कांठल में बढऩे लगा रक्तदान के प्रति रुझान

कांठल में बढऩे लगा रक्तदान के प्रति रुझान
pratapgarh

Rakesh kumar Verma | Updated: 14 Jun 2019, 11:46:52 AM (IST) Pratapgarh, Pratapgarh, Rajasthan, India


प्रति वर्ष बढ़ रहे रक्तदाता
विभिन्न संगठनों की ओर से जिलेभर में लगाए जा रहे शिविर


प्रति वर्ष बढ़ रहे रक्तदाता
विभिन्न संगठनों की ओर से जिलेभर में लगाए जा रहे शिविर
प्रतापगढ़.
कांठल में अब रक्तदान को लेकर लोगों में रुझान बढऩे लगा है। गत वर्षों में प्रति वर्ष रक्त्दाताओं की संख्या बढ़ती जा रही है।जिले के अस्पतालों में लोगों को जरुरत के समय रक्त उपलब्ध होने लगा है।हालांकि अभी कई बार रक्त के लिए काफी मशक्कत करनी होती है। लेकिन सोशल मीडिया की मदद से जरुरतमंदों को रक्त मिल रहा है। कुष वर्ष पहले जरुरतमंद लोगों को रक्त के अभाव में काफी परेशानी उठानी पड़ती थी। समय बीतने के साथ अब धीरे-धीरे लोगों में जागरुकता आ रही है और रक्तदान का महत्व समझने लगे हैं। ऐसे में जिले में रक्तदान करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिसके चलते अब जरुरतमंद लोगों को आसानी से रक्त मिल जाता है और उनकी जान बच जाती है।
यह है ब्लड बैंक की स्थिति
जिला चिकित्सालय में ब्लड बैंक है।वर्ष १९९६ में जिला चिकित्सालय में ब्लड बैंक की स्थापना हुई। इसके शुरुआती दिनों में जागरुकता के अभाव में लोग स्वैच्छिक रक्तदान में रुचि नहीं दिखाते थे। ऐसे में ब्लड बैंक में हमेशा रक्त की कमी बनी रहती थी। समय बीतने के साथ लोगों में जागरुकता आती गई और लोग स्वैच्छिक रक्तदान करने लगे। गत पांच वर्ष में १२ हजार ८०४ यूनिट का रक्तदान हुआ है।जिसमें कुल १२६ शिविर लगाए गए। इनके माध्यम से ४९९३ यूनिट संग्रहित की गई।
इस वर्ष लगाए १३ शिविर
जिले में इस वर्ष अब तक कुल १३ शिविर लगाए है।जिसमें ५८३ यूनिट रक्त का संग्रह किया गया है। इसमें महिलाओं की संख्या ९ रही है।
इन मरीजों को काफी मदद
जिले में वर्तमान में १६ मरीज थैलेसीमियां के हैं। जिन्हें हर माह रक्त की जरुरत पड़ती है। वहीं २ मरीज एब्लाप्सी एनिमिया के हैं। जिनके शरीर में खून बनता ही नहीं है। ये मरीज पूरी तरह से रक्तदान से मिले रक्त पर ही निर्भर रहते हैं। ऐसे में लोगों की ओर से किया गया रक्तदान ही इन्हें जीवन देता है।
इस वर्ष की स्थिति
माह शिविर यूनिट
जनवरी १ ४९
फरवरी २ १५६
मार्च २ १६२
अप्रेल ०
मई ५ १३६
जून ३ ८०

सबसे पुनित कार्य
रक्तदान आज सबसे पुनित कार्य है। रक्तदान द्वारा किसी की जान बचाई जा सकती है। जिले में पहले रक्तदान को लेकर काफी भ्रांतियां थी। जिसे दूर किया जा रहा है। वहीं लोगों में भी रक्तदान को लेकर उत्साह देखा जा सकता है। इसी कारण कई संगठन अब आगे आ रहे है।
डॉ. ओपी दायमा
ब्लड बैंक प्रभारी, जिला चिकित्सालय प्रतापगढ़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned