किराणा व्यवसाय का दिया प्रशिक्षण

किराणा व्यवसाय का दिया प्रशिक्षण

By: Rakesh Verma

Published: 24 May 2018, 10:47 AM IST

किराणा व्यवसाय का दिया प्रशिक्षण
प्रतापगढ़. बड़ोदा स्वरोजगार विकास संस्थान की ओर से किराणा व्यवसाय प्रशिक्षण का समापन शुक्रवार को हुआ। समापन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला विधिक साक्षरता समिति के सदस्य पेनल लॉयर रवीन्द्र सर्राफ व मानवाधिकार निगरानी समिति के जिलाध्यक्ष अजीत कुमार मोदी रहे। अजीत कुमार मोदी ने वैकल्पिक विवाद निस्तारण केंद्र की जानकारी दी।
बताया गया कि प्रतापगढ़ जिला मुख्यालय पर कार्यरत यह केंद्र तमाम कानुनी प्रपंचों से परे आपसी सहमती के आधार पर विवादो का निस्तारण करता है। उन्होंने निराश्रित बालगृह, वृद्धाश्रम, दिव्यांग तथा मंदबुद्धि बालकों के लिए विद्यालय व छात्रावास आदि की जानकारी देते हुए इनका प्रचार-प्रसार करने व पीडि़त को लाभ दिलाने का आग्रह किया। उन्होंने जैव विविधता विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जैव सरक्षण तथा पर्यावरण सरक्षण बहुत आवश्यक है। गर्मियों में पशु-पक्षियों के लिए पानी तथा खाने की व्यवस्था करें और अधिक से अधिक पेड़ लगाए। बड़ोदा स्वरोजगार विकास संस्थान निदेशक प्रेमकुमार कंसारा ने कार्यक्रम की जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर कम लागत में किराना व्यवसाय को शुरू कर सकते है।
उन्होंने कहा कि कम खेती वाले किसान कृषि कार्य के साथ साथ पशुपालन व अन्य छोटे-छोटे आयजनक कार्य भी करें तभी खेती पर निर्भरता कम होगी तथा आय बढ़ेगी। इस अवसर पर 21 प्रशिक्षणार्थियो को किराणा व्यवसाय प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए। प्रशिक्षण कार्यक्रम समन्वयक डॉ. अनीता बोराना ने आभार व्यक्त किया। संचालन गिरवर आमेटा ने किया। इस अवसर पर ओम प्रकाश, अनिल आंजना आदि उपस्थित रहे।

सभापति के साथ ट्रेन के सैकंड क्लास में हुई थी लूट और मारपीट
=======================================
आग से आशियाना हुआ खाक
पुलिस पहुंची मौके पर
शॉर्ट सर्किट से लगी आग
पानमोड़ी. रठांजना थाना क्षेत्र के रतनियाखेड़ी गांव में प्रेमचन्द्र मीणा के घर में शॉर्ट सर्किट से बुधवार को आग लगने से पूरा घर खाक हो गया। घर में स्थित घरेलू सामग्री जलकर खाक हो गई। आग की लपटें दूर-दूर तक उठ रही थी। सूचना पर दमकल मंगवाई गई। जब तक दमकल मौके पर पहुंचती। घर जलकर खाक हो गया।प्रेमचंद्र के पुत्र ने बताया कि घर में रखे गेहंू, ढाई किलो चांदी के आभूषण, खाद, बीज, 30 हजार रुपए नकद सहित घर में सारी सामग्री जलकर खाक हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि घर के पीछे मवेशी बंधे हुए थे। जिन्हें रस्सी से खोल कर बाहर लाया गया। आग इतनी अधिक थी कि लोहे के चद्दर भी मुड़ गए। घर में खाद्य सामग्री, कपडे सहित अन्य जरूरी सामग्री जल कर खाक हो गई।

पेड़ हुआ कोयले में तब्दील
घर के आंगन में एक पेड़ था। जो आग से भी कोयले में तब्दील हो गया। साइकिल, पलंग के साथ मवेशी के खांखला, चारा आदि भी जल गए।
बाल-बाल बचे मासूम
घर में आग लगने से एकाएक सभी चौंक गए। आग बुझाने का जतन करने लगे। घर में सो रहे दो मासूमों को ग्रामीणों की मदद से बाहर निकाला गया।
ग्रामीण पहुंचे मदद को
आग लगने के बाद जहां एक तरफ लपटें उठ रही थी। जिसे देखकर पास में स्थित पानमोड़ी गांव से कई ग्रामीण पहुंच गए। पानी के टेंकर भी आने लगे। इतने समय में घर जलकर खाक हो गया। रठांजना थाने से पुलिस भी मौके पर पहुंची। पटवारी कुलदीपसिंह ने मौका पर्चा बनाया।

बोर्ड परिणाम में प्रतापगढ़ को लगा झटका, आखिर कैसे और क्यों लगा देखे...

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned