scriptsanctum sanctorum | forest- कांठल में पावणों का पड़ाव | Patrika News

forest- कांठल में पावणों का पड़ाव


प्रतापगढ़. कांठल में हर साल सर्दी में प्रवास पर पहुंचने वाले प्रवासी पक्षियों के पड़ाव इस वर्ष अगल-अलग समूहों में देखा जा रहा है। ऐसे में इन पक्षियों के समूह अधिक जलाशयों पर सीमित संख्या में देखा जा रहा है।

प्रतापगढ़

Published: December 27, 2021 08:36:17 am


-जिले में अधिकांश जलाशयों पर देखे जा सकते है प्रवासी पक्षी
-इस वर्ष बारिश अधिक होने से जलाशयों में भरा है पर्याप्त मात्रा में पानी
-
प्रतापगढ़. कांठल में हर साल सर्दी में प्रवास पर पहुंचने वाले प्रवासी पक्षियों के पड़ाव इस वर्ष अगल-अलग समूहों में देखा जा रहा है। ऐसे में इन पक्षियों के समूह अधिक जलाशयों पर सीमित संख्या में देखा जा रहा है। हालांकि इनकी संख्या कम है। ऐसे में तालाबों में इनकी संख्या कम देखी जा रही है।
गौरतलब है कि हर वर्ष की तुलना में इस वर्ष बारिश अंतिम समय तक हुई। ऐसे में अधिक स्थानों पर पानी भरा हुआ है। जिससे प्रवासी पक्षियों की संख्या भी इस वर्ष छितराई हुई है। जो कम संख्या में समूहों में अलग-अलग जलाशयों में देखे जा सकते है। गौरतलब है कि प्रवासी पक्षियों का हमारे जिले में जलाशयों में नवम्बर से फरवरी तक इनका प्रवास रहता है।
इन जलाशयों पर देखे गए प्रवासी परिंदे
जिले में वैसे तो इस वर्ष अधिकांश तालाबों में इनके झुण्ड देखे जा सकते हैं। लेकिन प्रमुख तालाबों में जहां ये अधिक संख्या में देखे गए हैं, उनमें एक दर्जन से अधिक तालाग है। छोटी बम्बोरी, रायपुर तालाब, जाखम, गौतमेश्वर, पीपलखूंट के तालाब, देवगढ़, छोटीसादड़ी, जाजली, फूटा तालाब, मानपुरा, गादोला, अचलावदा, निनोर, मोखमपुरा, लालपुरा का तालाब, तेजड़ तालाब में पक्षी जलक्रिड़ा करते देखे जा सकते हैं। इसके साथ ही यहां दीपेश्वर तालाब में भी कुछ पक्षी दिखाई दिए हैं।
-इन प्रजातियों के पक्षी आए
जिले में प्रतिवर्ष के अनुसार इस वर्ष भी विभिन्न प्रजातियों के पक्षी जलाशयों में आए हैं। इनमें सुरखाब, गे्र ले गूज, बार हैडेड, रडि शैल्डक्स(चकवा-चकवी), पीन टैल्स, कोम्बडक्स(नकटा), ओपेन बिल, वूली नेक्ड, स्टॉक्र्स, गे्र हेरोन, कूट आदि प्रजातियों के पक्षी देखे गए हैं। जलाशयों में स्थानीय पक्षी भी जलाशयों में देखे जा सकते हैं। इसमें सारस, गजपांव, पैटेड स्टॉक्र्स (जांघिल), रीवर टर्न, डार्टर, कॉरमेट, जर्द टिटहरी आदि की अठखेलियां करते देखी जा सकती है।
भोजन की तलाश में कोसों उड़ान
ये प्रवासी पक्षी सर्दी के मौसम में यहां भोजन के लिए आते हैं। जो कोसों दूर की उड़ान भरने के बाद यहां पहुंचते हैं। गौरतलब है कि सर्दियों में मुख्यत: हिमालय व तराई वाले इलाकों, मध्य एशिया आदि क्षेत्रों में बर्फ जम जाती है। इससे वहां वनस्पति पर भी बर्फ जम जाती है, जबकि जलाशयों पर बर्फ जम जाती है। इससे वहां के पक्षियों के लिए उदरपूर्ति नहीं हो पाती है। इससे वे नवम्बर माह के दौरान भोजन की तलाश में मैदानी इलाकों में आते है। इनमें से कई पक्षी यहां कांठल में भी आते हैं।
इस वर्ष अधिकांश जलाशयों में उपस्थिति
-जिले में गत कई वर्षों से प्रवासी पक्षी सर्दी में हजारों किलोमीटर से यहां प्रवास पर आते है। इस वर्ष भी इन पक्षियों की संख्या देखी जा रही है। जो अधिक जलाशयों में कम-कम संख्या में दिख रहे है। ऐसे में वन विभाग की ओर से पूरे स्टॉफ को प्रवासी पक्षियों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए है। सभी कर्मचारियों को संरक्षण के लिए कहा गया है।
forest- कांठल में पावणों का पड़ाव
forest- कांठल में पावणों का पड़ाव
:==:=सुनीलकुमार, उपवन संरक्षक, प्रतापगढ़.

:=:=:=:=:=
पक्षियों का प्रकृति संतुलन में महत्वपूर्ण योगदान
पक्षी स्थानीय हो या प्रवासी, हमें उनके आश्रय स्थलों के पास कोई छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए। साथ ही स्वच्छ व सुरक्षित रखना चाहिए। हमारे जैव विविधता से समृद्ध जंगलों के लिए सबसे बड़ा योगदान पक्षियों का भी है। पक्षियों के द्वारा प्रसारित बीज प्राकृतिक रूप से उपचारित होते हैं। जो पेड़, पौधों का अस्तित्व बनाए रखते हैं। हमें प्रकृति के विरुद्ध नहीं जाना चाहिए।
मंगल मेहता, पक्षीविद्, प्रतापगढ़.
-=-=-=-=

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.