खैर की लकड़ी से भरी पिकअप पकड़ी


प्रतापगढ़.
वन विभाग की ओर से सीतामाता अभयारण्य में गश्त के दौरान खैर की लकड़ी से भरी एक पिकअप पकड़ी है। वहीं पिकअप चालक अंधेरे में जंगल में भाग गया। उसकी तलाश की जा रही है।

By: Devishankar Suthar

Published: 12 Jun 2021, 07:13 AM IST


प्रतापगढ़.
वन विभाग की ओर से सीतामाता अभयारण्य में गश्त के दौरान खैर की लकड़ी से भरी एक पिकअप पकड़ी है। वहीं पिकअप चालक अंधेरे में जंगल में भाग गया। उसकी तलाश की जा रही है।
क्षेत्रीय वन अधिकारी वन्यजीव धरियावद मनोजकुमार औदिच्य ने बताया कि इन दिनों जंगल में वन माफिया सक्रिय है। इस कारण रात्रि को गश्त की जा रही है। इसके लिए एक स्पेशल टीम गठित की गई है। टीम रात को सीतामाता अभयारण्य में गश्त कर रही थी। नाका आरामपुरा में नाका बन्दी की। उस समय एक पिक अप धरियावद की तरफ से आ रही थी। उसे हाथ से रोकने का इशारा किया, जिस पर वाहन चालक ने वाहन को तेज गति से भागते हुए बांसी की तरफ भागा। जिसका पीछा किया गया, जिस पर वाहन चालक डबेला के पास को वाहन छोड़ कर भाग गया। वाहन की तलाशी लेने पर उसमे खैर की लकड़ी 32 नग होना पाया गया। जिसे वन विभाग ने कब्जे में लिया है। चालक की तलाश की जा रही है।
टीम में वनपाल यशपालसिंह चौहान, देवीलाल मीणा, वनपाल सुरेश रावत, वन रक्षक राजेश बलाई, सहायक वनपाल एवं सोहनलाल आदि मौजूद रहे।
=-=-=-=-

न्यायाधीश ने किया जेल का निरीक्षण
प्रतापगढ़. अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश शिवप्रसाद तम्बोली ने शुक्रवार को जिला कारागृह का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उच्चतम न्यायालय एवं हाई पावर कमेटी द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की क्रम में बंदियों को जमानत आवेदन भरवाए जाने के संबंध में जानकारी दी। साफ-सफाई व भोजन व्यवस्था का जायजा लिया गया। सचिव ने बंदियों को नियमित रूप से मास्क पहनने एवं बैरक व लेट्रिन-बाथरूम को नियमित रूप से सैनेटाईज करने के निर्देश दिए। जेल डिस्पेंसरी के निरीक्षण के दौरान हरिसिंह मेल नर्स उपस्थित मिले। जेल प्रशासन द्वारा बताया कि वर्तमान में कोई भी बंदी पॉजिटिव नहीं है। जिला कारागृह में 325 बंदियों की क्षमता है। वर्तमान में 294 बंदी जेल में मौजूद है। सभी 294 कैदियों का कोरोना टेस्ट करवाया जा चुका है। जिसमें से सभी बंदी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। सभी बंदियों का टीकाकरण भी हो चुका है।
=--=-=-=
संस्कृत भारती का संस्कृत संभाषण का ऑनलाइन 10 दिवसीय वर्ग
प्रतापगढ़. संस्कृत भारती द्वारा संचालित 10 दिवसीय संस्कृत संभाषण वर्ग का शुक्रवार को गूगल मीट पर शुरू हुआ। उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि तरुणदास बैरागी ने उद्बोधन प्रदान किया। देश में ज्ञान-विज्ञान एवं साथ संस्कृतिक उन्नति के लिए संस्कृत भाषा की वर्तमान में महती आवश्यकता बताई। कार्यक्रम में 50 शिक्षार्थी ऑनलाइन जुड़े हुए थे। प्रथम दिवसीय शिक्षण प्राप्त किया। शिक्षण कार्य कैलाश सुथार एवं सुधांशु राव ने करवाया। वर्ग में मुख्य वक्ता प्रांत संपर्क प्रमुख महेश शर्मा थे। वर्ग प्रभारी डॉ ललित नामा प्रांत संपर्क प्रमुख थे। वर्ग में कल्याण मंत्र मुकेश शर्मा ने प्रस्तुत किए। संचालन कैलाश चंद्र शर्मा ने किया। यह वर्ग प्रतिदिन शाम 4 से 5. 30 तक 10 दिनों तक आयोजित होगा।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned