सरकारी खरीद से बढ़ी आस

जिले में समर्थन मूल्य पर लहसुन की खरीद से भूमिपुत्रों को मिल रहा लाभ

By: rajesh dixit

Published: 16 May 2018, 10:57 AM IST


जिले में समर्थन मूल्य पर लहसुन की खरीद से भूमिपुत्रों को मिल रहा लाभ
प्रतापगढ़ कृषि मंडी में हो रही खरीद
प्रतापगढ़
एक तरफ जहां लहसुन के भाव काफी कम मिलने से किसान मायूस थे, वहीं समर्थन मूल्य पर जिले में हो रही खरीद से भूमिपुत्रों की उम्मीद बढ़ गई है। बाजार भाव से अधिक भाव मिलने से किसानों में जहां खुशी है। वहीं इसकी खरीद की आगे बढ़ाने की मांग भी किसानों ने उठाई है।
समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना और सरसों की खरीद होने के बाद लहसुन की भी समर्थन मूल्य पर खरीद करने की मांग किसानों ने की थी। इसे देखते हुए सरकार ने नैफेड के माध्यम से यहां जिला मुख्यालय पर कृषि मंडी में चार मई से खरीद शुरू की गई। इसके तहत समर्थलन मूल्य 32 सौ 57 रुपए प्रति क्विंटल रखा गया। यहां अब तक कुल चार हजार 401 क्विंटल लहसुन की खरीद की गई है। केन्द्र पर 138 किसानों की लहसुन की तुलाई हो चुकी है। नैफेड के किस्म निरीक्षक धनपाल निनामा ने बताया कि यहां से लहसुन खरीदने के बाद नई दिल्ली आजादपुर पहुंचाई जा रही है। वहीं खरीद के लिए 18 मई तक निर्धारित की गई है। इसे देखते हुए किसानों ने तिथि को आगे बढ़ाने की मांग की है।
छोटी लहसुन की नहीं खरीद
यहां लहसुन की साइज छोटी होने पर छंटनी कराई जा रही है। ऐसे में किसानों को लहसुन की छंटाई कर लानी है। किस्म निरीक्षक धनपाल निनामा ने बताया कि छोटी साइज की लहसुन नहीं लाए। उन्होंने किसानों से अपील की है कि वे लहसुन की ग्रेडिंग करके ही केन्द्र पर लाएं।
आगे बढ़ाएं तिथि
किसानों ने लहसुन की खरीद की अंतिम तिथि आगे बढ़ाने की मांग की है। किसान संघर्ष समिति के मदनलाल आंजना कामलिया ने बताया कि इससे किसानों को लाभ होगा।
गेहूं की अब तक हुई 15 हजार 215 क्विंटल
यहां कृषि उपज मंडी में समर्थन मूल्य पर की जा रही गेहूं की खरीद में अब तक 15 हजार 215 क्विंटल की खरीद हो चुकी है। यहां एफसीआई की ओर से की जा रही खरीद में अब तक दो सौ 98 किसानों ने गेहूं तुलाया है। किस्म निरीक्षक विनोद नारोलिया ने बताया कि केन्द्र पर आने वाले किसानों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होता है। इसके बाद मोबाइल पर मैसेज आने पर केन्द्र पर किसानों को गेहूं लेकर जाना पड़ता है। यहां कुल 298 किसानों को दो करोड़ 63 लाख 98 हजार रुपए का भुगतान किया जा चुुका है।

rajesh dixit Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned