संयुक्त निदेशक ने किया छोटीसादड़ी का आकस्मिक निरीक्षण


प्रतापगढ़.छोटीसादड़ी. माध्यमिक शिक्षा निदेशालय बीकानेर के संयुक्त निदेशक युगल बिहारी दाधीच ने मंगलवार को छोटी सादड़ी ब्लॉक, गुलाबचंद मेवाड़ी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, हरीश आंजना राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, स्वरूपगंज, सेमरडा आदि विद्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया।

By: Devishankar Suthar

Published: 06 Oct 2021, 08:47 AM IST


प्रतापगढ़.छोटीसादड़ी. माध्यमिक शिक्षा निदेशालय बीकानेर के संयुक्त निदेशक युगल बिहारी दाधीच ने मंगलवार को छोटी सादड़ी ब्लॉक, गुलाबचंद मेवाड़ी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, हरीश आंजना राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, स्वरूपगंज, सेमरडा आदि विद्यालय का आकस्मिक निरीक्षण किया।
गुलाबचंद मेवाड़ी राउमावि के संस्था प्रधान गोपाललाल राठौड़ व शिक्षकों ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। गुलाबचंद मेवाड़ी में चल रहे नव निर्माण का अवलोकन किया। अन्य विद्यालयों के शैक्षिक, सह.शैक्षिक, भौतिक गतिविधियों का अवलोकन कर गुणवत्तापूर्ण उन्नयन को लेकर आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही कोरोना एसओपी पालना के निर्देश दिए। कक्षा 6, 8 व 10 के बालकों का स्तर परख कर गुणवत्ता उन्नयन के लिए एनएएस की तैयारी की जानकारी ली। रैंकिंग, उन्नयन के लिए सीबीईओ कार्यालय व सभी विद्यालयों को निर्देश दिए गए। वहीं बालिका छात्रावास का निरीक्षण करने पहुंचे। जहां भोजन की गुणवत्ता की परख की। वहीं वार्डन को समस्त सुविधाएं सुव्यवस्थित संधारित करने, सह शैक्षिक उन्नयन को लेकर योजना बनाकर उसके अनुसार उपचारात्मक शिक्षण संचालन के निर्देश दिए। इस अवसर पर एसीबीईओ लक्ष्मीनारायण शर्मा, सुरेशकुमार, चंद्रप्रकाश साहू, महेश शर्मा आदि मौजूद थे।
=-=--=
करजू में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन
छोटीसादड़ी/करजू. राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशन में ताल्लुका विधिक सेवा समिति छोटीसादड़ी की ओर से करजू में शिविर लगाया गया।
तालुका के अध्यक्ष और अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देवेन्द्रसिंह पंवार ने बताया कि करजू में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर का आयोजन आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर आजादी के अमृत महोत्सव के तहत शिविर में जानकारी दी गई।
शिविर में न्यायाधीश ने जीवन जीने के अधिकार, नि:शुल्क अनिवार्य शिक्षा के अधिकार, शोषण के विरूद्ध अधिकार, कारखानों में नियोजन से सुरक्षा, भरण.पोषण अधिकार व संवैधानिक संरक्षण के संबंध में जानकारी दी गई। बाल विवाह नहीं करने की शपथ दिलाई। किसी भी असहज कार्य को नहीं करने की भी सलाह दी। साथ ही लोक अदालत के माध्यम से प्रकरणों को निस्तारण करवाने की प्रक्रिया भी समझाई।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned