अज्ञात चोरों ने मंदिर से चुराए आभूषण

-ग्रामीणों ने की धार्मिक स्थलों पर रात्रि गश्त बढाने की मांग

By: Rakesh Verma

Published: 13 Mar 2018, 10:49 AM IST

धरियावद. नगर के कुम्हारवाडा स्थित नारसिंह माता मंदिर में बीती रात्रि अज्ञात चोरों ने मंदिर में माता प्रतिमा पर 2 बडे रजत छत्र, 2 वजनी रजत पायल, मुकूट, चेन सहित करीब एक लाख रूपये के आभूषणों पर हाथ साफ कर दिया। चोरों ने मंदिर के गर्भगृह के मुख्य गेट का ताला तोडकर मंदिर के अंदर प्रवेश कर वारदात को अंजाम दिया। वारदात का पता सोमवार सुबह ग्रामीणों के मंदिर पहुंचनें पर मंदिर के दरवाजे खुले एवं टूटे होने पर चला। मंदिर परिसर में चोरी के बाद मोहल्लेवासियों ने धार्मिक स्थल पर हुई चोरी पर रोष जताते हुए पुलिस से धार्मिक स्थलों के आसपास रात्रिकालीन गश्त बढाने तथा संदिग्धों पर कार्यवाही कर वारदात का खुलासा करने की मांग की। हैडकास्टेल भगवानलाल मीणा ने बताया कि सुबह ग्रामीणों से नारसिंह माता मंदिर में चोरी की सूचना मिली। जिसपर सीआई डुंगरसिंह चुंडावत सहित पुलिस मौके पर पहुंची तथा मंदिर का मौका मुआवना किया। इस दौरान पुलिस को मंदिर परिसर के पिछले भाग पर चोरों के छोड़े गए धारदार हथियार कुंदाली पडी मिली। पुलिस ने मंदिर परिसर के आसपास के स्थलों का मुआवना भी किया तथा घटनाक्रम की जानकारी ली। मंदिर कमेटी अध्यक्ष तेजमल कीर की ओर से धरियावद थाने में चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई। वारदात के बाद पुलिस ने चोरों की खोजबीन तेज कर दी। मोहल्लेवासियों एवं ग्रामीणों के अनुसार चोरों ने मंदिर के मुख्यद्वार के पास दीवार से चिपकी हुई रखी दानपेटिका को उखाडने के लिए दीवार को तोडने एवं अंदर घुसने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली। जिसकेे बाद मंदिर के गेट पर लगे कुंडें को तोडकर मंदिर के अंदर प्रवेश किया। कुम्हारवाडा के नरसिंहमाता मंदिर में चोरी से पूर्व चोरो ने मंदिर से कुछ मीटर दूर स्थित वाराह भगवान मंदिर में चोरी की वारदात करने के मकसद से घुसने का प्रयास किया, लेकिन वाराह मंदिर के आसपास के कुछ ग्रामीणों के जाग जाने से चोर वहां से भाग छुटे और जाते जाते नारसिंहमाता मंदिर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया।
============================================================
घर-घर जाकर पिलाई पोलियो की दवाई
-पल्स पोलियो उन्मूलन अभियान का दूसरा दिन
प्रतापगढ. जिले में पल्स पोलियो उन्मूलन अभियान के दौरान सोमवार को घर-घर जाकर पोलियो की दवाई पिलाई गई। जिले में कुल एक लाख 47 हजार 416 से ज्यादा बच्चों को दवाई पिलाने का लक्ष्य रखा है। जिनमें से अभियान के पहले दिन रविवार को पांचों उपखण्डों में विभिन्न स्थानों पर पोलियो बूथ लगाकर 93 हजार 534 नौनिहालों को पोलियो की दवाई पिलाई गई थी। जबकि पोलियो की दवा पीने से छूट गए बच्चों को अब घर-घर जाकर दवाई पिलाई जा रही है।
जुटाई जानकारी, पिलाई दवाई
अभियान के दूसरे दिन चिकित्साकर्मी घर-घर जाकर कुछ इसी तरह से पूछते नजर आए। उन्होंने हर घर में जाकर छोटे बच्चे के बारे में जानकारी जुटाई और 5 वर्ष का बच्चा होने पर पोलियो की खुराक पिलाकर घर के बाहर निशान लगाया। इस दौरान घरों में आए मेहमानों के बच्चों को भी दवाई पिलाई गई।
अधिकारी लेते रहे जायजा
अभियान के दूसरे दिन भी अधिकारियों ने पूरी सतर्कता बरती और स्थिति का जायजा लेते रहे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओ पी बैरवा, सहित विभिन्न ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारियों, चिकित्सा केन्द्र प्रभारियों ने स्थिति का जायजा लिया।
कच्ची बस्तियों में पहुंचे स्वास्थ्यकर्मी
पोलियो अभियान के दौरान सोमवार को स्वास्थ्यकर्मियों ने कच्ची बस्तियों का रुख कर छोटे बच्चों को पोलियो की दवाई पिलाई। स्वास्थ्यकर्मियों ने बताया कि कच्ची बस्तियों के लोग जागरुकता के अभाव में पोलियो बूथों पर कम संख्या में बच्चों को दवाई पिलाने आते हैं ऐसे में अभियान के दूसरे व तीसरे दिन ऐसी बस्तियों में जाकर बच्चों को पोलियो पिलाने पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
आज भी पिलाई जाएगी दवाई
अभियान के तहत दो दिनों में जो बच्चे दवाई पीने से छूट गए हैं उन्हें मंगलवार को दवाई पिलाई जाएगी। ताकि शत-प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति हो सके और कोई भी बच्चे पोलियो की खुराक पीने से वंचित नहीं रहें।

Rakesh Verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned