विदा होते मानसून की बारिश ने किया बिगाड़ा

प्रतापगढ़. इन दिनों मानसून की विदाई हो रही है। वहीं जाते मानसून के दौराना रोजाना मौसम बिगड़ रहा है। ऐसे में किसानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिले में रविवार को सुबह से ही उमस और तपन का दौर रहा। वहीं दोपहर बाद आसमान में काले बादल छा गए। जिले के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश हुई। इससे खेतों से पानी बहकर निकला। वहीं कई खेतों में कटी फसलों में नुकसान हो गया।

By: Devishankar Suthar

Published: 11 Oct 2021, 07:37 AM IST


जिले में कई इलाकों में मूसलाधार बारिश
-खेतों में कटी फसलों में नुकसान
प्रतापगढ़. इन दिनों मानसून की विदाई हो रही है। वहीं जाते मानसून के दौराना रोजाना मौसम बिगड़ रहा है। ऐसे में किसानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिले में रविवार को सुबह से ही उमस और तपन का दौर रहा। वहीं दोपहर बाद आसमान में काले बादल छा गए। जिले के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश हुई। इससे खेतों से पानी बहकर निकला। वहीं कई खेतों में कटी फसलों में नुकसान हो गया। शाम को धूप निकल आई। ऐसे में किसान भी बारिश में भिगी फसलों को सूखाने में जुट गए।
असावता. क्षेत्र में रविवार को तेज हवा के साथ मूसलाधार बारिश हुई। बारिश से काफी नुकसान हो गया। निकटवर्ती सेमली जोशी गांव में एक कच्चा मकान ढह गया। यहां चंद्रपालसिंह पंवार का कच्चा मकान ढह गया। इससे काफी नुकसान हो गया। मकान की दीवार ढहने से काफी सामान दब गया।
बची फसलों में भी पानी
प्रतापगढ़. जिले में पहले ही खरीफ की फसलों में काफी खराबा हो गया है। वहीं रविवार को जिले के कई इलाकों में हुई बारिश से खेतों में कटी फसलें पानी में भीग गई है। ऐसे में किसानों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। किसानों ने बताया कि इस वर्ष अतिवृष्टि के कारण फसलें खराब हो गई है। कई खेतों में फसलों में गलन की समस्या हो गई है। जिससे किसानों को इस वर्ष मेहनत भी नहीं मिल पा रही है। ....
सोयाबीन फसल की कटाई को लेकर मजदूरों की उमड़ रही भीड़
प्रतापगढ़. जिले भर में इन दिनों किसान खेत.खलिहानों में व्यस्त हो गए हैं। अभी सोयाबीन फसल कटाई में लग गए हैं। खेतों में सोयाबीन की खड़ी फसलों कटाई के लिए जहां मजदूरों की जरूरत पड़ती है। वहीं दूसरी और इन दिनों मजदूरों का भी जगह.जगह जमावड़ा लगने लग गया हैं। शहर के एनएच स्थित नीमच नाके पर रोजाना सुबह बड़ी संख्या में श्रमिकों का जमावड़ा लग जाता हैं। शहर से एनएच के गुजर ने के कारण यहां हादसे की आशंका भी बनी रहती हैं। प्रशासन की ओर से कई बार मजदूरों को खड़े रहने की जगह को भी बदला गया, लेकिन अनदेखी के चलते मजदूरों का जमावड़ा रोजाना सुबह एनएच पर लग जाता हैं।
रहती है मजदूर नहीं मिलने की समस्या
फसल की कटाई के मौसम में अधिकतर किसानों को एलर्जी, खांसी और जुकाम की समस्या हो जाती है। वर्तमान में इसको लेकर किसान चिंतित हैं। उन्हें लग रहा है कि कहीं वह भी तो संक्रमण का शिकार नहीं हो गए हैं। इसलिए कुछ किसान तो फसलों से दूरी बना चुके हैं। वहीं, कुछ किसान फसलों के कामकाज में जुटे हैं। इतना ही नहीं इससे फसल की कटाई में मजदूरों के मिलने की भी समस्या आ रही है।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned