राह आसान होने की जगह बढ़ गई मुश्किल

Rakesh kumar Verma

Publish: Oct, 13 2017 10:22:13 (IST)

Pratapgarh, Rajasthan, India
राह आसान होने की जगह बढ़ गई मुश्किल

-सडक़ पर डाल दी गिट्टी, दुपहिया वाहन चालक परेशान
-मिनी सचिवालय मार्ग बना राहगीरों के लिए परेशानी का सबब

प्रतापगढ़. धरियावद नाके से मिनी सचिवालय पहुंच मार्ग पूरी से क्षतिग्रस्त होकर किसी बड़ी दुर्घटना का इंतजार कर रहा है। सडक़ के खस्ताहाल को लेकर राजस्थान पत्रिका की ओर से 8 अक्टूबर के अंक में ‘मिनी सचिवालय मार्ग पर गड्ढे’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर समस्या को प्रमुखता से उजागर किया गया। इसके बाद इस सडक़ की सुध ली गई। लेकिन इसने राहत देने के बजाय समस्या को और बढ़ा दिया। सडक़ पर खुदे गड्ढ़ों को भरने के लिए उनमें गिट्टी डाल दी गई। गिट्टी के यहां-वहां फैल जाने से राहगीरों और वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

करवाएंगे निस्तारण
बारिश के बाद सडक़ कुछ खराब हो गई थी। इसमें सुधार की कवायद चल रही है। जल्द ही सुधार पूरा करवाया जाएगा।
अशोक कुमार जैन, आयुक्त नगर परिषद, प्रतापगढ़

-----------------------------------------------------------

ओडीएफ पंचायतों में टीएडी से होंगे पांच लाख तक के विकास कार्य
-जिला कलक्टर नेहा गिरि ने सुनीं आमजन की समस्याएं
-अधिकारियों को दिए निर्देश
प्रतापगढ़.
जनजाति क्षेत्र में शामिल जिले की ग्राम पंचायतों के खुले में शौच से मुक्त घोषित होने पर पांच लाख रुपए तक के विकास कार्य जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग की ओर से स्वीकृत किए जाएंगे। गुरुवार को जिला स्तरीय जनसुनवाई के दौरान जिला कलक्टर नेहा गिरि ने यह जानकारी दी। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन पर चर्चा करते हुए अधिकारियों से कहा कि वे अभियान की समुचित मॉनीटरिंग करें और प्रगति में अधिक तेजी लाएं। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों से उन्हें आवंटित एक-एक ग्राम पंचायत में अभियान की प्रगति का फीडबैक लिया और कहा कि अधिकारी फील्ड में जाकर अधिक से अधिक शौचालय बनाने के लिए ग्रामीणों को प्रेरित करें। एक भी घर शौचालय रहित नहीं रहना चाहिए।

--------------------------------------

दिव्यांगों का होगा प्रमाणीकरण
प्रतापगढ़. जिला प्रशासन, जिला परिषद एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की अेार से पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजनान्तर्गत दिव्यांगजनों के जिले के चयनित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अरनोद, बारावरदा, छोटीसादडी, धरियावद, पीपलखुंट, थडा और मूंगाणा पर प्रतिदिन दोपहर १२ से दोपहर 2 बजे तक दिव्यांगों का प्रमाणीकरण कार्य किया जाएगा। इसके अतिरिक्त कुछ दिवसों पर चयनित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर बहु:निशक्ता वाले दिव्यांगों के प्रमाणीकरण का कार्य विशेषज्ञ चिकित्सकों की ओर से किया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned