कच्ची बस्ती के लोगों के बुलावे पर आए जनजाति मंत्री

-कच्ची बस्ती में लोगों से मिले मंत्री नंदलाल-कच्ची बस्ती में लोगों से मिले मंत्री नंदलाल

By: Rakesh Verma

Published: 12 Nov 2017, 10:36 AM IST


-लोगों ने कच्ची बस्ती खाली नहीं करने की कहीं बात
प्रतापगढ़. शहर की बगवास कच्ची बस्ती में शनिवार को जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री नंदलाल मीणा ने दौरा कर अभाव अभियोग सुनें। कच्ची बस्ती के लोगों के बुलावे पर मंत्री प्रतापगढ़ पहुंच कर कच्ची बस्ती के लोगों की समस्याएं सुनी। जिसमें लोगों ने मंत्री को बताया कि वे करीब 30 वर्षों से इस बस्ती में रह रहे हैं। वहीं यह जगह छोडकऱ दूसरे बने आवास में नहीं जाना चाहते हैं। उन्हें उसी स्थान पर पट्टे दिए जाने की बात मंत्री से लोगों ने कहीं।
मंत्री ने कहा बनाओ कमेटी
कच्ची बस्ती के लोगों की समस्याएं सुनते हुए कहा कि 5 लोगों की कमेटी बनाओ। जिसमें 15 साल पहले निवासरत लोगों की एक लिस्ट व उसके बाद निवासरत लोगों की एक लिस्ट अलग बनाओ। जिसके बाद 15 दिन में बैठक कर लिस्ट लेकर निस्तारण करेंगे।
यह है मामला
कच्ची बस्ती के निवासी यह चाहते है कि उन्हें कच्ची बस्ती में ही पट्टेे दिए जाएं। जब की सरकार की ओर से कच्ची बस्ती हटाकर कच्ची बस्ती के लोगों को आवास उपलब्ध करवा रही है। उसी क्रम में नगर परिषद की ओर से धरियावद रोड़ स्थित आवास बनाए गए हैं, जहां कच्ची बस्ती में 15 अगस्त 2009 से पहले के रहवासियों को 15 प्रतिशत की राशि पर मकान उपलब्ध करवाए जाएंगे। वहीं 15 अगस्त के बाद वाले लोगों को किराए पर फ्लेट उपलब्ध करवाया जाएगा। जिसमें कच्ची बस्ती के लोगों का कहना है कि फ्लेट बहुत छोटे हैं, वहीं हमारा परिवार बड़ा हैं। जिसके कारण हम वहा नहीं रह पाएंगे।
::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::


प्रशासन ने की छापेमारी, चिकित्सक हुए भूमिगत
चिकित्सकों की हड़ताल जारी
दो रेजिडेंस चिकित्सक भी गए
लडखड़़ाने लगी व्यवस्था
प्रतापगढ़.
सेवारत चिकित्सकों की हड़ताल के कारण व्यवस्था प्रभावित हो रही है। वहीं सरकार भी सख्त हो गई है। सरकार के निर्देश पर प्रशासन की ओर से चिकित्सकों को ढूृंढने के लिए पुलिस दल दो दिन से छापेमारी कार्रवाई की जा रही है। वहीं जिला चिकित्सालय में उदयपुर से लगाए गए आधा दर्जन चिकित्सकों में से दो रेजिडेंस चिकित्सक भी बिना बताए चले गए। ऐसे में रोगियों को समुचित उपचार नहीं मिल पा रहा है।
चिकित्सकों की हड़ताल के कारण जिला चिकित्सालय में चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई है। प्रशासन की ओर से उदयपुर मेडिकल कॉलेज से आधा दर्जन चिकित्सकों को लगाया गया था। इनमें से दो रेजिडेंट चिकित्सकों ने शनिवार सुबह सेवा देने के बाद चले गए है। वहीं जिला चिकित्सालय समेत जिले के प्रमुख चिकित्सा केन्द्रों पर आयुर्वेद चिकित्सकों की मांग पर आयुर्वेदिक दवाइयां पहुंचा दी गई हैं। व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने के लिए अतिरिक्त जिला कलक्टर हेमेन्द्र नागर सुबह पहुंचे। उन्होंने पीएमओ डॉ. ओ.पी. दायमा से वस्तुस्थिति की जानकारी ली। इसके साथ ही व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद करने के निर्देश दिए। सभी वार्डों में पहुंचकर जायजा लिया।

जनाना वार्ड में प्रथम ग्रेड नर्स की नियुक्ति
जिला चिकित्सालय के जनाना वार्ड में व्यवस्थाओं को सुचारू करने के लिए अतिरिक्त चिकित्साकर्मी लगाए गए हैं। इसके तहत चार प्रथम ग्रेड नर्स को अतिरिक्त लगाया गया है। जो 24 घंटों के लिए राउंड पर सेवाएं दे रही हैं।

जिला चिकित्सालय में यह है स्थिति
जिला चिकित्सालय में जहां 13 आयुष व आयुर्वेदिक चिकित्सकों को लगाया गया है। वहीं उदयपुर से आए 6 चिकित्सकों में से दो रेजिडेंट चिकित्सक चले गए हैं। वहीं पीपीपी मोड पर एक चिकित्सक कार्यरत है। इसके साथ ही यहां मेडिकल और पोस्टमार्टम की भी व्यवस्था की गई है। यूनानी चिकित्सक को भी आउटडोर में सेवाएं देने के लिए निर्देश दिए है।

पहुंचाई आयुर्वेद दवाइयां
जिला चिकित्सालय समेत जिले के चिकित्सालयों में आयुर्वेदिक चिकित्सकों की मांग पर आयुर्वेद दवाइयां पहुंचाई गई है। जिससे चिकित्सा संस्थानों पर पहुंचने वाले रोगियों को उपचार की सुविधा मिल सके।

नहीं आए कोई चिकित्सक
सरकारी चिकित्सकों की हड़ताल के कारण उपाचर की सुविधा के लिए दैनिक वेतन के आधार पर डॉक्टर नियुक्त करने के निर्देश जिला प्रशासन को मिले हैं। इस संबंध में जिला प्रशासन ने भी इसके लिए प्रयास किए। लेकिन कोई भी निजी चिकित्सक, सेवानिवृत्त चिकित्सक इसके लिए तैयार नहीं हुए है।

व्यवस्थाओं के प्रयास
जिला चिकित्सालय समेत जिले के चिकित्सा संस्थानों में चिकित्सा सुविधाओं के माकूल इंतजाम के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। सभी संस्थानों पर आयुर्वेद चिकित्सालयों में पहुंचा दी गई है। हड़ताल पर गए चिकित्सकों को ढूंढने के लिए पुलिस टीम बनाकर छापेमारी कार्रवाई की जा रही है। अब तक कोई हाथ नहीं आया है।
हेमेन्द्र नागर
अतिरिक्त जिला कलक्टर, प्रतापगढ़

::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned