बजट में प्रतापगढ़ को निराशा, नहीं हुई कोई बड़ी घोषणा

Rakesh kumar Verma

Publish: Feb, 12 2018 06:45:25 PM (IST)

Pratapgarh, Rajasthan, India
बजट में प्रतापगढ़ को निराशा, नहीं हुई कोई बड़ी घोषणा

-कुछ छिटपुट घोषणाओं में ही आया जिले का नाम

प्रतापगढ़. आखिरकार वही हुआ जिसका डर था। प्रदेश का आखिरी जिला प्रतापगढ़ जिसे बने महज 10 वर्ष ही हुए हैं और जो अभी शिशु अवस्था में ही चल रहा है और उसे विकास की खास दरकार है उसे राज्य सरकार के आखिरी बजट में कुछ विशेष नहीं मिला। जिले के लिए छोटी-छोटी कुछ घोषणाओं को छोडकऱ कोई बड़ी घोषणा नहीं हुई और प्रतापगढ़ जिले को इस वर्तमान भाजपा सरकार के इस आखिरी बजट से घोर निराशा हुई।
महज यह मिला प्रतापगढ़ को
1. टीएसपी क्षेत्र के मूल निवासियों को स्वरोजगार प्रोत्साहन के लिए एग्रो प्रोसेसिंग एंड एग्री मार्केटिंग सेक्टर की आरआईपीएस-2014 में अधिसूचित मेन्युफेक्चरिंग एंड प्रोसेसिंग गतिविधियों के लिए वर्तमान में उपलब्ध इन्सेंटिव के साथ 20 लाख तक के बैंक ऋण पर 5 प्रतिशत ब्याज अनुदान दिया जाना प्रस्तावित है।
2. जनजाति क्षेत्रों में संचालित 5 खेल छात्रावासों को 5 करोड़ का व्यय कर स्पोर्टस एकेडमी के रुप में अपग्रेड कर एक खेल विशेष के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन के लिए तैयार किया जाएगा।
3. जनजाति क्षेत्रों में सिंचाई सुविधा के विकास के लिए प्रतापगढ़-धामनिया एनिकट का निर्माण एवं अन्य का जीर्णोद्धार किया जाएगा।
4. जनजाति क्षेत्रों में सिंचाई सुविधा के विकास के लिए 25 नवीन सामुदायिक जलोत्थान सिंचाई योजनाओं की क्रियान्विति सौर ऊर्जा के माध्यम से 7 करोड़ 50 लाख की राशि से किए जाने की घोषणा।
5. प्रतियोगी प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्राओं के लिए डूंगरपुर, प्रतापगढ़ एवं बांसवाड़ा में 100 छात्राओं की क्षमता के एक-एक बहुउददेशीय छात्रावास की स्थापना पर 12 करोड़ रुपए का व्यय प्रस्तावित।
6.जनजाति उपयोजना क्षेत्र के ऐसे एक लाख 660 किसान, जिनके घरों पर विद्युत कनेक्शन नहीं हैं, उन्हें सोलर लैंप दिए जाने की घोषणा।
7. जनजाति उपयोजना क्षेत्र के प्रतापगढ़ सहित 5 जिलों में जनजाति, गैर जनजाति, बीपीएल एवं अन्त्योदय परिवार के किसानों को खरीफ 2018 में मक्का की अधिसूचित संकर किस्मों के आठ लाख मिनी किटस का निशुल्क वितरण किया जाएगा। जिसमें 14 करोड़ का व्यय प्रस्तावित है।
8. पेयजल समस्या के समाधान के लिए आगामी गर्मियों में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में आवश्यकतानुसार अधिकतम 100 हैंडपंप स्वीकृत किए जाएंगे।
9. प्रतापगढ़ सहित अन्य जिलों में सिंचित क्षेत्रों को लाभान्वित करने के कार्य आगामी वर्ष में शुरू किए जाएंगे।
10. माही बांध के दांयी ओर से 265 किमी लंबी हाईलेवल केनाल नागलिया पिकअप वियर से होती हुई वरदा तक बनाकर जाखम बांध के 28 हजार हैक्टेयर क्षेत्र को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। जिससे जाखम बांध का 5 टीएमसी पानी बचेगा।
...............................
सराहा, नकारा और बताया औसत बजट

काफी अच्छा बजट
राज्य सरकार की ओर से काफी अच्छा बजट पेश किया गया है। जिसमें हर वर्ग को राहत प्रदान की गई है वहीं विकास के कई प्रावधान किए गए हैं।
सी पी जोशी, सांसद, प्रतापगढ़-चित्तौडगढ़़

थोथी घोषणाएं
राज्य सरकार का आखिरी बजट आमजन के साथ छलावा है। पूर्व के बजट में की कई घोषणाएं पूरी नहीं हुई है। फिर से थोथी घोषणाएं की हैं जो पूरी नहीं होंगी।
सुरेन्द्र चंडालिया, सचिव, कांग्रेस प्रदेश कमेटी

हर वर्ग का ध्यान
राज्य सरकार की ओर से जो बजट पेश किया गया है। उसमें हर वर्ग का ध्यान रखा गया है। खासकर अन्नदाता किसान के लिए बजट में खास प्रावधान हैं।
गौतम दक, विधायक, बड़ीसादड़ी

मिलाजुला बजट
बजट को मिलाजुला कह सकते है। जहां कई घोषणाएं अच्छी हुई है वहीं कुछ और अच्छा हो सकता था। प्रतापगढ़ के लिए विशेष कुछ नहीं मिलना निराशाजनक है।
दीपक सोनी, व्यवसायी

छात्राओं में निराशा
बजट में प्रतापगढ़ जिले की वर्षो से चली आ रही कन्या महाविद्यालय की मांग भी इस बजट में भी पूरी नही हुई है। जिसके चलते छात्राओं में निराशा है।
शांतिलाल मीणा, छात्रसंघ अध्यक्ष

कोरे आश्वासन
राज्य सरकार के मंत्रियों व शिक्षा मंत्री की ओर से इस बजट में कन्या महाविद्यालय की घोषणा करवाने की बात की गई थी लेकिन ये कोर आश्वासन रह गए।
अंकुश लबाना, छात्रसंघ महासचिव, प्रतापगढ़

किसानों के लिए राहत
राज्य सरकार के इस बजट में किसानों के लिए काफी राहत दी गई है। जिससे किसानों का आर्थिक उन्नयन हो सकेगा। इससे किसान वर्ग काफी खुश है।
अरविंद पाटीदार, किसान

समय ही कहा है
चुनाव में फायदा लेने के लिए घोषणाएं तो बहुत की गई लेकिन सरकार खुद भी जानती है की इन्हें पूरा करने का समय नहीं है। ऐसे में यह महज दिखावे की घोषणाएं हैं।
आनंद गुर्जर, पार्षद

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned