प्रतापगढ़ डिपो को मिली दो नई रोडवेज बसों में से एक आई, विधायक ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

जिले में ग्रामीणों क्षेत्रों में भी जल्द चलेगी रोडवेज की बसें- विधायक

By: Hitesh Upadhyay

Published: 01 Mar 2020, 11:24 AM IST

प्रतापगढ़. राजस्थान परिवहन निगम की ओर से रोडवेज के नवीनीकरण कार्यक्रम के तहत प्रतापगढ़ डिपो को भी दो नई रोडवेज बस मिली है। इसमें से एक बस आ भी चुकी है। इसका विधिवत लोकार्पण शनिवार को हुआ। शनिवार को सुबह 11 बजे विधायक रामलाल मीणा के हाथों इसका लोकार्पण किया गया। रोडवेज डिपो पर एक कार्यक्रम आयोजित कर नई बस की पूजा-अर्चना कर बस को हरी झंडी बताकर रवाना किया। इस बस को अभी जयपुर-प्रतापगढ़-बांसवाड़ा तक चलाई जाएगी।
इस दौरान विधायक रामलाल मीणा ने कहा कि पांच साल में भाजपा सरकार में रोडवेज की जो दुर्दशा हुई है उसे सुधारने के लिए लगातार कांग्र्रेस की सरकार इसे सुधारने में लगी हुईहैं। मुख्यमंत्री व परिवहन मंत्री के प्रयास से आने वाले वर्षों में रोडवेज पुन: पटरी पर लाई जाएगी। रोडवेज की सेवा जल्द ग्रामीण इलाकों में भी शुरू करवाई जाएगी। रोडवेज डिपो पर एक बस आने के बाद अब एक बस और आना प्रस्तावित है। उसके आने के बाद प्रतापगढ़ को दो नई बसों की सौगात मिलेगी। इससे जिले के यात्रियों को काफी राहत मिलेगी। गौरतलब है कि रोडवेज प्रबंधन ने 876 नई बसों की मंजूरी दी थी। इसमें से 316 बसें खरीदी जा चुकी है। इन बसों को राज्य के विभिन्न डिपो में आवंटित किया जा चुका। इसी के तहत प्रतापगढ़ डिपो को यह बस मिली है।
डिपो की अभी यह है स्थिति: प्रतापगढ़ डिपो में अभी 28 निगम की बसें है वहीं 13 बसें अनुबंधीत हैं। इसमें एक बस अब डिपो को नई मिली हैं। 45 बसों में से 7 बसें पूरी तरह से कंंडम हो चुकी हैं। इसमें से एक बस निगम मुख्यालय पर व 6 बसें प्रतापगढ़ वर्कशॉप पर मरम्मत के लिए खड़ी हैं। इन बसों के पाटर््स नहीं मिलने के कारण यह बसें वर्कशॉप में खड़ी चलने की राह देख रही हैं। वर्कशॉप पर भी 23 पदों में से 9 पदों पर कर्मचारी कार्यरत हैं। जिसमें एक प्रबंधक संचालन, एक स्टोर किपर व 7 मिस्त्री हैं। जिला मुख्यालय पर रोडवेज डिपो में कार्यालय पर 179 पदों में से 79 पद रिक्त पड़े हुए हैं। जिसमें से लेखाकार, यातायात निरीक्षक, सहायक सांख्यिकी, शीघ्र लिपिक सहित कई पद तो ऐसे है जिन्में एक भी कर्मचारी कार्यरत नहीं हैं। एक नई बस आने के बाद अब 45 में से 46 बसें डिपों में हो गई हैं।
ग्रामीण क्षेत्रों में भी जल्द चल सकती है बसें
प्रतापगढ़ डिपों को बसें मिलने से जिले में ग्रामीण परिवहन के साधन नहीं होने के कारण आमजन को काफी परेशानी हो रही हैं। वहीं जिले में कुछ समय पहले इनकम नहीं होने के कारण जिन रूटों को छोटा किया गया था वहां पर फिर से बसें चलने की संभावना बड़ी हैं। इसी के तहत अब ग्रामीण इलाकों में भी बसें चलने की संभावना हैं। निगम के डिपो मैनेजर जितेन्द्र मीणा ने बताया कि ग्रामीण सेवाओं के लिए भी मुख्यालय से रूट मांगे हैं।

Hitesh Upadhyay
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned