अब आयुर्वेद अस्पताल में भी लगेगी वैक्सीन


प्रतापगढ़. कोविड कोरोना से लडऩे के लिए जिले में टीकाकरण की रफ्तार और बढ़ा दी गई है। जिला आयुर्वेद चिकित्सालय परिसर स्थित प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग अनुसंधान केंद्र पर भी वैक्सीन की नई साइट बनाई गई है। जहां 45 साल से उपर कोई भी व्यक्ति अपने पहचान के दस्तावेज जैसे आधार आदि लेकर वैक्सीन लगवा सकता है।

By: Devishankar Suthar

Published: 24 Apr 2021, 07:38 AM IST


प्रतापगढ़. कोविड कोरोना से लडऩे के लिए जिले में टीकाकरण की रफ्तार और बढ़ा दी गई है। जिला आयुर्वेद चिकित्सालय परिसर स्थित प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग अनुसंधान केंद्र पर भी वैक्सीन की नई साइट बनाई गई है। जहां 45 साल से उपर कोई भी व्यक्ति अपने पहचान के दस्तावेज जैसे आधार आदि लेकर वैक्सीन लगवा सकता है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. वीडी मीना ने बताया कि जिले में अब कुल 41 टीकाकरण साइट हो चुके है। जहां पर कोविड की निशुल्क वैक्सीन लगाई जा रही है। आरसीएचओ डॉ. दीपक मीणा ने बताया कि सरकारी अस्पतालों के साथ ही धरियावद रोड़ स्थित एसएल मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल में भी कोविड वैक्सीनेशन करवाया जा सकता है, हालांकि यहां 250 रूपए का शुल्क देना होगा।
एक लाख 10 हजार लोगों का हुआ वैक्सीनेशन
आरसीएचओ डॉ. दीपक मीणा ने बताया कि जिले में वैक्सीनेशन सुचारू रूप से चल रहा है। उन्होंने बताया कि अबतक जिले में 1 लाख 10 हजार टीके लगाए जा चुके है। जितनी भी वैक्सीन लगाई गई है, उनसे जुड़े किसी भी व्यक्ति को टीकाकरण का कोई दुष्परिणाम देखने को नहीं मिला है।
जिस कंपनी की प्रथम डोज, उसी की दूसरी डोज भी जरूरी
वैैक्सीनेशन के समय इस बात का विषेश ध्यान रखना होगा कि जिस कंपनी की वैक्सीन प्रथम डोज लाभार्थी ने लगवाई है, उसी कंपनी की दूसरी डोज भी लाभार्थी को लगवानी होगी। इसमें किसी भी प्रकार का फेरबदल नहीं होगा। एक ही कंपनी की दोनों डोज लगने पर ही शरीर में वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकसित होगी। उन्होंने कहा कि जिले में वर्तमान में दो कंपनी की वैक्सीन लगाई जा रही है, जिससे भारत बॉयोटेक की को-वैक्सीन, जिला आयुर्वेद चिकित्सालय प्रतापगढ़ एवं ग्यासपुर पीएचसी पर लगाई जा रही है। शेष साइट पर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड लगाई जा रही है।
दोनों टीका लगाने के बाद संक्रमण से मौत की आशंका ना के बराबर
मेडिकल एक्पर्ट के अनुसार कोविड वैक्सीनेशन करवाने वाले व्यक्ति को भविष्य में यदि कभी पॉजिटिव होता है, तो उसकी संक्रमता का असर काफी कम होगा। मसलन व्यक्ति को आपातकालीन सेवाओं जैसे वेंटिलेटर पर जाने जैसी स्थिति नहीं होगी। टीकाकरण मृत्यु दर को काफी हद तक खत्म कर देता है। अत: उन्होंने सभी को टीकाकरण जरूर करवाने की अपील की है।
.....:दलोट में दुकानदारों को दिखानी होगी कोराना रिपोर्ट
नेगेटिव होने पर ही खोल सकेंगे दुकान
दलोट. जन अनुशासन पखवाड़े के तहत प्रतिदिन अलग-अलग गाइड लाइन जारी होने से व्यापारियों के अलावा पुलिस को भी खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गुरुवार को जारी गाइड लाइन के मुताबिक किराना से लेकर सभी व्यापारियों को कोविड जांच करवानी होगी। रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही अपनी दुकान खोल सकेंगे। जिला कलेक्टर द्वारा जारी किए गए आदेशानुसार अरनोद उपखण्ड अधिकारी प्रकाशचंद्र रेगर के निर्देश पर शुक्रवार को सुबह सालमगढ़ थाना पुलिस ने अलाउंस कर स्थानीय व्यापारियों से अपील की है कि सभी अपनी.अपनी कोराना जांच करवाएं। जांच के बाद रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही अपने प्रतिष्ठान खोल सकेंगे। बिना कोविड.19 जांच के प्रतिष्ठान खुले रखने पर नियमानुसार कानूनी कार्यवाही की जाएगी। इधर नई गाइड लाइन के चलते दलोट क्षेत्र से लगे गांवो ंसे कई लोग खरीदारी करने पहुंच गए। लेकिन दुकाने बन्द होने की वजह से खाद सामग्री नही खरीद पाए।
जानकारी के अनुसार दलोट क्षेत्र में लगातार कोराना संक्रमण का आंकड़ा बढ़ रहा है। शुक्रवार को भी लोगो के सेम्पल लिए गए।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned