जालोर से लापता युवक दलोट में मिला

जालोर से लापता युवक दलोट में मिला
pratapgarh

Rakesh kumar Verma | Updated: 04 Jun 2019, 03:50:21 PM (IST) Pratapgarh, Pratapgarh, Rajasthan, India


दोस्त के यहां रह रहा था
दलोट(प्रतापगढ़)


दोस्त के यहां रह रहा था
दलोट(प्रतापगढ़)
जालोर जिले से करीब एक माह पहले घर से बिना बताए निकला युवक सोमवार को प्रतापगढ़ जिले के दलोट में मिल गया। जालोर पुलिस और सालमगढ़ पुलिस ने उसे डिटेन किया। जालोर पुलिस उसे अपने साथ ले गई।
सालमगढ़ थाना प्रभारी बुद्धाराम विश्नोई ने बताया कि जालोर जिले के चितलवाना थाना इलाके के परावा गांव का प्रवीण(२१) पुत्र अगराराम विश्नोई सात मई को घर पर बिना बताए निकल गया था। जो यहां दलोट में अपने एक परिचित के यहां रहने लगा था। इस दौरान जालोर पुलिस को सूचना मिली कि प्रवीण अभी दलोट में रह रहा है। इस पर जालोर पुलिस के हेड कांस्टेबल भेरूसिंह व सिपाही गंगासिंह प्रतापगढ़ जिले में आए। जहां सालमगढ़ थाने के सुरेश विश्नोई व राकेश को साथ लेकर वे दलोट पहुंचे। जहां प्रवीण को डिटेन किया। प्रवीण को लेकर पुलिस जालोर रवाना हो गई।

42 किलो डोडा चूरा परिवहन करते एक गिरफ्तार
अरनोद
अरनोद पुलिस ने डोडा चूरा परिवहन करते एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।
थाना प्रभारी धर्मसिंह मीणा ने बताया कि सोमवार को मोहेड़ा से दिवाला गांव जाने वाले रास्ते पर नाकाबन्दी की जा रही थी। इस दौरान एक बाइक पर युवक को रोका। युवक ने अपनी पहचान श्रीपाल पुत्र उदयराम थोरी निवासी दिवाला थाना अरनोद बताई। उसके पास 42 किलो डोडा चूरा पाया गया। पुलिस ने उसे एनडीपीएस के तहत गिरफ्तार किया है।

5 दिन में कार्य शुरू नहीं करने पर दी मुख्य रोड पर जाम की चेतावनी
खस्ताहाल सडक़ का ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन
प्रतापगढ़
पिछले कई वर्षों से खस्ताहाल प्रतापगढ़-रतलाम राजमार्ग बन्द पड़े निर्माण कार्य को चालू कराने को लेकर सोमवार को ग्रामीणों ने जिला कलक्टर के नाम अतिरिक्त जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा है। जिसमें ग्रामीणों ने मांग की है कि इस मार्ग का कार्य पंच दिन में शुरू कराया जाए। कार्य शुरू नहीं होने पर आंदोलन किया जाएगा। ज्ञापन में बताया कि पिछले कई सालों से प्रतापगढ़-रतलाम राजमार्ग प्रतापगढ़ से मध्यप्रदेश सीमा तक पूरी तरह से उखड़ चुका है। इसका ठेका भी गत वर्ष हुआ है। इसके लिए कुछ माह पहले कार्य शुरू किया गया था। लेकिन इस कार्य को तीन माह से बंद किया हुआ है। सडक़ निर्माण स्वीकृति के बाद ठेकेदार द्वारा प्रतापगढ़ से अरनोद तक पूरी सडक़ खोदने से सडक़ पर बड़े-बड़े पत्थर निकले हुए है। धूल से राहगीरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिससे कई राहगीर घायल हो चुके है। विशेष रूप छात्र-छात्राओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। खराब सडक़ के चलते कई विद्यार्थी समय पर विद्यालय नहीं जा रहे है। ग्रामीणों ने बताया कि बरसात में यह मार्ग पूर्ण रूप से बंद हो जाएगा। जिससे आम जन जीवन अस्त व्यस्त हो जाएगा। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि 5 दिनों में सडक़ कार्य चालू नहीं होगा तो सडक़ जाम की जाएगी। ज्ञापन देने में धर्मेंद्र जैन, दशरथ राव, नटवर टेलर, गौरव सुथार, देवीलाल तेली, लोकेश सुथार, मोहनलाल मीणा, श्यामलाल शर्मा सहित कई ग्रामीण उपस्थित थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned