअप करते रहने व मानसून से पहले-पहले पेयजल के कनेक्शन पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगर पानी गंदा आ रहा है, तो तुरंत समस्या का निस्तारण करें। पेयजल के नमूने लेकर जांच कराते रहें। पानी से संबंधित समस्याओं का त्वरित समाधान करें। उन्होंने एमजेएसए के अन्तर्गत ओपनवेल के काम कराने के भी निर्देश दिए। कलक्टर ने टीएडी उप जिला शिक्षा अधिकारी को टीएडी के स्वीकृत कार्यों की समुचित मॉनीटरिंग के निर्देश दिए। बैठक के दौरान डिस्कॉम अधीक्षण अभियंता आरसी शर्मा, पीएचईडी से एक्सईन एसएल ओस्तवाल, टीएडी परियोजना अधिकारी सुमन मीणा, टीएडी उपजिला शिक्षा अधिकारी भैरूलाल मीणा, चिकित्सा विभाग के जिला कार्यक्रम प्रबंधक सदाकत अहमद आदि अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned