कोरोना का कहर: 52 नए कोरोना सक्रमित रोगी सामने आए


प्रतापगढ़. जिले मेें कोरोना का कहर लगातार बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बता रहे हैं कि रोगियों के पॉजिटिव होने की दर भी बढ़ रही है। इधर, मौतों का सिलसिला निरंतर जारी है। दो दिन पहले दो मौत होने के बाद हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में भी एक वृद्ध ने मंगलवार रात दम तोड दिया। पूरे जिले में एक सप्ताह में चार मौते हुई है, लेकिन अभी स्वास्थ्य विभाग ने इनके कोरोना से मौत होने की पुष्टि नहीं की है।

By: Devishankar Suthar

Updated: 22 Apr 2021, 07:40 AM IST


प्रतापगढ़. जिले मेें कोरोना का कहर लगातार बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बता रहे हैं कि रोगियों के पॉजिटिव होने की दर भी बढ़ रही है। इधर, मौतों का सिलसिला निरंतर जारी है। दो दिन पहले दो मौत होने के बाद हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में भी एक वृद्ध ने मंगलवार रात दम तोड दिया। पूरे जिले में एक सप्ताह में चार मौते हुई है, लेकिन अभी स्वास्थ्य विभाग ने इनके कोरोना से मौत होने की पुष्टि नहीं की है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी डेली कोरोना बुलेटिन के अनुसार मंगलवार रात बारह बजे तक जिले में कोरोना के 52 नए मामले सामने आए। इसमें अकेले प्रतापगढ़ शहर में 22 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इसके बाद प्रतापगढ़ ग्रामीण और छोटीसादड़ी से 11-11, अरनोद से पांच और पीपलखूंट में एक केस सामने आया। अब तक जिले में 866 एक्टिव केस हैं, जबकि 2415 लोग पॉजिटिव हो चुके हैं।
78.79 से गिरकर 63.11 प्रतिशत पर आई रिकवरी रेट
चिंताजनक यह है कि कोरोना से ठीक होने की दर लगातार कम होती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों की माने तो गत 13 अप्रेल को रिकवरी रेट 78.79 प्रतिशत थी यानि सौ में से 78.79 मरीज ठीक हो चुके थे। जबकि 20 अप्रेल को यह दर 15.68 गिरकर 63.11 पर आ गई। इसी प्रकार कोरोना पॉजिटिव की रेट बढ़ रही है, गत सप्ताह यह 2.42 थी, जो अब 3.07 हो गई। कोरोना से मृत्यु दर में गत वर्ष की पहली लहर की बजाय दूसरी लहर में इजाफा ही हुआ है, जो चिंताजनक है। गत वर्ष यह कोरोना से मौत की दर .80 से .98 तक थी। अब इस अप्रेल में यह दर एक प्रतिशत से अधिक है।
अरनोद में 17 और पॉजिटिव मिले
अरनोद. क्षेत्र में कोरोना के आंकड़े लगातार बढ़ते जा रहे है। ऐसे में चिकित्सा विभाग भी सतर्क हो गया है। वहीं सैंपलिंग की संख्या भी बढ़ा दी है। चिकित्सा विभाग की ओर से मिली रिपोर्ट में बुधवार को 17 और पॉजिटिव मिले है। इसके साथ ही बुधवार को 117 लोगों के सैंपलि लिए गए है। नोडल प्रभारी परमेश्वरसिंह ने बताया कि पॉजिटिव मिले लोगों के घरों पर पहुंचकर चिकित्सा टीम ने आवश्यक दिशा-निर्देश दिए है।
धरियावद में बेकाबू संक्रमण, 50 नए मरीज मिले
धरियावद. तहसील क्षेत्र में संक्रमण की दूसरी लहर बेलगाम होने लगी नगर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण फैलाव के चलते अब इसकी बेकाबू रफ्तार ने आमजनों की चिंता बढ़ा दी है। बुधवार को मेडिकल जांच रिपोर्ट में 50 लागों में संक्रमण की पुष्टि हुई। इनमें धरियावद कस्बे में 37 एवं ग्रामीण क्षेत्र में 13 लोगों में संक्रमण मिला।
सूचना पर कोविड टीम के कमलेश कोठारी, अभिषेक भंवरा, उर्मिला स्वर्णकार मय मेडिकल टीम ने संक्रमितों को आईसोलेट किया।
इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्रों में मूंगाणा, खुंता, पायरा, चितोडिया, मांडवी से संक्रमित मिले हैं। वहीं दूसरी ओर एक्टिव केस की संख्या 200 के पार हो गई है। चिकित्सा के आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में पूरे तहसील क्षेत्र में 221 से अधिक एक्टिव केस हो चुके हैं।हाउसिंग बोर्ड में वृद्ध ने घर में दम तोड़ा, बहू जिला अस्पताल में
हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में मंगलवार रात को कई दिनो से बीमार वृद्ध ने दम तोड़ दिया। पड़ोसियों ने बताया कि पूरे परिवार में से दो जने कोरोना से पीडि़त था। कुछ दिनों पहले ही रतलाम से यहां आए थे। परिवार की बहू का जिला अस्पताल में कोरोना से इलाज चल रहा है। वृद्ध ने मंगलवार रात को दम तोड़ा। उसका कोरोना प्रोटोकोल के तहत अंतिम संस्कार हुआ। इससे पहले निकटवर्ती कुलमीपुरा में एक ही परिवार के दौ लोगों की मृत्य हो गई थी। यहां पूरा परिवार कोरोना पीडि़त था।
एक सप्ताह में चार से मौतें, विगागीय रिकॉर्ड में नहीं हुई अपडेट
जिले में एक सप्ताह में चार संदिग्ध मौते हुई है, जिनका कारोना प्रोटोकोल से अंतिम संस्कार हुआ है। हालांकि चिकित्सा विभाग की रिपोर्ट में पिछले एक सप्ताह से 25 मौते ही दिखाई जा रही है। इन मौतों के बारे में स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि इनकी रिपोर्ट जयपुर भेजी गई है। वहां से अनुमति मिलने के बाद ही कारेोना से मृत्यु मानी जाएगी।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned