पूनिया ने गहलोत सरकार के खिलाफ हल्ला बोल का किया आगाज

कहा अंतरकलह से जूझती सरकार कर रही जनता को भ्रमित करने का काम

By: Rakesh Verma

Published: 07 Mar 2021, 07:54 PM IST

प्रतापगढ़. राजस्थान बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने सुदूर आदिवासी अंचल के प्रतापगढ़ जिले से फेसबुक लाइव के जरिए गहलोत सरकार के खिलाफ हल्ला आंदोलन का आगाज किया। जिसमें उन्होंने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। गहलोत सरकार के खिलाफ संपूर्ण किसान कर्जामाफी, लंबित भर्तियां, महिला सुरक्षा सहित विभिन्न जनहित के मुद्दों को लेकर हल्ला बोल आंदोलन का आगाज करते हुए भाजपा जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों की ओर से भी हल्ला बोल फेसबुक लाइव कार्यक्रम किए गए। पूनिया ने कहा कि प्रदेशभर में कांग्रेस पार्टी के 27 महीनों के शासन में कुशासन, अराजकता, भ्रष्टाचार, अकर्मण्यता, अपराध, वादाखिलाफी इन तमाम मुद्दों को लेकर भाजपा यह हल्ला बोल करने को मजबूर हुई है। सितंबर में भी हल्ला बोल के माध्यम से गहलोत सरकार को कुम्भकर्णी नींद से जगाने का कार्य किया था, जिसमें राजस्थान के हजारों स्थानों पर लाखों लोगों ने शिरकत की थी। इस विफल सरकार को जगाने के लिए भाजपा ने फिर से उस हल्ला बोल का आह्वान किया है। इसको लेकर 6 मार्च को मण्डलों की बैठक हुई, 7 और 8 मार्च को जिला बैठकों में इसका पूरा एक रोडमैप तैयार हो जाएगा। 9 तारीख से 14 तारीख तक प्रत्येक उपखण्ड पर एक अच्छी तादाद में किसानों की कर्जामाफी, बिजली के बिलों की सब्सिडी, रोजगार, स्वास्थ्य की बदहाल सेवाएं, कानून व्यवस्थाए जो प्रदेश में आज चुनौतीपूर्ण बनी हुई हैं आदि जनहित के मुद्दों को लेकर गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला जाएगा। शांतिपूर्ण प्रदेश राजस्थान अपराधग्रस्त राज्यों में शुमार हो गया है। सालभर में 6 लाख 14 हजार मुकदमे प्रदेश के थानों में दर्ज हुए हैं। ये मुकदमे दुष्कर्मए गैंगरेप, हत्या, लूट, डकैती आदि से जुड़े हुए हैं।
अंतरकलह से जूझती सरकार कर रही जनता को भ्रमित करने का काम
उन्होंने यहां पत्रकारों से बात करते हुए प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने आगामी 9 मार्च से पूरे प्रदेश में सरकार के खिलाफ जंग का ऐलान भी किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 12 लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा किया गया था लेकिन सिर्फ 16 हजार नौकरियां ही प्रदान की गई। लाखों भर्तियां लंबित हैं, कहीं कोर्ट में अटकी है तो कहीं सरकारी अधिकारियों की टेबल पर धूल फांक रही है या पर्चे लीक हो रहे हैं। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि पर्चे लीक तो सरकार वीक। पर्चे लीक होना सरकार की कमजोरी है। बेरोजगारों को भत्ता देने की घोषणा भी आधी अधूरी है। सरकार खुद अंतरकलह से जूझ रही है और जनता को भ्रमित करने का काम कर रही है। प्रदेश में इस बार छह लाख से ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए जिनमें अधिकांश हत्या, डकैती और दुष्कर्म के मामले हैं। प्रदेश में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है महिलाएं और बालिकाएं सुरक्षित नहीं है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत केवल केंद्र पर दोषारोपण करने में व्यस्त हैं। उन्होंने केंद्र की भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि सरकार ने किसानों, गरीबों, मजदूरों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं लागू की है। किसान सम्मान निधि के तहत देश के 11 करोड़ किसानों के खाते में हर साल 6 हजार रुपए डाले जा रहे हैं। वन नेशन वन राशन, जनधन खाता खोलना, उज्वला योजना ऐसी योजनाओं के माध्यम से निचले से निचले तबके के व्यक्ति को ऊंचा उठाने का प्रयास किया जा रहा है ।

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned