कोटड़ी में मिला मृत कौआ, चोंट से मौत की पुष्टि

प्रतापगढ़. जिले में गत दिनों एमपी के सटे गांवों में कौऔं के मृत होने पर बर्ड फ्लू की आशंका गहरा गई है। इसे लेकर पशुपालन विभाग और वन विभाग को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं आमजन से भी अपील की गई है कि कोई भी पक्षी मृत पाया जाए तो इसकी सूचना विभागीय कर्मचारियों को दी जाए।

By: Devishankar Suthar

Published: 09 Jan 2021, 02:24 PM IST


जिले में बर्ड फ्लू की आंशका से अलर्ट
-पशुपालन विभाग और वन विभाग को सतर्क रहने के निर्देश
प्रतापगढ़. जिले में गत दिनों एमपी के सटे गांवों में कौऔं के मृत होने पर बर्ड फ्लू की आशंका गहरा गई है। इसे लेकर पशुपालन विभाग और वन विभाग को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं आमजन से भी अपील की गई है कि कोई भी पक्षी मृत पाया जाए तो इसकी सूचना विभागीय कर्मचारियों को दी जाए। जिले में बर्ड फ्लू को लेकर भोपाल भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट के बाद ही आगे कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही अब प्रवासी पक्षियों के भी सैंपल लिए जाएंगे। इसके लिए आवश्यक सामग्री उदयपुर से आने वाली है। इसके बाद ही सैंपलिंग की जाएगी।
अरनोद तहसील क्षेत्र के कोटड़ी गांव में मिला मृत कौए की मौत चोंट के कारण हुई है। इसकी पुष्टि के बाद कौए के शव को दफना दिया गया। वन विभाग के फोरेस्टर अब्दुल सलीम शेख ने बताया कि तहसीलदार मनोहरलाल कुमावत के निर्देश पर वन विभाग और पशु पालन विभाग की टीम कोटड़ी गांव पहुंचे। जहां कौआ मृत था। इसे अरनोद पशु चिकित्सालय लाया गया। जहां पशुचिकित्सक ने बताया कि इसके पंख के नीचेे चोंट का का निशान था। संभवतया इसकी मौत इसी कारण हुई। इस पर कौए का शव दफना दिया गया। वहीं दूसरी ओर क्षेत्रीय वन अधिकारी दारासिंह राणावत ने बताया कि वन विभाग की ओर से प्रवासी पक्षियों के तालाबों पर निगाह बनाए रखे हुए है।
जिले के नानणा गांव में गत दिनों पांच कौऔं के मृत मिलने से पशुपालन विभाग और वन विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे थे। जहां मरे हुए कौओं के सैंपल को भोपाल प्रयोगशाला भेजा गया। क्षेत्रीय वन अधिकारी प्रतापगढ़ दारासिंह राणावत ने बताया कि नानना गांव में मिले मृत कौए के सैंपल को वन विभाग एवं पशुपालन विभाग संयुक्त तत्वावधान में सैंपल लिए गए। जो भोपाल प्रयोगशाला में वनरक्षक सुनील लबाना साथ भिजवा दिए। इसकी रिपोर्ट पशुपालन विभाग को मिलेगी। उसके बाद ही पता चल पाएगा कि इन कौओं की मौत का कारण क्या रहा। प्रयोगशाला में भेजे जाने वाले सैंपल की पूरी प्रक्रिया पशु चिकित्सक जयप्रकाश परतानी के नेतृत्व में की गई।
मोवाई. निकटवर्ती कोटड़ी गांव में एक कौआ मृत पाया गया। इससे लोगों में बर्ड फ्लू की चिंता हो गई।
राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग एंटी करप्शन मिशन के जिला उपाध्यक्ष राजेंद्रसिंह शक्तावत ने इसकी सूचना वन विभाग के वनरक्षक राजेंद्र नाई व पशु चिकित्सा विभाग के एलएसए रितेश कटारा को दी। जहां मौके पर पहुंचे। इस कौए की मौत किसी अन्य पक्षी द्वारा किए जाना सामने आया है।
जलाशयों एवं तालाबों पर विशेष निगरानी
धरियावद. जिले में बर्डफ्लू की आशंका में वन विभाग की टीम सतर्क हो गई है। सहायक वनसरक्षंक सुनिलकुमार सिंह के निर्देशन में धरियावद वन्यजीव अभ्यारण की टीम भी अर्लट मोड पर हैं। क्षेत्रीय सीतामाता वन्यजीव अधिकारी मनोजकुमार औदिच्य के नेतृत्व में टीम ने स्थानीय समिति सदस्यों एवं ग्रामीणों के सहयोग व अन्य संसाधनों की मदद से प्राकृतिक जलाशयों सहित पक्षियों के विचरण स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान क्षेत्रीय वन्यजीव अधिकारी औदिच्य ने टीम को संक्रमण की रोकथाम को लेकर विशेष चौकसी एवं सर्तकता बरतने के लिए कहा। किसी प्रकार की घटना या महत्वपूर्ण जानकारी से तत्काल विभागीय अधिकारी या मुख्यालय को अवगत करवाने के निर्देश दिए। क्षेत्रीय वन अधिकारी तेजपाल मीणा के निर्देशन में वन विभाग के अधीनस्थ नाकों पर विभाग की निगरानी टीम ब्लॉक के जंगली क्षेत्रों एवं पंचायतवार जलाशयों पक्षी आश्रय स्थल सहित जगहों पर निगरानी चौकसी बढा दी हैं। इनके साथ साथ सहयोग के लिए पशुचिकित्सालय के पशुचिकित्सकों की टीम भी सहयोग कर रही है।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned