भेड़-बकरियों को चैनपुरा गोशाला के सुपुर्दगी के आदेश

प्रतापगढ़. ग्राम न्यायालय एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट कृष्णकुमार अहारी ने गत दिनों हथुनिया पुलिस के जब्त किए गए 2884 भेड़-बकरियों के मामले में फैसला सुनाया है। जिसमें सभी मवेशियों कर अभिरक्षा जैन गौशाला समिति चैनपुरा को दिए जाने के आदेश दिए है।

By: Devishankar Suthar

Updated: 20 Jan 2021, 08:28 AM IST

-ग्राम न्यायालय ने सुनाया फैसला
-50 रुपए प्रति मवेशी रोजाना के हिसाब से देना होगा भरण-पोषण
-गत दिनों पुलिस ने जब्त किए थे 2884 भेड़-बकरियों से भरे 13 ट्रक
पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत दर्ज हुआ था मामला
प्रतापगढ़. ग्राम न्यायालय एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट कृष्णकुमार अहारी ने गत दिनों हथुनिया पुलिस के जब्त किए गए 2884 भेड़-बकरियों के मामले में फैसला सुनाया है। जिसमें सभी मवेशियों कर अभिरक्षा जैन गौशाला समिति चैनपुरा को दिए जाने के आदेश दिए है। साथ ही प्रति मवेशी 50 रुपए के आधार पर भरण-पोषण भी दिए जाने के आदेश दिए है। पशु क्रूरता निवारण समिति के सचिव रमेशचन्द्र शर्मा ने बताया कि 13 जनवरी को हथुनिया पुलिस ने 13 ट्रक पकड़े थे। जिसमें कुल 2884 भेड-बकरियां भरी हुई थी। इस मामले में पशु क्रूरता अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया। इस मामले में जैन गौशाला समिति चैनपुरा की ओर से प्रवीणकुमार मित्तल, तरुणदास बैरागी, रमेशचंद्र शर्मा, आशुतोष जोशी एवं सचिन पटवा ने न्यायालय न्यायाधिकारी ग्राम न्यायालय में आवेदन प्रस्तुत किया। आरोपियों की ओर से भी वाहनों की सुपुर्दगी एवं पशुओं की सुपुर्दगी में लिए आवेदन प्रस्तुत किए गए। न्यायालय ने सभी 2884 पशुओं की अभिरक्षा जैन गौशाला समिति चैनपुरा को दिए जाने के आदेश प्रदान किए। पशुओं के भरण-पोषण नियम 2017 के अनुसार प्रति पशु प्रतिदिन 50 रुपए के हिसाब से जैन गौशाला समिति चैनपुरा को एक माह की अग्रिम राशि जमा कराए जाने के लिए 3 दिन का समय दिया गया है।
--=-
कोटड़ी में शराब की दुकान हटाने की मांग...
अरनोद.
उपखंड के कोटड़ी गांव में नई आबादी में शराब की दुकान हटाने की मांग की गई। प्रधान समरथ मीणा और उपप्रधान कैलाश भाटी एवं पंचायत समिति सदस्य फूलचंद पाटीदार और कोटड़ी के ग्रामीणों ने उपखंड अधिकारी प्रकाशचंद्र रेगर को शराब की दुकान हटाने को लेकर ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया कि कोटडी नई आबादी मुख्य सडक़ पर शराब की दुकान लगी हुई है। जहां आए दिन लोग शराब पीकर सडक़ पर उत्पात मचाते हैं और गाली गलौज करते हैं। इसी रास्ते से विद्यालय जाने वाले छात्र-छात्राएं निकलते हैं। जिनके साथ भी शराबी गाली गलौज करते हैं। शराब की दुकान बंद करवाई जाए ज्ञापन देने वालों में पारसमल जैन, गोपाललाल, नटवरसिंह, प्रकाश, मनोहर, नंदराम, राधेश्याम, सुल्तानसिंह, रामलाल, अभयसिंह सहित कई ग्रामवासी उपस्थित रहे।
:=:=

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned